फायदे की बजाए नुकसान पहुंचा सकती है जरूरत से ज्यादा हल्दी, हम बता रहें कैसे

स्वास्थ्य लाभों से भरपूर हल्दी की अति सेहत के लिए हो सकती है नुकसानदेह। तो चलिए जानते हैं ज्यादा हल्दी के सेवन से होने वाले स्वास्थ्य जोखिम।

Haldi ke fayde
हल्दी आपका घाव भरने में मदद कर सकती है। चित्र : शटरस्टॉक
अंजलि कुमारी Published on: 12 August 2022, 15:52 pm IST
  • 143

सालों से औषधीय गुणों से भरपूर हल्दी का प्रयोग विभिन्न स्वास्थ्य समस्याओं के उपचार के रूप में प्रयोग होता चला रहा है। इसका इस्तेमाल कई तरह के व्यंजनों में फ्लेवर ऐड करने के लिए किया जाता है। वहीं हल्दी का दूध, हल्दी का पानी और हल्दी के काढ़े जैसी ड्रिंक्स को इम्यूनिटी बूस्ट करने के लिए लिया जाता है। इसके स्वास्थ्य लाभ की चर्चा तो हम हमेशा ही सुनते हैं, परंतु कभी-कभी हल्दी का अधिक सेवन स्वास्थ्य जोखिमों (too much turmeric side effects) का भी कारण बन सकता है।

इस सुपर फूड में मौजूद कंपाउंड्स जैसे कि एंटीऑक्सीडेंट और एंटी इन्फ्लेमेटरी प्रॉपर्टी बीमारियों को पैदा करने वाले फ्री रेडिकल्स से लड़ने में मदद करती है। हालांकि, यह तो आप सभी को पता होगा कि किसी भी चीज की अति आपके लिए नुकसानदेह हो सकती है। ठीक यही बात हल्दी पर भी लागू होती है। यदि आप बिना जानकारी के हल्दी के पानी का सेवन करती हैं, तो यह आपके पाचन क्रिया को असंतुलित करने के साथ ही आपके स्किन से जुड़ी समस्याओं का भी कारण बन सकता है। तो चलिए जानते हैं, किस तरह हल्दी के पानी का अधिक सेवन सेहत के लिए नुकसानदेह हो सकता है।

यहां जानें हल्दी की अति सेहत के लिए कैसे होती है नुकसानदेह (Side effects of too much haldi)

Baar baar pet kharab hona bigadti immunity ka sanket hai
ज्यादा हल्दी का सेवन आपके पेट के सूजन का कारण हो सकती हैं। चित्र: शटरस्‍टॉक

1. पेट से जुड़ी समस्या

ज्यादा हल्दी का सेवन आपके पेट के सूजन का कारण हो सकती हैं। वहीं नेशनल लाइब्रेरी ऑफ़ मेडिसिन द्वारा प्रकाशित एक अध्ययन देखा गया कि अधिक मात्रा में हल्दी के सेवन से पेट दर्द और क्रेम्पस जैसी समस्याएं होने की संभावना बढ़ जाती है। इतना ही नहीं ब्लोटिंग और एसिड रिफ्लक्स जैसी समस्याएं भी देखने को मिलती हैं। इसलिए एक निर्धारित मात्रा में ही हल्दी का सेवन करें।

2. हो सकती है किडनी स्टोन की समस्या

हल्दी में ऑक्सालेट मौजूद होता है जो कि किडनी स्टोन की संभावना को बढ़ा देता है। इनसोल्युबल कैल्शियम ऑक्सलेट में कैल्शियम को वाइंड कर देता है। जो कि किडनी स्टोन होने का एक प्राथमिक कारण हो सकता है।

पित्‍त दोष में स्किन पर एलर्जी जैसे लक्षण दिख सकते हैं। चित्र : शटरस्टॉक
अधिक मात्रा में हल्दी का सेवन स्किन रैशेज का कारण बन सकता है चित्र : शटरस्टॉक

3. स्किन रैशेज होने का खतरा

पब मेड सेंट्रल द्वारा प्रकाशित एक डेटा के अनुसार अधिक मात्रा में हल्दी का सेवन स्किन रैशेज का कारण बन सकता है। हालांकि, ऐसी स्थिति काफी रेयर होती है।

4. सिर दर्द और बेचैनी

पब मेड सेंट्रल के अनुसार खाद्य पदार्थ में ज्यादा हल्दी लेने से सिरदर्द और बेचैनी महसूस कर सकती हैं। हालांकि, कई लोग ऐसे भी थें जिनमें ऐसे कोई लक्षण नहीं दिखाई दिये। परंतु किए गए अध्ययन के अनुसार बहुत से लोग ऐसे थे जिन्होंने हल्दी के अधिक सेवन से सिर दर्द और बेचैनी महसूस किया।

5. एलर्जिक रिएक्शन होने का खतरा

हल्दी में मौजूद कुछ कंपाउंड्स एलर्जिक रिएक्शन, सांस लेने में तकलीफ और स्किन आउटब्रेक का कारण बन सकती है। सेहत के लिए महत्वपूर्ण होने के साथ ही अधिक मात्रा में इसका सेवन कई स्वास्थ्य जोखिमों का कारण भी हो सकता है। इसलिए हल्दी के सेवन को सीमित रखने का प्रयास करें।

यह भी पढ़े – हमेशा सुस्त और थकान महसूस करती हैं, तो इन 5 फूड्स को तुरंत कर दीजिए अपनी डाइट से बाहर

  • 143
लेखक के बारे में
अंजलि कुमारी अंजलि कुमारी

इंद्रप्रस्थ यूनिवर्सिटी- नई दिल्ली में जर्नलिज़्म की छात्रा अंजलि फूड, ब्लॉगिंग, ट्रैवल और आध्यात्मिक किताबों में रुचि रखती हैं।

पीरियड ट्रैकर

अपनी माहवारी को ट्रैक करें हेल्थशॉट्स, पीरियड ट्रैकर
के साथ।

ट्रैक करें
nextstory