वैलनेस
स्टोर

मोटापे के साथ-साथ ये 4 गंभीर समस्याएं भी दे सकती है खराब नींद, जानिए क्‍यों जरूरी है हर रोज अच्‍छी नींद लेना

Published on:19 March 2021, 14:34pm IST
आप अपने अधूरे काम निपटाने के लिए अगर नींद के घंटों में लगातार कटौती कर रहीं हैं, तो संभल जाइए। क्‍योंकि अधूरी या खराब नींद आपकी शेप और सेहत दोनों बिगाड़ सकती है।
विनीत
  • 81 Likes
जानिए पर्याप्त नींद लेना क्यों जरूरी है। चित्र-शटरस्टॉक।

नींद हर व्यक्ति के लिए महत्वपूर्ण है। हम उचित नींद के बिना एक दिन भी नहीं रह सकते। आपने अक्सर नोटिस किया होगा, जिस दिन आप अच्छी नींद नहीं लेती हैं, उस दिन आपका शरीर आपको कष्ट देने लगता है, और आपको दिन भर थकावट महसूस करवाता है।

रात में अच्‍छी नींद आपके स्वास्थ्य के लिए अविश्वसनीय रूप से महत्वपूर्ण है। वास्तव में, यह उतना ही महत्वपूर्ण है जितना कि स्वस्थ खानपान और व्यायाम करना। दुर्भाग्य से, बहुत सी चीजें हैं जो प्राकृतिक नींद पैटर्न में हस्तक्षेप कर सकती हैं।

आजकल की व्यस्त और भागदौड़ भरी जिंदगी में, लोग अब पहले की तुलना में कम सो रहे हैं, और नींद की गुणवत्ता में भी कमी देखने को मिल रही है। लेकिन एक अच्छी नींद लेना बहुत जरूरी है। विशेष रूप से आपके मानसिक स्वास्थ्य के लिए। क्योंकि जब आप पर्याप्त नींद नहीं लेते हैं, तो यह आपके शारीरिक स्वास्थ्य के साथ ही मानसिक स्वास्थ्य को भी प्रभावित करता है।

यहां हम आपको बता रहे हैं कि आपको अच्छे स्वास्थ्य और मानसिक स्वास्थ्य की बेहतरी के लिए अच्छी नींद लेना क्यों जरूरी है।

  1. खराब नींद शरीर के उच्च वजन से जुड़ी होती है

कम अवधि के लिए नींद लेने वाले लोग, पर्याप्त नींद लेने वालों की तुलना में काफी अधिक वजन बढ़ाते हैं। संक्षेप में कहें,  तो कम अवधि वाली नींद, मोटापे के लिए सबसे मजबूत जोखिम कारकों में से एक है।

यह भी पढें: क्या आपका पिछला गर्भपात, भविष्य में आपकी गर्भावस्था को प्रभावित कर सकता है? जानिए क्या कहते हैं एक्सपर्ट

एक व्यापक समीक्षा अध्ययन में, कम नींद लेने वाले बच्चों और वयस्कों में क्रमशः मोटापा विकसित होने की संभावना 89% और 55% अधिक थी।

आपका वजन बढ़ सकता है। चित्र-शटरस्टॉक
  1. अच्छी नींद एकाग्रता और उत्पादकता में सुधार कर सकती है

मस्तिष्क के कामकाज के विभिन्न पहलुओं के लिए नींद महत्वपूर्ण है। इसमें अनुभूति, एकाग्रता, उत्पादकता और प्रदर्शन शामिल हैं। ये सभी नींद की कमी से नकारात्मक रूप से प्रभावित होते हैं।

मेडिकल इंटर्न पर किया गया एक अध्ययन इसका एक अच्छा उदाहरण प्रदान करता है। जिसमें 24 घंटे से अधिक के काम के घंटे के साथ एक पारंपरिक समय पर इंटर्न ने 36% से अधिक गंभीर चिकित्सा त्रुटियों को एक अनुसूची पर रखा जिससे कि अधिक नींद की अनुमति मिली।

एक अन्य अध्ययन में पाया गया है कि कम नींद मस्तिष्क के कामकाज के कुछ पहलुओं को शराब के नशे के समान हद तक नकारात्मक रूप से प्रभावित कर सकती है।

  1. खराब नींद से हृदय रोग और स्ट्रोक का जोखिम बढ़ता है

कई स्वास्थ्य जोखिम कारकों पर नींद की गुणवत्ता और अवधि का एक बड़ा प्रभाव हो सकता है। इन कारकों को हृदय रोग सहित पुरानी बीमारियों को ड्राइव करने के लिए माना जाता है।

15 अध्ययनों की समीक्षा में पाया गया कि जिन लोगों को पर्याप्त नींद नहीं मिलती है, उन्हें उन लोगों की तुलना में हृदय रोग या स्ट्रोक का अधिक खतरा होता है, जो हर रोज रात 7 से 8 घंटे सोते हैं।

  1. नींद मेटाबॉलिज्‍म और ब्‍लड शुगर को प्रभावित करती है 

नींद पर प्रायोगिक प्रतिबंध ब्लड शुगर को प्रभावित करता है और इंसुलिन संवेदनशीलता को कम करता है। स्वस्थ युवा पुरुषों पर किए एक अध्ययन में, लगातार 6 रातों के लिए हर रोज रात 4 घंटे की नींद को प्रतिबंधित करना पूर्व-मधुमेह के लक्षण का कारण बना। इन लक्षणों को नींद की अवधि में वृद्धि के एक सप्ताह के बाद हल किया गया।

खराब नींद की आदतें सामान्य लोगों में ब्लड शुगर पर प्रतिकूल प्रभाव के लिए भी जिम्‍मेदार हैं। हर रोज रात 6 घंटे से कम सोने वालों लोगों में बार-बार टाइप 2 डायबिटीज का खतरा बढ़ जाता है।

डायबिटीज के रोगियों के लिए भी है फायदेमंद। चित्र: शटरस्‍टॉक
कम नींद लेने वाले लोगों में डायबिटीज का अधिक जोखिम होता है। चित्र: शटरस्‍टॉक
  1. खराब नींद अवसाद से जुड़ी है

मानसिक स्वास्थ्य समस्याएं, जैसे अवसाद, तनाव और अन्‍य समस्‍याएं नींद की गुणवत्ता और नींद के विकार से जुड़ी हुई हैं। यह अनुमान लगाया गया है कि 90%  अवसाद से पीड़ित लोग नींद की गुणवत्ता को लेकर शिकायत करते हैं।

यहां तक कि खराब नींद आत्महत्या जैसे, मौत के बढ़ते खतरे से जुड़ी हैं। अनिद्रा या ऑब्सट्रक्टिव स्लीप एपनिया (obstructive sleep apnea) जैसी नींद के विकार वाले लोग भी बिना अवसाद की उच्च दर की रिपोर्ट करते हैं।

यह भी पढें: गैस्ट्रिक और अपच जैसी समस्याओं के लिए दवा करके थक गईं हैं, तो ट्राय करें योग के ये 5 आसन

विनीत विनीत

अपने प्यार में हूं। खाने-पीने,घूमने-फिरने का शौकीन। अगर टाइम है तो बस वर्कआउट के लिए।