वैलनेस
स्टोर

नाखून चबाने की आपकी आदत बन सकती है इन 6 समस्याओं का कारण, जानिए कैसे

Published on:24 March 2021, 10:30am IST
नाखून चबाना न सिर्फ आप में आत्‍मविश्‍वास की कमी दर्शाता है, बल्कि यह आपके चेहरे पर ब्रेकआउट का कारण भी बन सकता है।
विनीत
  • 84 Likes
नाखून चबाना आपके स्वास्थ्य के लिए नुकसानदेह है। चित्र-शटरस्टॉक।

कुछ लोगों को नाखून चबाने की आदत होती हैं, जब वे चिंतित, उबाऊ महसूस करते हैं या उन्‍हें अपने हाथों को व्यस्त रखने की आवश्यकता होती है। वास्तव में, अध्ययन से पता चलता है कि दुनिया की 30% आबादी ऐसा करने की कोशिश करती है। दुर्भाग्य से, एक ऐसा समय भी आता है जब नाखून चबाने की यह आदत आपके स्‍वास्‍थ्‍य को प्रभावित करने लगती है। 

यदि आप अभी भी अक्सर अपने नाखूनों को चबाती हैं, तो यह इस आदत को खत्म करने का सबसे अच्छा समय हो सकता है। हमने इस विषय पर कई शोधों को खंगाला और इस बारे में विवरण प्राप्त किया कि हमें नेल-बाइटिंग (nail-biting) की आदत क्‍यों छोड़ देनी चाहिए। 

यहां जानिए नाखून चबाने के दुष्प्रभाव

  1. यह हमारे दांतों को नुकसान पहुंचा सकता है

विशेषज्ञ बताते हैं, कि आपके दांत आपके नाखूनों की तुलना में बहुत सख्त हो सकते हैं, लेकिन नाखून काटने से आपके दांतों और यहां तक ​​कि आपके मसूड़ों को भी नुकसान पहुंच सकता है।

दांतों के बीच बार-बार नाखूनों को पीसने से दांत चटक या टूट सकते हैं। इससे आपके दांतों के ढीले होने और बाहर गिरने का खतरा भी बढ़ सकता है।

दांत में दर्द या सड़न कैल्शियम की कमी का संकेत भी हो सकता है। चित्र: शटरस्टॉक।
  1. यह सांस की बदबू का कारण बन सकता है

हमारे नाखूनों से सभी कीटाणुओं और गंदगी को निकालना लगभग असंभव है, भले ही हम अपने हाथों को बार-बार धोते हों। इसका मतलब यह है कि जब हम नाखून चबाते हैं, तो हमारे नाखूनों के नीचे छिपे बैक्टीरिया हमारे मुंह तक आसानी से पहुंच जाते हैं।

यह भी पढें: कोविड वैक्‍सीन लेने के बावजूद कोरोना पॉजिटिव हो रहे हैं लोग, जानिए क्‍या है इस पर विशेषज्ञों की राय

ये बैक्टीरिया हमारे मुंह में रह सकते हैं और बढ़ सकते हैं, जिससे मसूड़ों की बीमारी हो सकती है। इससे मुंह से दुर्गंध या सांस में दुर्गंध आती है।

  1. यह दस्त का कारण बन सकता है

हमारे मुंह में रहने वाले बैक्टीरिया काफी खराब होते हैं, लेकिन हमें बार-बार नाखून चबाने से प्राप्त होने वाले कीटाणु आखिरकार हमारी आंत में अपना रास्ता बना सकते हैं।

इन कीटाणुओं से गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल संक्रमण हो सकता है जिसके परिणामस्वरूप पेट में दर्द और दस्त की समस्या हो सकती है।

  1. यह आपको ठंड लगने के प्रति अधिक प्रवण बना सकता है

विशेषज्ञों के अनुसार, कोई भी गतिविधि जिसमें चेहरे को छूना शामिल है, बीमारी फैलने की हमारी संभावना को बढ़ाता है। अन्य लोग भी अनजाने में अपने नाखून चबा लेते हैं जिसका पता उन्हें बाद में चलता है।

इसका मतलब है कि वे माइक्रोबियल संपर्क के प्रति अधिक प्रवण हैं, जैसा कि सामान्य सर्दी के वायरस के मामलों में होता है।

नाखून चबाने की आदत सर्दी के संक्रमण का कारण बन सकती है। चित्र: शटरस्‍टॉक
  1. यह आपके चेहरे ब्रेकआउट्स का कारण बन सकती है

नाखून चबाने से नाखूनों के आसपास की त्वचा में सूक्ष्म दरारें भी हो सकती हैं, जिससे वायरस प्रवेश कर सकते हैं। नाखूनों को छूने या काटने से, उंगलियों या नाखूनों से चेहरे पर स्थानांतरित किया जा सकता है। इससे चेहरे पर मस्से हो सकते हैं, खासकर होंठों के पास।

  1. इससे क्रोनिक सिरदर्द हो सकता है

विशेषज्ञों की मानें तो, जो लोग अपने नाखूनों को चबाते हैं, उनमें ब्रूक्सिज़्म (bruxism) या अनैच्छिक दांतों को पीसने की संभावना अधिक होती है। ब्रुक्सिज्म (bruxism) वाले लोग जबड़े के दर्द, तंग मांसपेशियों, चेहरे के चारों ओर दर्द और पुराने सिरदर्द का अनुभव कर सकते हैं।

यह भी पढें: सुबह सिर्फ एक गिलास पानी पीने से करें दिन की शुरुआत, आपकी सेहत को मिलेंगे ये 10 लाभ 

विनीत विनीत

अपने प्यार में हूं। खाने-पीने,घूमने-फिरने का शौकीन। अगर टाइम है तो बस वर्कआउट के लिए।