आपकी सांस के लिए जोखिम बढ़ा सकती है शीत लहर, जानिए खुद को कैसे बचाना है

क्या आपको सर्दियों के मौसम में सांस लेने में तकलीफ हो रही है? अगर आप कोविड-19 से संक्रमित नहीं हैं, तो इस समस्या पर ध्यान देना जरूरी है।
सांस फ़ूलने की दिक्कत को न करें इग्नोर । चित्र : शटरस्टॉक
ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ Published on: 22 January 2022, 09:30 am IST
ऐप खोलें

जब आप बाहर कदम रखते हैं तो चेहरे पर ठंडी हवा का तेज झोंका याद दिलाता है कि सर्दी अब भी बहुत ज्यादा है। बर्फीली हवा में सांस लेना अस्थमा, ब्रोंकाइटिस, या क्रॉनिक ऑब्सट्रक्टिव पल्मोनरी डिजीज जैसी सांस की स्थिति वाले लोगों के लिए जोखिम भरा हो सकता है। ठंडा तापमान छाती में जकड़न, खांसी और सांस की तकलीफ जैसे लक्षणों को ट्रिगर कर सकता है।

यदि आप खुद को बिल्कुल स्वस्थ महसूस कर रही हैं और आपको किसी तरह की कोई गंभीर बीमारी नहीं है, तो आपको लग सकता है कि मुझे सांस लेने में तकलीफ क्यों हो रही है। मगर, सर्दियों में स्वस्थ्य लोगों को भी सांस लेने में दिक्कत हो सकती है। इसके कई कारण हो सकते हैं, चलिये पता करते हैं क्या हैं वे –

जानिए सर्दियों में क्यों होती है सांस लेने में तकलीफ

बर्फीली हवा स्वस्थ लोगों के लिए भी नुकसानदायक हो सकती है। यह ऊपरी वायुमार्ग को संकीर्ण कर देती है, जिससे सांस लेने में थोड़ी कठिनाई हो सकती है। सर्दियों में हवा ठंडी और ड्राई होती है।

सांस लेने में तकलीफ अस्थमा का एक आम लक्षण है। चित्र:शटरस्टॉक

हमारे वायुमार्ग में तरल पदार्थ की एक पतली परत होती है, और जब हम शुष्क हवा में सांस लेते हैं तो द्रव सामान्य से अधिक तेजी से खत्म हो जाता है। इससे गला सूख जाता है जिससे जलन और सूजन हो जाती है।

सर्दियों में बलगम का उत्पादन भी बढ़ जाता है, यह गले की सुरक्षात्मक परत होती है। ठंड के मौसम में उत्पन्न होने वाला बलगम सामान्य से अधिक गाढ़ा और चिपचिपा होता है। जो श्वसन तंत्र में रुकावट पैदा कर सकता है और आपको सर्दी या अन्य संक्रमण होने की संभावना भी बढ़ जाती है।

क्लीवलेंड क्लीनिक के अनुसार सर्दियों में आप अपनी सांस की तकलीफ को कम करने के लिए ये उपाय कर सकती हैं

1. शरीर का तापमान नियंत्रित करें

हालांकि यह सच है कि आप मौसम नहीं बदल सकते। मगर आप शरीर के तापमान को ज़रूर नियंत्रित कर सकती हैं। उदाहरण के लिए, ठंड के मौसम में बाहर जाते समय, गर्म कपड़े पहने और अपनी नाक और मुंह को ढकें। तो जब आप सांस लेते हैं तो कवर हवा को गर्म और आर्द्र बनाने में मदद करेगा।”

2. ट्रिगर्स से बचें

तापमान परिवर्तन के अलावा, अन्य पर्यावरणीय ट्रिगर हैं जो सांस लेने को अधिक कठिन बना सकते हैं। यदि आप धूम्रपान करती हैं, तो छोड़ने का प्रयास करें। और अन्य संभावित परेशानियों से बचने की पूरी कोशिश करें, जिनमें शामिल हैं:

अन्य प्रकार का धुआं या स्मॉग
डस्ट एलर्जी
एरोसोल उत्पाद
कीटनाशक
सफाई के उत्पाद
मोल्ड, धूल और फंफूदी।

धूम्रपान करने से आपको सांस की समस्याएं हो सकती हैं. चित्र : शटरस्टॉक

3. स्वस्थ जीवनशैली अपनाएं

एक बार जब आपने हवा की गुणवत्ता में बदलाव के साथ तालमेल बिठाना सीख लिया, तो कुछ चीजें हैं जो आप हर दिन कर सकते हैं जिससे आपको आसानी से सांस लेने में मदद मिल सके:

स्वस्थ आहार बनाए रखें।
नियमित व्यायाम करें
श्वसन संक्रमण को रोकें
तनाव पर नियंत्रण रखें
उचित हाइड्रेशन बनाए रखें, और गर्म मौसम में खूब पानी पिएं।

4. जानिए कब अपने डॉक्टर को दिखाना है

भले ही सर्दियों के मौसम में सांस में तकलीफ होना सामान्य है। फिर भी आपको डॉक्टर से मिलना चाहिए। यदि आपके फेफड़ों में थोड़ी समस्या है तो डॉक्टर से सहायता लें। क्योंकि ज्यादातर मामलों में, सांस की तकलीफ सामान्य नहीं है।

यह भी पढ़ें : पांच साल से छोटे बच्चों को नहीं है मास्क पहनने की जरूरत, स्वास्थ्य मंत्रालय ने जारी की नई कोरोना गाइडलाइंस

लेखक के बारे में
ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ

प्रकृति में गंभीर और ख्‍यालों में आज़ाद। किताबें पढ़ने और कविता लिखने की शौकीन हूं और जीवन के प्रति सकारात्‍मक दृष्टिकोण रखती हूं।

पीरियड ट्रैकर

अपनी माहवारी को ट्रैक करें हेल्थशॉट्स, पीरियड ट्रैकर
के साथ।

ट्रैक करें
Next Story