वैलनेस
स्टोर

बेबी को फीड करवा रहीं हैं, तो जानिए हर रोज कितना प्रोटीन है आपके लिए जरूरी

Updated on: 30 June 2021, 18:31pm IST
गर्भावस्था में ही नहीं, बल्कि प्रसव के बाद भी आपको अपने आहार और स्वास्थ्य पर बहुत ध्यान देना है। खासतौर से प्रोटीन का सेवन अब आपको बढ़ाना होगा।
ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ
  • 82 Likes
माँ के लिए बेहद ज़रूरी है प्रोटीन. चित्र : शटरस्टॉक

एक नवजात शिशु को अपनी पहली खुराक मां के दूध से ही मिलती है। इसलिए हर नई मां और स्तनपान करवाने वाली महिलाओं को अपने आहार के प्रति सदैव सचेत रहना चाहिए। आपके आहार का असर आपके दूध की मात्रा और गुणवत्ता पर भी पड़ता है। जिससे न सिर्फ शिशु की भूख मिटती है, बल्कि उसकी त्वचा, रक्त, मांस – मज्जा समग्र स्वास्थ्य प्रभावित होता है। इसलिए, ज़रूरी है कि मां अपने भोजन में सभी पोषक तत्वों को शामिल करे।

क्या कहते हैं विशेषज्ञ

शिशु एवं बाल रोग विशेषज्ञों का मानना है कि इस समय महिलाओं को अतिरिक्त कैलोरी वाला पौष्टिक आहार लेना चाहिए। जिसमें विटामिन्स, मिनरल्स, कार्ब्स शामिल हों ख़ास तौर से प्रोटीन। प्रोटीन को लंबे समय से मानव आहार में एक महत्वपूर्ण पोषक तत्व माना जाता है। इसलिए यह जरूरी है कि मांएं अपने आहार में प्रोटीन की खुराक का विशेष ध्यान रखें।

तो, प्रोटीन क्या है?

प्रोटीन शरीर के ऊतकों का निर्माण खंड हैं। वे महत्वपूर्ण ऊतकों की मरम्मत और रखरखाव में मदद करते हैं। हड्डियों और मांसपेशियों सहित सभी अंग प्रणालियों के विकास के लिए महत्वपूर्ण हैं। शरीर में प्रोटीन एंजाइम, प्रतिरक्षा अणु, हार्मोन और सेलुलर संदेशवाहक के रूप में भी काम करते हैं। इसलिए प्रोटीन हर शिशु की वृद्धि और विकास के लिए महत्वपूर्ण है।

डिलीवरी के बाद आखिर क्यों इतना ज़रूरी है प्रोटीन

प्रसव के बाद शरीर पहले से ही काफी कमजोर होता है। साथ ही, दूध उत्पादन शरीर पर एक अतिरिक्त भार डालता है। सिर्फ इतना ही नहीं, मां के शरीर में दूध बनना भी प्रोटीन की मात्रा पर ही निर्भर करता है। अगर मां के अंदर प्रोटीन नहीं होगा, तो दूध नहीं बन पाएगा।

दूध पिलाने वाली मांओं को अपने आहार का विशेष ध्‍यान रखना चाहिए। चित्र: शटरस्‍टॉक

बढ़ते हुए शिशु बहुत अधिक प्रोटीन का उपयोग करते हैं। इसलिए आपको उनकी ज़रूरतों को पूरा करने के लिए अतिरिक्त आहार प्रोटीन खाने की आवश्यकता होगी। प्रोटीन कोशिकाओं की वृद्धि, रखरखाव और मरम्मत के लिए महत्वपूर्ण है।

स्तनपान करवाने वाली महिलाओं के कितना प्रोटीन है जरूरी

यूएसडीए आहार दिशानिर्देशों के अनुसार – स्तनपान के लिए आवश्यक औसत प्रोटीन प्रति दिन 54 ग्राम है, लेकिन डिलीवरी के बाद एक मां को प्रति दिन 70 ग्राम या अधिक प्रोटीन की आवश्यकता हो सकती है।

कई स्तनपान कराने वाली माताएं अपने बच्चों को दूध पिलाने में इतनी व्यस्त होती हैं कि वे अपने आहार, ऊर्जा और स्वास्थ्य के बारे में भूल जाती हैं।

सिर्फ प्रोटीन ही नहीं अन्य पोषक तत्व भी हैं ज़रूरी

जबकि स्तनपान कराने के दौरान प्रोटीन आपके आहार के लिए आवश्यक है। यह भी सुनिश्चित करना ज़रूरी है कि अपनी पोषण संबंधी जरूरतों को पूरा करने के लिए आप अन्य खाद्य पदार्थ का भी सेवन करें।

जैसे साबुत अनाज, ताजे फल और सब्जियां, कैल्शियम युक्त खाद्य पदार्थ और स्वस्थ वसा – विशेष रूप से ओमेगा -3 फैटी एसिड। प्रोटीन की खुराक को पूरा करने के लिए आप अंडा, दूध, दही, सूखे मेवे, मांस, मछली आदि ले सकती हैं।

यह भी पढ़ें : डायबिटीज में खतरनाक हो सकती है डिहाइड्रेशन, एक्सपर्ट से जानिए इसे कैसे मैनेज करना है

ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ

प्रकृति में गंभीर और ख्‍यालों में आज़ाद। किताबें पढ़ने और कविता लिखने की शौकीन हूं और जीवन के प्रति सकारात्‍मक दृष्टिकोण रखती हूं।