हाई यूरिक एसिड किडनी, लीवर और दिल के लिए है खतरनाक, ये 6 फूड्स कर सकते हैं इसे कंट्रोल

शरीर में यूरिक एसिड का बढ़ना फैटी लीवर, डायबिटीज के साथ ब्लड प्रेशर जैसे कई अन्य स्वास्थ्य जोखिमों को बढ़ा देता है। एक्सपर्ट यहां बता रहे हैं इसे कंट्रोल करने वाले फूड्स।

High uric acid kidney aur heart health ko bhi nuksan pahuchha sakta hai
हाई यूरिक एसिड किडनी और हार्ट हेल्थ को भी नुकसान पहुंचा सकता है। चित्र: शटरस्टॉक
अंजलि कुमारी Updated on: 7 November 2022, 12:39 pm IST
  • 147

खानपान की गलत आदतों से लेकर आपका लाइफस्टाइल तक शरीर में यूरिक एसिड की मात्रा को बढ़ा देता है। शरीर में बढ़ता यूरिक एसिड का स्तर किसी प्रकार की बीमारी नहीं है, बल्कि यह एक प्रकार का हार्मोनल इंबैलेंस है। कई ऐसे खाद्य पदार्थ है जिसका सेवन शरीर में यूरिक एसिड के स्तर को बढ़ा देता है इसलिए इसे नियंत्रित रखना बहुत जरूरी है। बहुत से लोग इसे लेकर चिंतित रहते हैं। तो चलिए इसका उपाय ढूंढते हैं और एक्सपर्ट से जानते हैं, आखिर किस तरह इस समस्या को नियंत्रित (How to control uric acid naturally) रखा जा सकता है।

यूरिक एसिड बढ़ने से आपका खून एसिडिक हो जाता है और साथ ही इस वजह से कई अन्य स्वास्थ्य जोखिमों की संभावना भी काफी बढ़ जाती है।

पहले जानते हैं आखिर क्या है यूरिक एसिड

फोर्टिस मेमोरियल रिसर्च इंस्टीट्यूट, गुड़गांव में नेफ्रोलॉजी और किडनी प्रत्यारोपण विभाग के निदेशक और सीनियर डॉ. सलिल जैन कहते हैं कि हमारा यूरिन यूरिक एसिड से बना होता है। इसलिए जब हम यूरिन पास करते हैं, तो साथ ही यूरिक एसिड भी शरीर से बाहर निकल जाता है। यूरीन प्रोटीन का एक फॉर्म है जिसके टूटने से यूरिक एसिड (Uric Acid) बनता है।

यह प्रोटीन मीट और मशरूम जैसे खाद्य पदार्थों में अधिक मात्रा में पाया जाता है। वहीं जब शरीर मे अधिक मात्रा में यूरिक एसिड बनने लगता है तो यह ब्लड में शामिल हो जाता है। जिस वजह से शरीर की कोशिकाओं को नुकसान पहुंच सकता है। इसलिए बढ़ती यूरिक एसिड को समय रहते नियंत्रित करना बहुत जरूरी है।

uric acid ke nukshan
आपके स्वास्थ्य के लिए जोखिक बढ़ा सकता है हाई यूरिक एसिड, जानिए इसे कैसे कंट्रोल करना है। चित्र शटरस्टॉक।

इन स्वास्थ्य जोखिमों का कारण बन सकता है बढ़ता यूरिक एसिड (High Uric Acid Problems)

  1. किडनी से जुड़ी समस्या
  2. हड्डी से जुड़ी समस्या और जोड़ों में दर्द
  3. हार्ट से जुड़ी समस्या
  4. ब्लड प्रेशर
  5. डायबिटीज
  6. फैटी लीवर

हेल्थ कोच एवं न्यूट्रीशनिस्ट नेहा रंगलानी ने शरीर में बढ़ते यूरिक एसिड को नियंत्रित रखने के कुछ जरूरी उपाय बताए हैं। तो चलिए जानते हैं, आखिर किस तरह इसे नियंत्रित रखा जा सकता है।

ये 6 फूड्स आपके लिवर को मजबूत बनाकर यूरिक एसिड को कंट्रोल करते हैं (High Uric Acid Prevention)

1. अजवाइन

अजवाइन और अजवाइन का पानी यूरिक एसिड को नियंत्रित रखने का एक प्रभावी उपाय हो सकता है। यदि किसी व्यक्ति यूरिक एसिड बढ़ गया है तो उन्हें नियमित रूप से सुबह उठकर खाली पेट या फिर खाना खाने के आधे घंटे के बाद एक गिलास अजवाइन का पानी पीना चाहिए।

2. हल्दी

हल्दी में एंटीऑक्सीडेंट, करक्यूमिन और पॉलीफेनॉल मौजूद होता है। इसके साथ ही इसकी एंटी इन्फ्लेमेटरी और एंटीबायोटिक प्रॉपर्टी शरीर में यूरिक एसिड की मात्रा को नियंत्रित रखती हैं। इसके साथ ही यह ब्लड प्रेशर को भी संतुलित रखने में मदद करता है।

turmeric smoothie
हल्दी की टेस्टी ड्रिंक आपको रख सकती है सेहतमंद। चित्र: शटरस्‍टॉक

3. नींबू

नींबू का रस शरीर से कैलशियम कार्बोनेट को रिलीज करने में मदद करता है। ऐसे में यह यूरिक एसिड को पानी और अन्य प्रकार के कंपाउंड में तोड़ देता है। जिस वजह से खून में बहुत कम मात्रा में एसिड रह जाते हैं और यह शरीर में यूरिक एसिड के स्तर को भी नियंत्रित रखने में मदद करता है।

4. बेरीज

बेरीज में एंटी इन्फ्लेमेटरी प्रॉपर्टी पाई जाती है। इसी के साथ यह शरीर में बढ़ते यूरिक एसिड की मात्रा को कम करने में मदद करता है। वहीं इसमें मौजूद प्रॉपर्टी जोड़ों के दर्द से राहत पाने में भी आपकी मदद कर सकती हैं।

5. ब्रोकोली

ब्रोकली को शरीर में यूरिक एसिड की मात्रा को संतुलित रखने और इन्फ्लेमेशन को कम करने के लिए जाना जाता है। इसमें पर्याप्त मात्रा में विटामिन सी मौजूद होता है, जो यूरिक एसिड की बढ़ती मात्रा को नियंत्रित रखने के लिए एक आवश्यक पोषक तत्व है।

green tea benefits.
बढ़ते यूरिक एसिड को नियंत्रित रखे ग्रीन टी। चित्र : शटरस्टॉक

6. ग्रीन टी

ग्रीन टी का सेवन यूरिक एसिड को कम करने में मदद करता है। वहीं इसमे मौजूद एंटीऑक्सीडेंट और एंटी इन्फ्लेमेटरी प्रॉपर्टी खून में यूरिक एसिड को बढ़ने से रोकता है।

शरीर में विटामिन सी की पर्याप्त मात्रा बनाए रखें

नेहा रंगलानी के अनुसार यूरिक एसिड को नियंत्रित रखने के लिए शरीर में पर्याप्त मात्रा में विटामिन सी होना जरूरी है। इसके लिए आमला, कीवी, अमरूद, खट्टे फल जैसे कि नारंगी और नींबू के साथ ही हरी, लाल और पीली शिमला मिर्च को अपनी डाइट में शामिल करें। यह सभी विटामिन सी का एक अच्छा स्रोत है। इसके साथ ही इनमें कई ऐसे महत्वपूर्ण पोषक तत्व मौजूद होते हैं, जो आपके शरीर में यूरिक एसिड को नियंत्रित रखने में मदद करता हैं।

आर्टिफिशियल स्वीटनर्स और रिफाइंड शुगर से परहेज रखने की सलाह देती है नेहा रंगलानी

रिफाइंड शुगर, आर्टिफिशियल स्वीटनर और अन्य प्रकार की कैंडी और टॉफी में मौजूद शुगर शरीर में ब्रेकडाउन होकर प्यूरीन रिलीज करता है। जिस वजह से शरीर में यूरिक एसिड का स्तर बढ़ जाता हैं। वहीं हम अपनी नियमित डाइट में कई ऐसे खाद्य पदार्थों का सेवन करते हैं जिनमें प्राकृतिक रूप से शुगर मौजूद होता है। जिसकी अधिकता शरीर में यूरिक एसिड के स्तर को बढ़ा देता है।

वहीं सॉफ्ट ड्रिंक और अन्य प्रकार के रिफाइंड शुगर से युक्त ड्रिंक्स बॉडी पर अन्य खाद्य पदार्थों में मौजूद फ्रुक्टोज की तुलना में जल्दी रिएक्ट करती हैं। रिसर्च की माने तो यह शरीर में जाकर ब्लड शुगर लेवल को ट्रिगर कर देता हैं। वहीं यूरिक एसिड का स्तर भी काफी तेजी से बढ़ता है।

प्यूरीन युक्त खाद्य पदार्थों से परहेज रखें। चित्र शटरस्टॉक।

प्यूरीन युक्त खाद्य पदार्थों से परहेज रखें

बढ़ते यूरिक एसिड को नियंत्रित रखने के लिए न्यूट्रीशनिस्ट शराब, एनिमल प्रोटीन और सीफूड से परहेज रखने की सलाह देती हैं। इसी के साथ नेशनल लाइब्रेरी ऑफ मेडिसिन द्वारा प्रकाशित एक अध्ययन के अनुसार शराब के नियमित सेवन से शरीर में प्यूरीन का प्रोडक्शन बढ़ जाता है जो यूरिक एसिड के स्तर को काफी तेजी से बढ़ता है।

इसके साथ ही खून में भी यूरिक एसिड की मात्रा बढ़ने लगती है, इसलिए शराब के सेवन को सीमित रखने की कोशिश करें। वहीं एनिमल प्रोटीन और सीफूड के सेवन को भी सीमित रखें।

यह भी पढ़ें : आपके वेजाइना को ड्राई बनाकर ऑर्गेज़्म को प्रभावित कर सकती है शराब, जानिए ज्यादा पार्टी करने के नुकसान

  • 147
लेखक के बारे में
अंजलि कुमारी अंजलि कुमारी

इंद्रप्रस्थ यूनिवर्सिटी से जर्नलिज़्म ग्रेजुएट अंजलि फूड, ब्यूटी, हेल्थ और वेलनेस पर लगातार लिख रहीं हैं।

पीरियड ट्रैकर

अपनी माहवारी को ट्रैक करें हेल्थशॉट्स, पीरियड ट्रैकर
के साथ।

ट्रैक करें
nextstory