Tunnel Vision : जानिए क्या है आंखों की ये समस्या जिसमें आप लोगों से टकराने लगते हैं

हमारी स्वस्थ आंखें सिर्फ सामने ही नहीं देखती, बल्कि अपने साइड या समानांतर चीजों को भी वे देख पाती हैं। पर टनल विज़न होने के बाद आपको इन चीज़ों का अंदाजा लगाने में मुश्किल होने लगती है।

kya hai tunnel vision
क्या है टनल विजन और इसके कारण. चित्र : शटरस्टॉक
ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ Published on: 17 September 2022, 12:30 pm IST
  • 144

आजकल आपको हर कोई वेट लॉस, स्किन केयर या हार्ट हेल्थ के बारे में बात करता हुआ दिख जाएगा। ऐसे में जो पीछे छूट जाता है, वो हैं हमारी आखें (Eye Health)। हर तीसरे – चौथे इंसान को आजकल चश्मा लगा हुआ है। कई बच्चों की पैदा होते ही आई साइट वीक (Weak Eyesight) हो जाती है। काफी बार यह जेनिटिकल होता है, लेकिन खराब लाइफस्टाइल विजन में कमजोरी का मुख्य कारण है। ऐसे में आंखों में कई तरह की समस्याएं आ सकती हैं – जिसमें से एक है टनल विजन (Tunnel Vision)।

आपके लिए इस समस्या का बारे में जानना ज़रूरी है क्योंकि यह कई लोगों को प्रभावित करती है। इसलिए इसके संकेतों और लक्षणों को जानना ज़रूरी है ताकि आप सही समय पर अपना इलाज करवा सकें। तो चलिये जानते हैं आंखों में होने वाली इस समस्या (Eye Problem) के बारे में।

क्या होता है टनल विजन

टनल विजन जैसी समस्या में व्यक्ति की साइड विजन खराब होने लगती हैं। जिसकी वजह से उसे सामने के ऑब्जेक्ट सही से दिखाई नहीं देते हैं। या कहें कि इसमें सिर्फ सेंट्रल विजन (Central Vision) काम करता है, जिसकी वजह से आपकी समग्र दृष्टि एक टनल का आकार ले लेती है।

पहचानिए टनल विजन के लक्षण

यदि किसी को यह समस्या हो रही हो, तो उसे इन चीजों में कठिनाई हो सकती है

भीड़ से निकलने में कठिनाई होती है
वस्तुओं से टकराना
गिरना

अन्य लक्षण इस बात पर निर्भर करेंगे कि किसी व्यक्ति को टनल विजन का अनुभव किस कारण हो रहा है।

eye care
आंखों में अचानक होने लगती है जलन, तो ये हो सकते हैं इसके लक्षण। चित्र :शटरस्टॉक

आपको टनल विजन की समस्या कई कारणों से हो सकती है जैसे

यदि आपको माइग्रेन है
स्ट्रोक के लक्षण
ग्लूकोमा
ऐसे लोग जिन्हें डायबिटीज़ और आंखों दोनों में समस्या है
रेटिनल डिटैचमेंट आदि।

अगर आपको टनल विजन है तो क्या करना चाहिए?

यदि आपको भी उपरोक्त लक्षण देखने को मिल रह रहे हैं, तो तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें। यदि आपको माइग्रेन (Migraine) है, तो पहले उसे नियंत्रित करने की कोशिश करें। यह इसे खराब होने से रोकने में मदद कर सकता है।

नेत्र चिकित्सक को नियमित रूप से मिलना भी एक अच्छा विचार है। वे आपकी आंखों को स्वस्थ रखने के लिए कुछ टिप्स दे सकते हैं और टनल विजन की नौबत आने से पहले इलाज कर सकते हैं।

यह भी पढ़ें : पूप का कलर और प्रकार भी देता है कोलोरेक्टल कैंसर का संकेत, क्या आपने चेक किया? 

  • 144
लेखक के बारे में
ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ

प्रकृति में गंभीर और ख्‍यालों में आज़ाद। किताबें पढ़ने और कविता लिखने की शौकीन हूं और जीवन के प्रति सकारात्‍मक दृष्टिकोण रखती हूं।

पीरियड ट्रैकर

अपनी माहवारी को ट्रैक करें हेल्थशॉट्स, पीरियड ट्रैकर
के साथ।

ट्रैक करें
nextstory