वैलनेस
स्टोर

इम्‍युनिटी बढ़ाने की अचूक औषधि है तुलसी, जानिए कैसे कर सकते हैं इसे अपनी डाइट में शामिल

Published on:13 May 2021, 17:35pm IST
इस समय इम्‍युनिटी को बनाए रखना सबसे ज्‍यादा जरूरी है और तुलसी इसमें आपके लिए रामबाण साबित हो सकती है। जानिए तुलसी का लाभ लेने के सबसे आसान तरीके।
अंबिका किमोठी
  • 98 Likes
इम्यूनिटी को बढ़ाने में मदद करती है तुलसी चित्र-शटरस्टॉक.
इम्यूनिटी को बढ़ाने में मदद करती है तुलसी चित्र-शटरस्टॉक.

कोरोना वायरस से बचने के लिए हमें अपने इम्यून सिस्टम को मजबूत बनाये रखना बहुत जरूरी है। आपने अपने बड़ों से अक्सर तुलसी के लाभों के बारे में तो सुना ही होगा कि तुलसी कैसे आपकी इम्यूनिटी को बढ़ाने में मदद करती है। यही कारण है कि इम्यूनिटी बढ़ाने और कोरोनावायरस से बचाव के लिए तुलसी का काढ़ा पीने की सलाह अधिकांश विशेषज्ञों दे रहे हैं। मगर सिर्फ काढ़ा ही नहीं, आप इसे और कई तरह से अपने आहार में शामिल कर सकती हैं।

आयुष मंत्रालय भारत सरकार द्वारा जारी दिशानिर्देशों में भी कोविड-19 से बचाव के लिए हर्बल काढ़ा पीने की बात कही गई है। इस हर्बल काढ़े में तुलसी को मुख्य रूप से शामिल किया गया है। तुलसी काढ़े का सेवन कोविड-19 के साथ अन्य कई वायरल इन्फेक्शन के इलाज में भी काफी सहायक है।

1 खाली पेट लें तुलसी की पत्तियां

आयुर्वेद के अनुसार रोजाना सुबह-सुबह तुलसी की 4-5 ताज़ी पत्तियां तोड़कर चबाकर खाना सेहत के लिए बहुत लाभकारी है। इससे आपका इम्यून सिस्टम मजबूत रहता है। पर चबाने का असर कभी-कभी दांतों के लिए अच्‍छा नहीं होता। ऐसे में आप इसे पानी में उबाल कर पी सकती हैं।

खाली पेट तुलसी का करें सेवन चित्र: शटरस्‍टॉक
खाली पेट तुलसी का करें सेवन चित्र: शटरस्‍टॉक

2 तुलसी का काढ़ा

तुलसी का काढ़ा बनाने के लिए दो कप पानी में तुलसी की कुछ पत्तियां डालकर 10-15 मिनट तक पानी उबालें या फिर इसे तब तक उबालें जब तक पानी एक चौथाई न बच जाए। इसके बाद इसे छानकर हल्का गुनगुना होने पर पिएं।
अगर आप काढ़ा न पीना चाहें तो आप अपनी रेगुलर चाय में भी तुलसी की पत्तियां डाल सकती हैं। यह भी उसी तरह लाभदायक साबित होगा।

3 तुलसी का चूर्ण

आप तुलसी का चूर्ण भी बना सकती हैं। 20 ग्राम तुलसी के बीज के चूर्ण में 40 ग्राम मिश्री मिलाकर पीस कर रख लें। अब 1 ग्राम चूर्ण का नियमिय मात्रा में सेवन करें। इसके सेवन से शारीरिक कमजोरी दूर होती है, शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है।

4 सूप में करें तुलसी को शामिल

आप सूप में भी तुलसी डाल सकती है, पहले पत्ता गोभी और गाजर को बारीक कांटे और फिर टमाटर को मिक्सी में डाल दें। फिर पैन में थोड़ा सा तेल डालें अब हींग डालें। इसके बाद तैयार मिक्‍स को टमाटर के साथ बर्तन में डालें और स्वादानुसार नमक डालें फिर हलका सा फ्राई करें। अब पानी डालें कॉर्न फ्लोर डालें और 5 तुलसी के पत्ते डालें। थोड़ा उबालने के लिए छोड़ दें, जिससे सूप गाढ़ा हो जाए।

5 सलाद में भी डाल सकती हैं तुलसी की पत्तियां

आप इसे किसी भी सलाद में डाल कर खा सकती हैं। आप जिस सब्जी का सलाद खाना चाहती हैं, उसे अच्छे से धो लें फिर उसे काटे और इसमें स्वादानुसार नमक, नींबू और तुलसी डालकर इसका सेवन करें।

सलाद में तुलसी डालकर करें इसका सेवन चित्र-शटरस्टॉक.
सलाद में तुलसी डालकर करें इसका सेवन चित्र-शटरस्टॉक.

6 पुदीने की चटनी में मिलाएं तुलसी

सबसे पहले पुदीना, अदरक, हरी मिर्च, आंवला, तुलसी और नींबू को धोकर मिक्सर में थोड़े से पानी के साथ डाल दें। फिर मिक्स होने के बाद उसे बर्तन में डालें और स्वादानुसार नमक, काली मिर्च एड करें। अब इसका सेवन करें।

यहां जानिए तुलसी के सेवन से होने वाले स्‍वास्‍थ्‍य लाभ

टाइफाइड ठीक करती है

अगर आप टाइफाइड से पीड़ित हैं, तो तुलसी का सेवन दिन में दो बार करें। तुलसी से टाइफाइड का बुखार जल्दी ठीक होता है। तुलसी की 20 पत्तियां और 10 काली मिर्च के दाने दोनों को मिलाकर काढ़ा बना लें और इसका सेवन सुबह और शाम को करें। ये काढ़ा सभी प्रकार के बुखार से आराम दिलाने में कारगर है।

मलेरिया ठीक करती है

तुलसी का पौधा मलेरिया प्रतिरोधी होता है। इसलिए तुलसी के पौधे में मलेरिया के मच्छर पनपते नहीं हैं। तुलसी के काढ़े का सेवन सुबह, दोपहर और शाम को करना चाहिए। इसे पीने से मलेरिया में लाभ होता है।

दैनिक आहार में तुलसी का सेवन करना इम्यूनिटी के लिए जरूरी होता हैं। चित्र: शटरस्टॉक
दैनिक आहार में तुलसी का सेवन करना इम्यूनिटी के लिए जरूरी होता हैं। चित्र: शटरस्टॉक

इम्युनिटी बढ़ाती है तुलसी

तुलसी के नियमित सेवन करने से शरीर का इम्यून सिस्टम मजबूत रहता है, जिससे सर्दी-जुकाम और अन्य संक्रामक बीमारियों से बचाव होता है। ऊपर बताएं गए चूर्ण को दिन में एक बार लें इससे अपकी इम्यून सिस्टम मजबूत होता है इसके साथ ही ये कफ से जुड़े रोगों से मुक्ति मिलती है।

पीलिया में लाभदायक है तुलसी

पीलिया का अगर सही समय पर इलाज न करवाया जाए, तो ये आगे चलकर गंभीर बीमारी बन जाती है। 1-2 ग्राम तुलसी के पत्तों को पीसकर छाछ के साथ मिलाकर पीने से पीलिया में लाभ होता है। इसके अलावा तुलसी की पत्तियों का काढ़ा बनाकर पीने से भी पीलिया में आराम मिलता है।

इसे भी पढ़ें-काली मिर्च सिर्फ एक मसाला ही नहीं, औषधीय गुणों का भंडार है, जानिए ये कैसे काम करती है

अंबिका किमोठी अंबिका किमोठी

योगा, डांस और लेखनी, यही सफर के साथी हैं। अपनी रचनात्‍मकता में देखूं कि ये दुनिया और कितनी प्‍यारी हो सकती है।