वैलनेस
स्टोर

प्रेगनेंसी में सोने में कठिनाई महसूस कर रहीं हैं, तो जानिए इसके कारण और समाधान

Published on:30 May 2021, 16:30pm IST
क्या आप अपनी गर्भावस्था के दौरान रात को अच्छी नींद लेने के लिए संघर्ष कर रही हैं? परेशान न हों, हम उन सभी संभावित कारणों को बताएंगे जो अनिद्रा का कारण हो सकते हैं।
टीम हेल्‍थ शॉट्स
  • 82 Likes
pregnancy ke shuruaati dino mein ho sakta hai kabj
प्रेगनेंसी के शुरुआती दिनों में हो सकता है कब्ज। चित्र : शटरस्टॉक

रात की अच्छी नींद लेना सभी गर्भवती महिलाओं के लिए महत्वपूर्ण है। मगर कड़वी सच्चाई यह है कि कभी-कभी वे झपकी लेने के लिए भी संघर्ष करती हैं। क्या आप जानती हैं कि ज्यादातर गर्भवती महिलाओं को केवल पांच घंटे के लिए नींद आती है? हमारा विश्वास करें, यह बिल्कुल भी अच्छा संकेत नहीं है। ऐसा इसलिए है क्योंकि यह कई स्वास्थ्य समस्याओं को बुलावा दे सकता है।

तो लेडीज, गर्भवती महिलाओं में अनिद्रा के कारणों की पहचान करने का समय आ गया है। एक बार जब आप जान जाती हैं कि ऐसा क्यों हो रहा है, तो आप अपनी स्लीप साइकिल को वापस पटरी पर लाने के लिए मदद ले सकती हैं।

मुंबई के ज़ेन मल्टीस्पेशलिटी अस्पताल की स्त्री रोग विशेषज्ञ डॉ वीना औरंगाबादवाला के अनुसार, ज़्यादातर गर्भवती महिलाओं को नींद की समस्या का सामना करना पड़ता है, आमतौर पर दूसरी या तीसरी तिमाही के दौरान और इसके पीछे विभिन्न कारण हो सकते हैं:

1. बार – बार पेशाब आना

बार-बार बाथरूम जाने से आपके लिए सोना मुश्किल हो जाएगा। गर्भावस्था के हार्मोन एचसीजी के उच्च स्तर के कारण, कई महिलाओं को समय-समय पर बाथरूम जाना पड़ता है। इसके अलावा, तीसरी तिमाही में, गर्भाशय मूत्राशय पर अतिरिक्त दबाव डालता है, जिससे बार-बार पेशाब आता है।

जानिए कहीं आप भी तो इससे नहीं जूझ रहींं। चित्र-शटरस्टॉक।
जानिए कहीं आप भी तो इससे नहीं जूझ रहींं। चित्र-शटरस्टॉक।

2. आराम से सोने में असमर्थता

यह बहुत संभव है कि गर्भावस्था के दौरान आपके लिए मनचाही स्थिति में सोना मुश्किल हो। यह अंत में आपको असहज महसूस करवा सकता है।

3. हीटबर्न

डॉ औरंगाबादवाला कहती हैं “आप मुख्य रूप से तीसरी तिमाही के दौरान हीटबर्न का सामना कर सकती हैं। यह रात में खराब हो सकता है, खासकर जब आप सोती हैं। यह गैस्ट्रिक रिफ्लक्स में वृद्धि के कारण होता है। यह एक बड़ा कारण हो सकता है कि गर्भवती महिलाओं को नींद आने में समस्या हो सकती है।”

4. पैर में ऐंठन

आपके पैरों में रक्त वाहिकाओं का संपीड़न और थकान, जैसा कि आप गर्भावस्था के अतिरिक्त भार को वहन करती हैं, रात में दर्दनाक पैर की ऐंठन को आमंत्रित कर सकती हैं, जिससे अनिद्रा हो सकती है।

5. नाक बंद रहना

उच्च एस्ट्रोजन और प्रोजेस्टेरोन का स्तर आपकी नाक में भी रक्त की मात्रा को बढ़ाता है। इस प्रकार, नाक में रुकावट हो सकती है, और इससे आपको रात में नींद आ सकती है।

एंटी इंंफ्लेलेमेटरी गुणों के कारण अदरक वाली चाय आपको राहत दे सकती है। चित्र: शटरस्‍टॉक
एंटी इंंफ्लेलेमेटरी गुणों के कारण अदरक वाली चाय आपको राहत दे सकती है। चित्र: शटरस्‍टॉक

6. दुःस्वप्न

गर्भावस्था के दौरान आपको बुरे सपने आ सकते हैं या रात में भी आप चिंतित या तनावग्रस्त महसूस कर सकती हैं। सब कुछ एक साथ अनिद्रा का कारण बनता है!

डॉ औरंगाबादवाला बताती हैं – ”दर्द, सिरदर्द और कोमल स्तन भी आपके लिए चैन से सोना मुश्किल कर देंगे। ये चीजें आपकी डेली रूटीन और आपके सोने के पैटर्न में भी दखल देंगी। हो सकता है कि ये चीजें आपको चिंतित कर दें, और सोते समय भी आपके दिमाग को ओवरड्राइव पर भेज दें।”

यहां गर्भावस्था के दौरान अनिद्रा से निपटने के कुछ तरीके दिए गए हैं:

कैफीन और चीनी युक्त खाद्य पदार्थों से बचें, खासकर रात में। विभिन्न खाद्य पदार्थों से चीनी अस्थिर रक्त शर्करा के स्तर और नींद की कमी का कारण बन सकती है। सोने से पहले इलेक्ट्रॉनिक गैजेट्स का इस्तेमाल न करें।

सोने का एक उचित समय निर्धारित करें और सोने और जागने का एक ही समय का पालन करें।

पैरों में ऐंठन से बचने के लिए ढेर सारा पानी पीकर हाइड्रेटेड रहने की कोशिश करें और मन लगाकर खाएं।

मसालेदार खाने से बचें. चित्र : शटरस्टॉक
मसालेदार खाने से बचें. चित्र : शटरस्टॉक

नाराज़गी को कम करने के लिए मसालेदार और एसिडिक खाद्य पदार्थों से बचें।

रिफ्लक्स से बचने के लिए सोते समय अपना सिर ऊपर उठाएं।

रात का खाना जल्दी लें और हर दिन कसरत करें। व्यायाम करने से आपको फिट और ऊर्जावान रहने में मदद मिलेगी।

योग या ध्यान करने से तनाव दूर होता है।

तो देवियों, इन टिप्स को अपने आस-पास की सभी गर्भवती महिलाओं के साथ साझा करें और उन्हें अच्छी नींद लेने में मदद करें।

टीम हेल्‍थ शॉट्स टीम हेल्‍थ शॉट्स

ये हेल्‍थ शॉट्स के विविध लेखकों का समूह हैं, जो आपकी सेहत, सौंदर्य और तंदुरुस्ती के लिए हर बार कुछ खास लेकर आते हैं।