वैलनेस
स्टोर

कभी-कभी क्‍यों होती है किसी खास फूड की क्रेविंग, हमने ढूंढा क्रेविंग के पीछे का वैज्ञानिक कारण

Updated on: 6 January 2021, 11:33am IST
कभी चॉकलेट तो कभी पेस्‍ट्रीज की, क्रेविंग कभी भी किसी को भी हो सकती है। पर क्‍या आप जानती हैं कि यह पोषण के लिए आपके शरीर की पुकार भी हो सकती है।
विनीत
  • 86 Likes
जानें क्या है क्रेविंग के पीछे का क्या कारण। चित्र-शटरस्टॉक।

अक्सर ऐसा कई बार होता है, कि हम एक चॉकलेट के टुकड़े के स्वाद के बारे में सोचते हुए सो जाते हैं और उठते भी उसी ख्याल के साथ हैं। इसके अलावा कई बार हमारे लिए टमाटर के सेवन के बिना एक दिन भी रहना बेहद मुश्किल हो जाता है।

वैसे तो इस तरह की क्रेविंग होने के कई कारण हो सकते हैं, लेकिन कुछ शोधकर्ताओं के अनुसार, यह आपके शरीर में कुछ पोषक तत्वों की कमी की ओर भी संकेत करता है। इन क्रेविंग्स के बारे में जानना महत्वपूर्ण हो जाता है, जिससे कि हम यह जान सकें कि हमारे शरीर को वास्तव में किस चीज की जरूरत है।

इसलिए हम आपको ऐसी 5 क्रेविंग्स के बारे में बता रहे हैं, जो आपको यह बताती हैं कि आपके शरीर को किस चीज की आवश्यकता है। अगर आप भी क्रेविंग की समस्या से जूझ रही हैं तो यह जानकारी आपके लिए बेहद फायदेमंद साबित हो सकती है।

  1. मीट और हैम्बर्गर्स

अगर आपको अचानक हैम्बर्गर खाने की क्रेविंग होती है। तो ऐसे में यह सोचें कि वास्तव में उन्हें क्या चाहिए। यह शायद रेड मीट हो सकता है। रेड मीट में बहुत अधिक मात्रा में प्रोटीन होता है, इसलिए हो सकता है कि आपके शरीर में इसकी कमी हो। वहीं, रेड मीट में आयरन, जिंक और विटामिन-बी होता है।

इसके अलावा, एक अध्ययन में यह भी सुझाव दिया गया है कि उच्च-प्रोटीन वाले आहार का सेवन करने से आपको  अधिक स्नैकिंग और मोटापे से बचने में मदद मिल सकती है।

आपको जंक फूड से बचना चाहिए। चित्र: शटरस्‍टाॅॅक
  1. पैस्ट्रीज

पेस्ट्री में कार्बोहाइड्रेट बहुत अधिक होता है। पेस्ट्री के एक पीस को खाने के बाद पेट भरा हुआ महसूस होने लगता है। क्योंकि इतनी सारी कैलोरी आपको जल्दी से बहुत सारी ऊर्जा प्रदान कर सकती हैं।

यह भी पढ़ें: सर्दियों में डायबिटीज के साथ भी रह सकती हैं स्‍वस्‍थ, बस इन 5 फूड्स का करें सीमित मात्रा में सेवन

शोध में यह पाया गया है कि यूनिवर्सल कार्ब क्रेविंग का समय, रोजाना 3.30 बजे से 5 बजे के बीच होता है। ऐसे में अगर आप विशेष डाइट को फॉलो कर रही हैं, तो इस समय के दौरान अधिक सावधान रहने की जरूरत है।

जब आपके शरीर को ब्रेड, केक, या पास्ता की भूख लगती है। तो आपके शरीर में क्रोमियम या नाइट्रोजन की कमी हो सकती है। कुछ शोधकर्ता बुरे मूड और तनाव के साथ भी कार्बोहाइड्रेट खाने की इच्छा को जोड़ते हैं। केक खाने से सेरोटोनिन नामक खुशी के हार्मोन का स्राव होता है।

  1. बर्फ

बर्फ चबाने की इच्छा होना, अक्सर शरीर में आयरन की कमी का संकेत है। ऐसा एनीमिया की समस्या होने पर भी हो सकता है। हालांकि क्रेविंग का कारण अभी स्पष्ट नहीं है, लेकिन यह सुझाव दिया जाता है कि अगर आपके शरीर में आयरन की कमी है, या आपको एनीमिया की समस्या है, तो बर्फ चबाना सतर्कता को बढ़ा सकता है।

  1. पीनट बटर

आमतौर पर, पीनट बटर पोषक तत्वों से भरपूर होता है। इसमें एक घटक होता है जिसका उपयोग दवाओं को बनाने के लिए किया जाता है, मूल रूप से कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम करने के लिए।

शरीर में पोषक तत्वों की कमी होने के कारण आपको पीनट बटर के सेवन को लेकर क्रेविंग हो सकती है। यह उत्पाद प्रोटीन, एंटीऑक्सिडेंट, फैट, आयरन, मैग्नीशियम और कैल्शियम का एक बेहतरीन स्रोत है।

अगर मेमोरी वीक हो रही है तो अपने आहार को भी एक बार चैक करें। चित्र: शटरस्‍टॉक
अगर मेमोरी वीक हो रही है तो अपने आहार को भी एक बार चैक करें। चित्र: शटरस्‍टॉक
  1. डार्क चॉकलेट

कुछ डार्क चॉकलेट में कोला की कैन से भी ज्‍यादा कैफीन होता है। यह घटक आपके जागने की क्षमता और ऊर्जा को बढ़ाता है क्योंकि यह केंद्रीय तंत्रिका तंत्र को उत्तेजित करता है। इसलिए जब आप अधिक थकान महसूस करती हैं या आपको बहुत नींद आती है, तो ऐसे में कैंडीबार या चॉकलेट खाना की इच्छा होना बहुत सामान्य है।

साथ ही आपको डार्क चॉकलेट अधिक क्यों पसंद है, इसकी एक वजह यह भी है कि आपके शरीर को मैग्नीशियम की आवश्यकता है।

हालांकि, शोधकर्ता इस पर पूरी तरह से श्‍योर नहीं हैं कि सिर्फ चॉकलेट की ही क्रेविंग क्‍यों होती है, जबकि मैग्नीशियम तो अखरोट में भी होता है।

यह भी पढ़ें: अध्‍ययन बताते हैं कि हार्ट अटैक के जोखिम को कम कर सकता ऑलिव ऑयल, जानिए कैसे

डोंट वरी गर्ल्‍स, अपने बारे में पता होना ज्‍यादा जरूरी है। साथ ही हेल्‍दी रहने के लिए क्रेविंग को कंट्रोल कर हेल्‍दी विकल्‍प चुनना भी जरूरी है। निश्चित ही ये जानकारी आपको इसमें मदद करेगी।

विनीत विनीत

अपने प्यार में हूं। खाने-पीने,घूमने-फिरने का शौकीन। अगर टाइम है तो बस वर्कआउट के लिए।