और पढ़ने के लिए
ऐप डाउनलोड करें

हेयर फॉल से लेकर हार्ट अटैक तक, ज्‍यादा सोचने के हो सकते हैं ये 4 गंभीर नुकसान

Published on:19 January 2021, 20:45pm IST
आजकल ओवरथिंकिंग एक आम समस्या हो गई है। लेकिन क्या आपको पता है कि ओवरथिंकिंग अपने साथ कई और स्वास्थ्य संबंधी समस्याएं भी लाती है?
टीम हेल्‍थ शॉट्स
  • 80 Likes
ज्‍यादा सोचना आपकी सेहत के लिए अच्‍छा नहीं है। चित्र: शटरस्‍टॉक
ज्‍यादा सोचना आपकी सेहत के लिए अच्‍छा नहीं है। चित्र: शटरस्‍टॉक

किसी चीज के बारे में ठीक से सोचना एक अच्छी बात हो सकती है, लेकिन अपनी कमियों, समस्याओं और गलतियों के बारे में बार-बार सोचना आपके लिए खतरनाक हो सकता है। इन चीजों के बारे में जरूरत से ज्यादा सोचना आपको ओवरथिंकिंग का शिकार बना सकता है। हम आपका ध्‍यान इन्‍हीं स्‍वास्‍थ्‍य समस्‍याओं की ओर दिलवाने वाले हैं।

हो सकता है कि आपको अपनी जिंदगी से ढेरों शिकायतें हों। पर इसकास यह अर्थ नहीं कि आप हर दिन उन्‍हीं को याद करती रहें और खुद को कोसती रहें। असल में जब आप अपने आप से जरूरत से ज्यादा एक्सपेक्टशन्स रख लेते हैं, तब आप अत्यधिक प्रेशर फील करने लगती हैं। यही प्रेशर धीरे-धीरे स्ट्रेस और ओवरथिंकिंग में बदल जाता है।

ओवरथिंकिंग अकेले नहीं आती, इसके साथ आपको कई और स्वास्थ्य संबंधी समस्याएं भी हो सकती हैं। चलिए जानते हैं कि ओवरथिंकिंग की वजह से हमारे स्वास्थ्य पर क्या असर हो सकता हैं-

1 मानसिक स्वास्थ्य के लिए खतरा

नेशनल लाइब्रेरी ऑफ़ मेडिसीन में प्रकाशित एक रिसर्च के अनुसार अगर आप बार-बार अपनी कमियों, गलतियों और समस्याओं के कारण के बारे में सोचती रहती हैं, तो इससे आपके मानसिक स्वास्थ्य को खतरा हो सकता है।

ज्‍यादा सोचना आपकी मेंटल हेल्‍थ को प्रभावित करता है। चित्र: शटरस्‍टॉक
ज्‍यादा सोचना आपकी मेंटल हेल्‍थ को प्रभावित करता है। चित्र: शटरस्‍टॉक

कई मानसिक समस्याएं जैसे एंग्‍जायटी, स्ट्रेस और डिप्रेशन, ओवरथिंकिंग से जुड़ी हुई होती हैं। अगर आप किसी भी समस्या के बारे में बहुत ज्यादा सोचती हैं तो उससे आपको एंग्‍जायटी हो सकती है। जो बाद में डिप्रेशन का भी रूप ले सकती है।

2 नींद आने में हो सकती है परेशानी

जरूरत से ज्यादा सोचने की वजह से आपको रात में नींद न आने की परेशानी हो सकती है। दरअसल जब तक हमारा दिमाग पूरी तरह से शांत नहीं होता, तब तक हमें ठीक से नींद नहीं आती। हम बार-बार किसी न किसी चीज के बारे में सोचते रहते हैं। जिस वजह से हमारा दिमाग आराम नहीं कर पाता है।

यह आपको अनिद्रा की समस्‍या भी दे सकता है। चित्र: शटरस्‍टॉक
यह आपको अनिद्रा की समस्‍या भी दे सकता है। चित्र: शटरस्‍टॉक

एक शोध के मुताबिक, अगर कोई व्यक्ति उन चीजों के बारे में ज्यादा सोचता है जिन पर उसका कोई जोर नहीं होता है, तो वह कम नींद ले पाता है और कभी-कभी तो उस व्यक्ति को पूरी रात नींद नहीं आती है।

3 दिल की बीमारियों का हो सकता है खतरा

ओवरथिंकिंग आपको दिल से जुड़ी बीमारियों के खतरे में डाल सकती है। नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ हेल्थ में प्रकाशित एक ऑनलाइन जर्नल के मुताबिक जो लोग ओवरथिंक करते हैं, उनमें दिल की बीमारियां होने का ज्यादा खतरा होता है। ओवरथिंकिंग करने की वजह से आपको सीने में दर्द, बेचैनी जैसे लक्षण हो सकते हैं।

4 बालों का अत्यधिक झड़ना

ओवरथिंकिंग, अत्यधिक चिंता और तनाव की वजह से गंजेपन और एलोपेसिया का खतरा बढ़ सकता है। डॉ. बत्रा होम्‍योपैथी का एक ऑनलाइन आर्टिकल भी इस बात की पुष्टि करता है कि पुराने तनाव और ओवरथिंकिंग के कारण बालों के झड़ने की समस्या हो सकती है।

ज्‍यादा सोचना आपको हेयर फॉल भी दे सकता है। चित्र: शटरस्‍टाॅॅॅक
ज्‍यादा सोचना आपको हेयर फॉल भी दे सकता है। चित्र: शटरस्‍टाॅॅॅक

अगर आपको भी बालों के झड़ने की समस्या होती है, तो उसका एक कारण ओवरथिंकिंग भी हो सकता है।

तो, अगर आप भी ओवरथिंक करते हैं तो आपको भी इन सभी समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है। इसलिए ध्यान रखें कि आप किसी चीज के बारे में जरूरत से ज्यादा न सोचें।

यह भी पढ़ें – चाय से लेकर अलाव तक, एक एक्‍सपर्ट से जानिए कितने सुरक्षित हैं ये विंटर केयर टिप्‍स

टीम हेल्‍थ शॉट्स टीम हेल्‍थ शॉट्स

ये हेल्‍थ शॉट्स के विविध लेखकों का समूह हैं, जो आपकी सेहत, सौंदर्य और तंदुरुस्ती के लिए हर बार कुछ खास लेकर आते हैं।