वैलनेस
स्टोर

डायबिटीज का संकेत हो सकता है बार-बार भूख या प्यास लगना, जानिए इस बारे में सब कुछ

Published on:26 June 2021, 09:00am IST
अगर आप हाल ही में कोविड से रिकवर हुईं हैं और उम्र 30 के पार है, तो आपको इन संकेतों को गंभीरता से लेना चाहिए।
ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ
  • 82 Likes
shugar phree goliyon ka sevan aapako deta hai bahut se haanikaarak prabhaav.
शुगर फ्री गोलियों का सेवन आपको देता है बहुत से हानिकारक प्रभाव। चित्र-शटरस्टॉक

65 वर्ष से अधिक आयु के हर 4 में से 1 व्यक्ति में पाए जाने वाली डायबिटीज, आज दुनिया भर में सबसे आम बीमारी है। विश्व स्वास्थ्य संगठन के अनुसार 2019 में लगभग 1.5 मिलियन मौतें सीधे तौर पर मधुमेह के कारण हुईं। आज डायबिटीज, दुनिया भर में अंधेपन, किडनी फेलियर, हार्ट अटैक, स्ट्रोक का प्रमुख कारण है।

ये आंकड़े हैरान कर देने वाले हैं मगर हमें स्थिति की गंभीरता का अहसास कराने के लिए पर्याप्त हैं। डायबिटीज को आज आप भले ही एक सामान्य बीमारी के तौर पर देखे, क्योंकि आपके आसपास अधिकांश व्यक्ति इससे पीड़ित हैं। मगर इसे सामन्य या कमतर आंकना आपकी बहुत बड़ी भूल हो सकती है। इसलिए, हेल्थ शॉट्स के इस लेख में आज हम आपको डायबिटीज के बारे में सभी जानकारियां देने वाले हैं, जिससे आप अपना और अपनों का ख्याल रख सकें!

क्या है डायबिटीज?

मधुमेह एक ऐसी बीमारी है, जो तब होती है जब आपका ब्लड ग्लूकोज, जिसे रक्त शर्करा भी कहा जाता है, बहुत अधिक होता है। ब्लड ग्लूकोज आपकी ऊर्जा का मुख्य स्रोत है और आपके द्वारा खाए जाने वाले भोजन से आता है।

इंसुलिन, अग्न्याशय (Pancreas) द्वारा बनाया गया एक हार्मोन, भोजन से ग्लूकोज को आपकी कोशिकाओं में ऊर्जा के लिए उपयोग करने में मदद करता है। कभी-कभी अग्न्याशय पर्याप्त इंसुलिन का उत्पादन नहीं करता है या शरीर द्वारा उत्पादित इंसुलिन का प्रभावी ढंग से उपयोग नहीं कर पाता है, तो मधुमेह की स्थिति उत्पन्न होती है।

डायबिटीज यानी शरीर में खून में चीनी की बढ़ी हुई मात्रा। चित्र: शटरस्टॉक
डायबिटीज यानी शरीर में खून में चीनी की बढ़ी हुई मात्रा। चित्र: शटरस्टॉक

इंसुलिन एक हार्मोन है, जो रक्त शर्करा को नियंत्रित करता है। हाइपरग्लाइकेमिया, या बढ़ा हुआ रक्त शर्करा, अनियंत्रित मधुमेह का एक सामान्य प्रभाव है और समय के साथ शरीर की कई प्रणालियों, विशेष रूप से नसों और रक्त वाहिकाओं को गंभीर नुकसान पहुंचाता है।

आप यह कैसे पता लगा सकती हैं कि आपको डायबिटीज की समस्या हो सकती है? चलिए जानते हैं इसके संकेत और लक्षण

मधुमेह के सामान्य लक्षणों में शामिल हैं:

बढ़ी हुई भूख
बढ़ी हुई प्यास
वजन घटना
लगातार पेशाब आना
धुंधली नज़र
अत्यधिक थकान
घाव जो ठीक नहीं होते

महिलाओं में लक्षण:

मधुमेह से पीड़ित महिलाओं में मूत्र मार्ग में संक्रमण (Urinary Tract Infection), यीस्ट संक्रमण और शुष्क, खुजली वाली त्वचा जैसे लक्षण भी हो सकते हैं।

बार बार यूरिन आना भी है डायबिटीज का एक लक्षण। चित्र-शटरस्टॉक।
बार बार यूरिन आना भी है डायबिटीज का एक लक्षण। चित्र-शटरस्टॉक।

डायबिटीज के कई प्रकार होते हैं जैसे:

टाइप 1 मधुमेह

यह एक ऑटोइम्यून बीमारी है। जिसमें प्रतिरक्षा प्रणाली अग्न्याशय में कोशिकाओं पर हमला करती है और नष्ट कर देती है, जहां इंसुलिन बनता है। यह स्पष्ट नहीं है कि इस हमले का कारण क्या है। मधुमेह वाले लगभग 10 प्रतिशत लोगों में यह प्रकार होता है।

टाइप 2 मधुमेह

यह तब होता है जब आपका शरीर इंसुलिन के लिए प्रतिरोधी हो जाता है, और आपके रक्त में शर्करा का निर्माण होता है। यह प्रकार सबसे ज्यादा आम है और बच्चों को भी हो सकता है।

प्रीडायबिटीज

तब होती है जब आपका ब्लड शुगर सामान्य से अधिक होता है, लेकिन यह टाइप 2 डायबिटीज के निदान के लिए पर्याप्त नहीं है।

गर्भावधि मधुमेह

यह गर्भावस्था के दौरान उच्च रक्त शर्करा है। प्लेसेंटा द्वारा उत्पादित इंसुलिन-अवरुद्ध हार्मोन इस प्रकार के मधुमेह का कारण बनते हैं।

हर रोज़ व्यायाम करना महत्वपूर्ण है . चित्र : शटरस्टॉक
हर रोज़ व्यायाम करना महत्वपूर्ण है . चित्र : शटरस्टॉक

डायबिटीज जितनी ज्यादा आम है, उतने ही आसान हैं इससे बचने के उपाय। विश्व स्वास्थ्य संगठन के अनुसार लोगों को डायबिटीज से बचने के इन उपायों को अपनाना चाहिए –

स्वस्थ वज़न बनाए रखना महत्वपूर्ण है।

शारीरिक रूप से सक्रिय रहें – कम से कम 30 मिनट नियमित व्यायाम करें।

एक स्वस्थ आहार का पालन करें जिसमें ताज़े फल और सब्जियां शामिल हों।

चीनी और संतृप्त वसा से परहेज करें।

तंबाकू के सेवन से बचें – धूम्रपान से मधुमेह और हृदय रोग का खतरा बढ़ जाता है।

यह भी पढ़ें : मम्‍मी इन दिनों मेरी डायबिटिक दादी को खिला रहीं हैं जामुन, पर क्‍या ये वाकई काम करता हैं?

ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ

प्रकृति में गंभीर और ख्‍यालों में आज़ाद। किताबें पढ़ने और कविता लिखने की शौकीन हूं और जीवन के प्रति सकारात्‍मक दृष्टिकोण रखती हूं।