बारिश के मौसम में बीमार होने से बचना है, तो याद रखें डेली रुटीन से जुड़ी ये चीजें 

Updated on: 29 June 2022, 14:40 pm IST
अगर आप इन दिनों पाचन या त्वचा संबंधी समस्याओं से परेशान हैं, तो जरूरी है कि उनके लक्षणों की बजाए कारणों पर गौर करें। ताकि बीमारियों के कारणों से ही बचा जा सके। 
शालिनी पाण्डेय
ऐप खोलें

बारिश, पानी, नमी और ढेर सारी बीमारियां। मानसून का अर्थ ही है खुशगवार मौसम के साथ ही बहुत सारी स्वास्थ्य संबंधी चुनौतियां। इस मौसम में वे लोग जल्दी बीमार पड़ जाते हैं, जिनकी इम्युनिटी कमजोर होती है। इसलिए यह जरूरी है कि मौसम के दौरान कुछ खास चीजों का ख्याल (Monsoon care tips) रखा जाए। ताकि आप इस मौसम का मजा बिना बीमार हुए ले सकें।  

बरसात के मौसम में स्वस्थ रहने (Monsoon care tips) के लिए कुछ चीजों का ध्यान रखना बहुत जरूरी है। इस मौसम में पाचन संबंधी समस्याओं के साथ ही स्किन संबंधी परेशानियां भी हो सकती हैं। इसलिए यह जरूरी है कि उनके कारणों को समझकर पहले से ही बचाव की दिशा में प्रयास किए जाएं। मानसून में स्वस्थ रहने के लिए हमें अपने रुटीन में क्या बदलाव करना चाहिए, यह जानने के लिए हमने बात की एशियन इंस्टीट्यूट के गायनेकोलॉजी ऑब्सेट्रिक्स डिपार्टमेंट की चेयरमैन डॉक्टर अनिता कान्त से…

यहां हैं वे मानसून केयर टिप्स जो आपको इस मौसम में बीमार पड़ने से बचाएंगे 

1 स्वस्थ और पौष्टिक आहार लें (Healthy diet)

इस मौसम में स्ट्रीट फूड से पूरी तरह तौबा करना ही ठीक रहेगा। प्रोटीन और विटामिन से भरपूर घर का बना स्वस्थ भोजन करना सबसे अच्छा है। पहले से कटे फलों में मौजूद बैक्टीरिया के संपर्क से बचने के लिए ताजी कटी हुई सब्जियों और फलों का ही सेवन करें। गर्भावस्था की क्रेविंग को पूरा करने के लिए, घर पर ही खाद्य पदार्थ तैयार करने की कोशिश करें या हेल्दी ऑप्शन के लिए आहार विशेषज्ञ से सलाह लें। 

यदि मछली और मांस का सेवन करती हैं, तो उसे साफ और अच्छी तरह से पकाया जाना चाहिए। ताकि अधपके भोजन से जीवाणु संक्रमण न हो। बचा हुआ खाना खाने से बचें। सभी पोषक तत्वों को पर्याप्त मात्रा में प्राप्त करने के लिए हमेशा ताजा बना खाना ही खाएं। क्योंकि बारिश में नमी के कारण बैक्टीरिया जल्दी पनपते हैं और फूड पॉइजनिंग होने का खतरा रहता है।  

2 तरल पदार्थ का सेवन बढ़ाएं (Stay)

मानसून के दौरान नमी निर्जलीकरण (Dehydration) का कारण हो सकती है । दिन भर में ढेर सारे तरल पदार्थों का सेवन करना चाहिए। आप नारियल पानी, नींबू पानी, ताजे फलों के रस, सब्जियों के रस, सूप, शर्बत आदि का विकल्प चुन सकती हैं।सादे पानी को उबाल कर ही पीना चाहिए। पैकेज्ड जूस पीने से बचें और ताजा निचोड़ा हुआ जूस चुनें।

3 हल्के साफ कपड़े

हल्के सूती कपड़ों का सुझाव दिया जाता है, इसलिए हवादार और आरामदायक पोशाक चुनें।

बिना फिसलन वाले जूते चुनें, खासकर गीले क्षेत्रों में चलते समय गिरने से बचने के लिए।

योगासन मौसमी बीमारियों से दूर रखेगा । चित्र:शटरस्टॉक

4 स्वच्छता बनाए रखें

अपने सभी कपड़ों को साफ करने के लिए एक अच्छी गुणवत्ता वाले कपड़े धोने वाले कीटाणुनाशक का प्रयोग करें। आपकी त्वचा पर बैक्टीरिया को मारने के लिए यदि संभव हो, तो नीम के पानी से दिन में दो बार स्नान करें। पैरों की नियमित रूप से सफाई करने की सलाह दी जाती है, विशेष रूप से नेल बेड, क्यूटिकल्स, तलवों आदि की, क्योंकि वे गंदे बारिश के पानी से बैक्टीरिया और फंगल संक्रमण का जोखिम बढ़ा सकते हैं। सार्वजनिक शौचालयों में उपयोग के लिए व्यक्तिगत स्वच्छता किट ले जाना बेहतर होगा। 

5 अपने घर को सेनिटाइज करें

ठहरा पानी मच्छरों, मक्खियों आदि का प्रजनन स्थल है। अपने घर को हर दिन कीटाणुनाशक से साफ करें और गंदे पानी के संग्रह से बचने के लिए फूलों के बर्तनों, कोनों, वॉशरूम को साफ करें।
6 इनडोर एक्सरसाइज

जब आप बारिश के कारण बाहर सैर, जॉगिंग या एक्सरसाइज न कर पा रहीं हों तो इनडोर व्यायाम का विकल्प चुन सकती हैं। यह सर्दी-खांसी और लोगों के संपर्क से फैलने वाली बीमारियों के जोखिम को कम करेगा। 

योग, स्टेप-एरोबिक्स, ज़ुम्बा इत्यादि, मानसून के दौरान मज़ेदार इनडोर व्यायाम करने के अच्छे तरीके हैं। गर्भावस्था के दौरान किसी भी प्रकार का व्यायाम शुरू करने से पहले अपने डॉक्टर से सलाह लें।

यह भी पढ़ें: इन टिप्स के साथ अपनी सर्दी और खांसी से एक पल में पाएं छुटकारा

शालिनी पाण्डेय

स्वास्थ्य राशिफल

ज्योतिष विशेषज्ञ से जानिए क्या कहते हैं आपकी
सेहत के सितारे

यहाँ पढ़ें
Next Story