होली पर रंग या गुलाल से होने लगे इरिटेशन, तो जानिए आपको तुरंत क्या करना है

रंग, गुलाल के साथ अगर आपकी त्वचा रिएक्ट करने लगे तो आपको बिल्कुल भी लापरवाही नहीं करनी है। त्वचा विशेषज्ञ बता रहीं हैं इस स्थिति से निपटने के उपाय।
त्वचा पर रैशिज़ होने लगे है या फोड़े फुसियां निकल रहे हैं, तो पीपल की पत्तियों को तोड़कर उन्हें धो लें और फिर उनका एक पेस्ट बना लें।चित्र : शटरस्टॉक
अक्षांश कुलश्रेष्ठ Published on: 18 March 2022, 14:00 pm IST
ऐप खोलें

इस बार की होली बहुत खास है, क्योंकि यह कोरोना वायरस महामारी के बाद ऐसी होली है जब हम अपनों के साथ मिलकर होली खेलेंगे। होली में हम रंगों के साथ खूब धमाल मचाते हैं, लेकिन कहीं न कहीं हमारी त्वचा को इसका खामियाजा भुगतना पड़ता है। भले ही अब ज्यादातर लोग ऑर्गेनिक और केमिकल फ्री रंगों का इस्तेमाल करना पसंद करते हैं। फिर भी बाजारों में कई ऐसे रंग मौजूद हैं, जिनमें रसायनों का इस्तेमाल किया जाता है।

जिसके कारण आपकी स्किन को परेशानी हो सकती है। जब हमारे चेहरे पर रंग लगा होता है और हमारी त्वचा पर इरिटेशन हो रही होती है, उस वक्त हमें यह समझ नहीं आता कि आखिर अब क्या किया जाए। ऐसी समस्या का समाधान जानने के लिए हमने डर्मेटोलॉजिस्ट डॉ रिंकी कपूर नेशनल स्किन सेंटर सिंगापुर से संपर्क किया।

रंग और त्वचा की समस्या

डॉ रिंकी कहती है कि बाजारों में मिलने वाले रंगों में जिन केमिकल का इस्तेमाल होता है, वे हमारी त्वचा पर दुष्प्रभाव डाल सकते हैं। ये त्वचा के साथ-साथ हमारे बालों और स्कैल्प पर भी अपना असर दिखा सकते हैं। ऐसे में यदि आपको रंगों से एलर्जी या रिएक्शन होता है, तो आपको फौरन सावधानी बरतने की जरूरत है। 

केमिकल वाले गुलाल दे सकते हैं एलर्जी की समस्या। चित्र : शटरस्टॉक

वे आगे कहती है, कि इससे ज्यादातर एलर्जी की समस्या होती है। जिसमें ज्यादातर लोगों को खुजली, त्वचा पर लाल दाने,पानी से भरे हुए फोड़े, इसके अलावा यदि आप ज्यादा एलर्जी है तो आप को सांस लेने में भी समस्या हो सकती है। एलर्जी के अलावा केमिकल युक्त रंग हमारे चेहरे का ग्लो छीन लेते हैं। हमारी त्वचा और हमारे बाल दोनों ही इन रंगों के कारण ड्राई हो सकते हैं।

स्किन इरिटेशन होने पर आप क्या कर सकती हैं?

डॉ रिंकी कहती हैं कि यदि आपको ऐसा महसूस हो कि चेहरे पर रंग लगने के बाद दाने आ रहे हैं या खुजली हो रही है, तो आपको फौरन अपनी त्वचा को पानी से धोकर रंग को साफ कर लेना है। ऐसी स्थिति में एलोवेरा का इस्तेमाल करना चाहिए। बाजारों में एलोवेरा जेल आसानी से उपलब्ध होता है और यह आपकी स्किन एलर्जी को रोकने में मदद कर सकता है। अगर यह उपलब्ध नहीं है, तो आप लेक्टो कैलेमाइन लोशन का भी इस्तेमाल कर सकती है।

एलोवेरा जेल है फायदेमंद 

एलोवेरा विटामिन ए, सी, ई, बी 12 से भरपूर होता है। चित्र:शटरस्टॉक

इंडियन जर्नल ऑफ डर्मेटोलॉजी के अनुसार, एलोवेरा विटामिन ए, सी, ई, बी 12 से भरपूर होता है और खनिजों का एक ठोस पंच अच्छी तरह से पैक करता है।  तो, इस पौधे से निकाला गया जेल घावों से लेकर त्वचा की उम्र बढ़ने तक के मुद्दों के इलाज में मदद करता है। त्वचा को पर होने वाली कई समस्याओं मैं एलोवेरा जेल मदद करता है। इसके अलावा यदि सुरंग लगने के बाद चेहरे की त्वचा ड्राई या फटी महसूस होने लगे तो उस स्थिति में भी यह काम आ सकता है।

लेक्टो कैलेमाइन लोशन 

लेक्टो कैलेमाइन भी त्वचा के लिए काफी प्रसिद्ध है यह एक प्रकार का मॉइश्चराइजिंग लोशन है। इसमें पानी,काओलिन, ग्लिसरीन, कैस्टर ऑयल, जिंक ऑक्साइड, जिंक कार्बोनेट आदि जैसे तत्व होते हैं। इन सामग्रियों का उपयोग कई लोगों द्वारा त्वचा देखभाल व्यवस्था में प्रमुखता से किया जाता है। त्वचा की एलर्जी की समस्याओं में आपको यह सहायता कर सकता।

मॉइश्चराइजिंग लोशन लगाएं। चित्र- शटरस्टॉक।

चलते-चलते 

डॉक्टर रिंकी सलाह देती है कि यदि आपको इन दोनों तरीकों को अपनाने के बाद भी कोई आराम न मिले, आपकी त्वचा पर जलन बरकरार रहे या दाने ज्यादा खुजली कर रहे हो, तो आपको जल्द से जल्द किसी त्वचा विशेषज्ञ से सलाह लेने की आवश्यकता है। कोशिश करें कि होली खेलने से पहले नारियल तेल या किसी अन्य लोशन का इस्तेमाल करें।

यह भी पढ़े : क्या दर्द को कम करने के लिए इस्तेमाल की जा सकती है भांग? विशेषज्ञ से जानिए इसके बारे में

लेखक के बारे में
अक्षांश कुलश्रेष्ठ

सेहत, तंदुरुस्ती और सौंदर्य के लिए कुछ नई जानकारियों की खोज में

पीरियड ट्रैकर

अपनी माहवारी को ट्रैक करें हेल्थशॉट्स, पीरियड ट्रैकर
के साथ।

ट्रैक करें
Next Story