Eye Problems : जानिए कंजक्टिवाइटिस और मामूली एलर्जी के बीच का अंतर

क्या आप भ्रमित हैं कि आपको कंजक्टिवाइटिस है या सिर्फ एक आई एलर्जी है? दोनों के बीच अंतर जानने के लिए पढ़ें।

kya hai conjunctivitis
जानिए क्या है कंजक्टिवाइटिस और कैसे करें इसका इलाज। चित्र: शटरस्टॉक
टीम हेल्‍थ शॉट्स Published on: 6 April 2022, 13:33 pm IST
  • 125

आंखों की समस्या परेशान करने वाली हो सकती है। कंजक्टिवाइटिस बाहरी झिल्ली की सूजन है जो आईबॉल की रक्षा करती है। आंख की एलर्जी और पिंक आई दोनों ही एक प्रकार के कंजक्टिवाइटिस हैं। चूंकि पिंक आई और आंखों की एलर्जी के कई लक्षण समान हैं, इसलिए दोनों के बीच अंतर करना मुश्किल हो सकता है।

डॉ. नीरज संदूजा, एमबीबीएस, एमएस – ऑप्थल्मोलॉजी, ऑप्थल्मोलॉजिस्ट, आई सर्जन – हमें यह समझने में मदद करते हैं कि दोनों स्थितियों के बीच में फर्क कितना है। अगली बार जब आप या आपके परिवार के सदस्य को आँखों में समस्या होती है, तो आप बेहतर ढंग से समझ पाएंगी, कि क्या करना है।

आइए जानें कंजक्टिवाइटिस और आंखों की एलर्जी के बीच अंतर

पिंक आई यानी कंजक्टिवाइटिस क्या है?

कंजक्टिवाइटिस, जिसे कभी-कभी पिंक आई के रूप में जाना जाता है। यह एक तरह का आई इन्फ़ैकशन है। यह संक्रमण एक पतली परत में होता है जो आपकी आंख के सफेद हिस्से के बाहरी हिस्से को प्रभावित करता है। सबसे आम नेत्र विकारों में से एक पिंक आई है।

क्या हैं कंजक्टिवाइटिस के लक्षण?

लालपन
आंखों में सनसनी महसूस होना
खुजली
एक या दोनों आंखों में हरे या सफेद रंग का स्राव
आंखों में जलन होना

आंखों की एलर्जी क्या है?

एलर्जिक कंजक्टिवाइटिस भी आम स्थिति है और इसमें ऐसे लक्षण होते हैं जो संक्रामक होते हैं और पिंक आई ले समान हैं। जब एक एलर्जेन आंखों के संपर्क में आता है, तो प्रतिरक्षा प्रणाली हिस्टामाइन बनाती है। ये अणु होते हैं जो शरीर को उन पदार्थों से बचाने में सहायता करते हैं।

पिंक आई के संक्रामक के विपरीत, एलर्जिक कंजक्टिवाइटिस संक्रामक नहीं है और अक्सर हे फीवर के लक्षणों से जुड़ा होता है।

yh ek tarak kii aayi allergy hai
यह एक तरह की आई एलर्जी है। चित्र : शटरस्टॉक

आंखों की एलर्जी के लक्षण

लालपन
आंख में एक जलन होना
खुजली
धुंधली दृष्टि
सूजी हुई पलक

क्या है कंजक्टिवाइटिस का उपचार?

पिंक आई थेरेपी अंतर्निहित कारण से निर्धारित होती है। कुछ परिस्थितियों में लक्षण अपने आप दूर हो सकते हैं। अन्य परिस्थितियों में, एक अंतर्निहित संक्रमण को मौखिक दवाओं के साथ चिकित्सा की आवश्यकता हो सकती है।

कोल्ड कंप्रेस फायदेमंद है और बिना प्रिस्क्रिप्शन के भी किया जा सकता है। यह पिंक आई से उत्पन्न सूजन और सूखापन को कम करने में मदद कर सकता है।

आपको कॉन्टैक्ट लेंस पहनने से भी बचना चाहिए जब तक कि आपका नेत्र रोग विशेषज्ञ (नेत्र चिकित्सक) आपको ऐसा करने की अनुमति न दे। यदि आपको नेत्र रोग विशेषज्ञ को देखने की आवश्यकता नहीं है, तो अपने कॉन्टैक्ट लेंस को तब तक न लगाएं, जब तक कि आपका कंजक्टिवाइटिस खत्म न हों।

एलर्जिक कंजक्टिवाइटिस के इलाज के लिए ओवर-द-काउंटर और प्रिस्क्रिप्शन एलर्जी दवाओं दोनों का उपयोग किया जा सकता है। एंटीहिस्टामाइन, दोनों मौखिक और ओकुलर ड्रॉप्स, लक्षणों को कम करने में मदद कर सकते हैं। एलर्जी पिंक आई के अधिक गंभीर प्रकरणों में, स्टेरॉयड और इम्यूनोथेरेपी की आवश्यकता हो सकती है।

apni aankhon ka khyal rakhein
अपनी आखोन का ख्याल रखें। चित्र : शटरस्टॉक

पोलन जैसे मौसमी एलर्जी के संपर्क को सीमित करने से आपको एलर्जिक कंजक्टिवाइटिस से बचने में मदद मिल सकती है। जानवरों को छूने के बाद, आपको स्वच्छता का भी अभ्यास करना चाहिए। कुछ मामलों में एलर्जिक कंजक्टिवाइटिस को रोकने के लिए एंटीहिस्टामाइन का भी उपयोग किया जा सकता है।

आप किस तरह कर सकती हैं कंजक्टिवाइटिस से अपना बचाव?

बार-बार हाथ धोएं और आंखों को छूने से बचें। संक्रामक कंजक्टिवाइटिस को रोकने के लिए ये सबसे आसान तरीके हैं। आप गंदे हाथों से रगड़कर अपनी आंखों में कंजक्टिवाइटिस पैदा करने वाले बैक्टीरिया या वायरस को स्थानांतरित कर सकते हैं।

पुराने आई मेकअप प्रोडक्ट जैसे मस्कारा और आईलाइनर को भी फेंक देना चाहिए।

अपने ऑप्टोमेट्रिस्ट के निर्देशों के अनुसार अपने कॉन्टैक्ट लेंस को साफ करें और उन्हें आवश्यकता से अधिक समय तक न पहनें।

आपको यह सुनिश्चित करने के लिए बार-बार आंखों की जांच करानी चाहिए। जिससे आपकी आंखों की किसी भी समस्या का जल्द से जल्द पता लगाया जाए और उसका इलाज किया जाए।

यह भी पढ़ें : चेहरा तो निखर गया, पर पैरों पर दिख रही है टैनिंग और दाग-धब्बे, तो जानिए डी टैनिंग का नेचुरल तरीका

  • 125
लेखक के बारे में
टीम हेल्‍थ शॉट्स टीम हेल्‍थ शॉट्स

ये हेल्‍थ शॉट्स के विविध लेखकों का समूह हैं, जो आपकी सेहत, सौंदर्य और तंदुरुस्ती के लिए हर बार कुछ खास लेकर आते हैं।

पीरियड ट्रैकर

अपनी माहवारी को ट्रैक करें हेल्थशॉट्स, पीरियड ट्रैकर
के साथ।

ट्रैक करें
nextstory