क्या आपका बच्चा भी ठीक से बाेल नहीं पाता? विशेषज्ञ बता रहें हैं इससे निपटने के उपाय

क्या स्पीच डीले (speech delay) बच्चे के विकास में समस्या पैदा कर सकता है? इससे कैसे निपटा जा सकता है? यहां आपको एक विशेषज्ञ से जानने की जरूरत है।
Apne bachcho se adhik baat kare
मां-पिता बच्चों से खूब बातें कर उनकी सहायता कर सकते हैं। चित्र:शटरस्टॉक
टीम हेल्‍थ शॉट्स Published: 12 Jan 2022, 15:30 pm IST
  • 104

स्पीच डीले, जैसा कि नाम से पता चलता है, एक ऐसी स्थिति है जिसमें एक बच्चा प्रत्याशित दर पर बोलने की क्षमता विकसित नहीं कर पाता है। इसका अनिवार्य रूप से मतलब है कि उनका बोलने का कौशल समान उम्र के साथियों की तुलना में पिछड़ जाता है। एक औसत मानव बच्चा 2 से 3 साल की उम्र तक विभिन्न स्तरों की अभिव्यक्ति के साथ बुनियादी शब्द बोलना शुरू कर देता है।

इस उम्र के आसपास के बच्चे भी कम से कम एक भाषा में “हां” या “नहीं” जैसे प्रारंभिक शब्दों का अर्थ समझने लगते हैं। यदि इस उम्र के बच्चे को बुनियादी शब्दों की व्याख्या करने या उन्हें बोलने में परेशानी हो रही है, तो यह स्पीच डीले का संकेत हो सकता है।

यह एक सामान्य स्थिति है और कई कारकों के कारण हो सकती है।

क्यों होता है स्पीच डीले?

1. बातचीत के कम अवसर

यदि कोई बच्चा ज्यादातर अलग-थलग रहता है, या अक्सर वयस्कों को उनकी उपस्थिति में या उसके साथ बातचीत करते नहीं देखता है, तो उन्हें यह समस्या हो सकती है। यह केवल इसलिए है क्योंकि बच्चा जो कुछ भी सीखता है, वह अनिवार्य रूप से उसके आसपास के वातावरण की नकल करके सीखा जाता है। यदि किसी बच्चे को बातचीत का अधिक अनुभव नहीं मिलता है, तो उसे संवाद करने का तरीका सीखने में समस्या का सामना करना पड़ सकता है।

2. सेरेब्रल दोष

यह एक अंतर्निहित मस्तिष्क संबंधी समस्या से भी हो सकती है। स्पीच डीले को सेरेब्रल पाल्सी (cerebral palsy) और ऑटिज़्म (autism) सहित बौद्धिक अक्षमता के विभिन्न रूपों से जोड़ा गया है। इस प्रकार, यदि कोई बच्चा ऐसी किसी स्वास्थ्य समस्या के लक्षण प्रदर्शित कर रहा है, तो उन्हें बोलने के कौशल के विकास में देरी का अनुभव हो सकता है।

Yah ek samanya sthiti hai jise samay par janana jaroori hai
यह एक सामान्य स्थिति है जिसे समय पर जानना जरूरी है। चित्र:शटरस्टॉक

3. शारीरिक दोष

बोलने में देरी का एक सामान्य कारण श्रवण दोष हो सकता है। यह देखा गया है कि एक बच्चा वयस्कों को सुनकर और ध्वनियों की नकल करके शुरू में शब्दों का उच्चारण करना सीखता है। हालांकि, ऐसे परिदृश्य में जहां उन्हें सुनने में कठिनाई या पूर्ण हानि का सामना करना पड़ता है, उनके लिए भाषा को समझना कठिन हो जाता है और वे बोलना भूल जाते हैं।

बच्चे में स्पीच डीले के लिए निदान और उपाय

यह बच्चों में एक सामान्य घटना है और इसके कई कारण हो सकते हैं। अब सवाल यह उठता है कि इस समस्या को समय पर कैसे पहचाना जा सकता है और स्थिति को सुधारने के लिए क्या किया जा सकता है?

भाषण में संभावित देरी की पहचान करने के लिए, माता-पिता को विभिन्न लक्षणों के बारे में अच्छी तरह से सूचित और जागरूक होना चाहिए। आपका बच्चा अपने संज्ञानात्मक और बोलने के विकास में कैसे आगे बढ़ रहा है, इस पर नज़र रखना आवश्यक है। सीखने में किसी भी देरी के मामले में, आपको किसी विशेषज्ञ या डॉक्टर से जांच करानी चाहिए। किसी भी घरेलू उपचार को आजमाने से पहले विशेषज्ञ का मार्गदर्शन लें। बच्चे के सामाजिक-भावनात्मक विकास में स्पीच एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। अकादमिक सफलता के लिए स्पीच भी महत्वपूर्ण है।

सीखने के साथ लिखित और मौखिक संचार के स्पष्ट संबंध के अलावा, एकेडमिक्स में भाषण की अन्य भूमिकाएं भी हैं।

स्पीच डीले को ठीक करने के लिए आप और क्या कर सकते हैं?

अपने बच्चे की यात्रा को आगे बढ़ाने का एक अच्छा तरीका है उनके साथ बार-बार बातचीत करना और उन्हें सीखने और बढ़ने के अवसर देना। एक स्वस्थ और पोषण करने वाला वातावरण बच्चे के सीखने और प्रतिधारण को काफी हद तक बढ़ा सकता है, क्योंकि वे सुरक्षित और समर्थित महसूस करते हैं। इससे संबंधित एक विशेषज्ञ आपको बता पाएंगे कि क्या चिंता का कोई कारण है और आपको सही दिशा में ले जायेंगे।

अपनी रुचि के विषय चुनें और फ़ीड कस्टमाइज़ करें

कस्टमाइज़ करें
Bachcho ke liye healthy diet
सुनिश्चित करें कि आपका बच्चा हेल्दी डाइट का पालन करता है। चित्र:शटरस्टॉक

ऐसे कई समाधान उपलब्ध हैं जो भाषण के लिए कौशल-निर्माण में सहायता करते हैं। इनमें स्पीच थेरेपी, स्पीच पैथोलॉजिस्ट के साथ परामर्श, मनोवैज्ञानिक या नियमित चिकित्सक शामिल हैं।

यह भी जानिए

स्पीच डीले बच्चों में अक्सर होने वाली समस्या है और ज्यादातर मामलों में इसका समाधान किया जा सकता है। माता-पिता को सलाह दी जाती है कि वे अपने बच्चों के प्रति शांत और सहायक बनें जो इससे पीड़ित हो सकते हैं। क्या उम्मीद करनी है और अपने बच्चे की मदद कैसे करनी है, इस बारे में जागरूक होना एक अच्छा कदम हो सकता है। यदि आप अपने बच्चे में संभावित देरी के लक्षण देखते हैं, तो किसी विशेषज्ञ के साथ जांच करवाना और समय पर समस्या को रोकने या ठीक करने के लिए डॉक्टर की सलाह लेना सबसे अच्छा है।

यह भी पढ़ें: क्या आपका पेट भी आजकल अजीब आवाजें करता है? तो जानिए इनका कारण और बचाव के उपाय

  • 104
लेखक के बारे में

ये हेल्‍थ शॉट्स के विविध लेखकों का समूह हैं, जो आपकी सेहत, सौंदर्य और तंदुरुस्ती के लिए हर बार कुछ खास लेकर आते हैं। ...और पढ़ें

अगला लेख