बच्चे को दूध पिलाते वक्त निपल पेन से हैं परेशान, तो आपको राहत दे सकते हैं ये 8 घरेलू नुस्खे

Published on: 12 March 2022, 20:00 pm IST

नई मां के लिए स्तनपान कराना कठिन हो सकता है। खासकर तब जब आपके निपल्स में दर्द भी हो रहा हो। ऐसे में हम बता रहे हैं इस समस्या से निपटने के लिए कुछ घरेलू उपाय।

kya Breastfeeding ke baad nipples mein dard hota hai
ब्रेस्ट फीडिंग के लिए मांएं संतुलित डाइट से अतिरिक्त मात्रा लेंचित्र: शटरस्टॉक

अगर आप पहली बार मां बनी हैं, तो आपको ‘निपल्स में दर्द’ (Nipple Pain) का अनुभव हो सकता है। यह दर्द स्तनपान के दौरान बच्चे को गलत स्थिति में स्तनपान कराने के कारण भी हो सकता है। हर नई मां को यह समझने में समय लगता है कि स्तनपान के दौरान अपने बच्चे को किस तरह से लेकर स्तनपान कराना चाहिए। हर बार दूध पिलाने के बाद आप इस चिंता में रह सकती है कि उसने स्तनपान सही से करा है या नहीं, या उसका बच्चा भूखा तो नहीं रह गया है।

ब्रेस्टफीडिंग की वजह से हो सकती है निपल्स की समस्या

कुछ बच्चे जोर से निप्पल्स को चूस सकते हैं, जिससे निपल्स में दर्द की समस्या पैदा हो सकती हैं।

बच्चे के जन्म देने के बाद महिला का स्तन दूध से सूज जाता है। हालांकि कुछ समय बाद जब बच्चा स्तनपान करने लगता है तो यह ठीक हो जाते है। स्तनों के भारी होने से निप्पल में दर्द हो सकता है। कुछ बच्चे टंग टाइड (Tongue Tied) होते हैं उन्हें स्तनपान कराने में कठिनाई हो सकती है। दुर्लभ केसेस में गले में खराश होने के कारण ब्रेस्ट कैंसर या स्तन में संक्रमण भी हो सकते हैं। अगर आप स्तनपान और निप्पल्स में दर्द को लेकर चिंतित हैं तो आप एक प्रोफेशनल डॉक्टर से राय ले सकती हैं।

स्तनपान के कारण होने वाले निप्पल के दर्द का इलाज करने के लिए घरेलू इलाज

1. एप्पल साइडर विनेगर (ACV)

एक कप पानी में एक बड़ा चम्मच एप्पल साइडर विनेगर मिलाएं। अपने बच्चे को स्तनपान कराने के बाद, मिश्रण में एक रुई डुबोएं और रुई से अतिरिक्त तरल निचोड़ दें। इसे धीरे से अपने निप्पल और इसोला पर थपथपाएं। यह मिश्रण निप्पल में स्थित किसी भी बैक्टीरिया को नष्ट कर देगा और निप्पल को साफ रखेगा। इसके बाद एक चम्मच कच्चा नारियल तेल लें और इसे अपने निपल्स पर लगाएं। इससे आपका निप्पल फटेगा और सूखेगा नहीं।

2. टी ट्री ऑयल (Tea Tree Oil)

टी ट्री ऑयल की कुछ बूंदों को गुनगुने पानी में मिलाएं। इस मिश्रण में एक सूती कपड़ा भिगोएँ और धीरे से अपने निपल्स पर लगाएं। उन्हें सूखने दें और फिर साफ पानी से धो लें। यह गले में खराश के इलाज के लिए एक प्रभावी और आसान तरीका है।

3. ब्रेस्ट मिल्क निप्पल्स में लगाएं (Breast Milk)

यह एक अनूठा तरीका है लेकिन कभी-कभी स्तन का दूध अपने आप में निप्पल की खराश के लिए सबसे अच्छा उपाय हो सकता है। ऐसा इसलिए है क्योंकि स्तन के दूध में एंटी-बैक्टीरियल गुण होते हैं और यह सूखे, या फटे निपल्स को ठीक करने में मदद कर सकता है। अपने बच्चे को दिन में लगभग 4 से 5 बार दूध पिलाने के बाद अपने निपल्स पर थोड़ा सा स्तन का दूध लगाएं।

nipples par lagaen breast milk
अपने निपल्स पर ब्रेस्ट मिल्क लगाएं। चित्र : शटरस्टॉक

4. बर्फ के टुकड़े (Ice Cubes)

दर्द से पीड़ित निपल्स को राहत प्रदान करने के लिए कोल्ड कंप्रेस काम आ सकता है। एक सूती कपड़े में कुछ बर्फ के टुकड़े रखें और इसे अपने निप्पल पर लगभग दस मिनट के लिए हल्के से दबाएं। और ज्यादा राहत पाने के लिए आप इसे नियमित रूप से कर सकते हैं।

5. जैतून का तेल (Olive Oil)

गुनगुने पानी में एक बूंद टी ट्री ऑयल और एक बड़ा चम्मच जैतून का तेल मिलाएं। इस मिश्रण को कॉटन बॉल में भिगोकर अपने निपल्स पर लगाएं। इसे प्राकृतिक रूप से सूखने दें, और फिर पानी से धो लें और थपथपा कर सुखा लें। यह आपके निप्पल के दर्द को दूर करने में मदद करेगा।

6. एलोवेरा (Aloe Vera)

एलोवेरा को इसके कई सुखदायक गुणों के लिए जाना जाता है। एलोवेरा की पत्ती को काटकर उसके अंदर का जेल निकाल लें। इसे अपने निपल्स पर धीरे से लगाएं।

 faydemand hai aloevera
त्वचा की देखभाल करता है ऐलोवेरा। चित्र:शटरस्टॉक

7. टी बैग्स (Tea Bags)

कैमोमाइल टी बैग्स को कुछ देर के लिए गर्म पानी में भिगो दें। उसके बाद उन्हें पानी से बाहर निकालें और उन्हें एक नियत तापमान पर ठंडा होने दें। अतिरिक्त पानी निकालने के लिए टीबैग्स को निचोड़ें और उन्हें अपने निपल्स पर रखें। अपने बच्चे को दूध पिलाने से पहले अपने निपल्स को धोना न भूलें।

8. तुलसी के पत्ते (Tulsi Leaves)

तुलसी के पत्तों का उपयोग कई त्वचा से सम्बंधित संक्रमणों को ठीक करने के लिए किया जाता है और इसमें इलाज के बहुत गुण होते हैं। ये आपके निपल्स के दर्द को दूर करने में मदद कर सकते हैं। एक कप तुलसी के पत्ते लें और उन्हें पानी से धो लें। इन्हें पीसकर पेस्ट बना लें और इस पेस्ट में एक चम्मच शहद मिलाएं। मिश्रण को अपने निपल्स पर 30 मिनट के लिए लगाएं और स्तनपान कराने से पहले इसे धो लें। इसे आप दिन में 3 से 4 बार लगा सकती हैं।

पर्सनल हाइजीन का रखें ख्याल

निप्पल में दर्द की रोकथाम के लिए पर्सनल हाइजीन (व्यक्तिगत स्वच्छता) का ध्यान रखना बहुत जरूरी है। साफ और मुलायम ब्रा ही पहनें और हर दिन अपनी ब्रा बदलें। अपनी ब्रा धोते समय, केवल हल्के डिटर्जेंट का उपयोग करें। कठोर डिटर्जेंट से धोने से आपके निप्पल्स को दिक्कत हो सकती है।

यह भी पढ़ें : इन 6 लक्षणों को इग्नोर करना आपकी सेहत पर पड़ सकता है भारी, जानिए अपने स्वास्थ्य से जुड़े ये जरूरी संकेत

Dr. Ritu Sethi Dr. Ritu Sethi

Senior Consultant - Cloudnine Hospital, Sector - 14, Gurugram

स्वास्थ्य राशिफल

ज्योतिष विशेषज्ञ से जानिए क्या कहते हैं आपकी
सेहत के सितारे

यहाँ पढ़ें