और पढ़ने के लिए
ऐप डाउनलोड करें

गर्भावस्था के दौरान व्यायाम करना आपके होने वाले शिशु को स्वास्थ्य समस्याओं से बचा सकता है

Published on:22 March 2021, 20:19pm IST
गर्भावस्था के दौरान व्यायाम करना न केवल आपके स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद है, बल्कि आपके बच्चे की सेहत के लिए भी फायदेमंद हो सकता है। जानिये क्या कहता है अध्ययन।
टीम हेल्‍थ शॉट्स
  • 70 Likes
जानिए क्‍यों जरूरी है गर्भावस्‍था में व्‍यायाम करना। चित्र: शटरस्‍टॉक
जानिए क्‍यों जरूरी है गर्भावस्‍था में व्‍यायाम करना। चित्र: शटरस्‍टॉक

नए शोध बताते हैं कि गर्भावस्था के दौरान व्यायाम करने से महिलाओं को जीवन में बाद में मधुमेह और अन्य चयापचय रोगों के विकास की संभावना कम हो सकती है।

चूहों पर हुए एक अध्ययन में पाया गया है कि गर्भावस्था के दौरान व्यायाम, मोटे माता-पिता से उनके बच्चे को चयापचय संबंधी बीमारियों के संचरण को रोकते हैं। शोधकर्ताओं ने एक नए वैज्ञानिक पत्र में रिपोर्ट की, यदि यह शोध मानव में सत्य पाया जाता है, तो गर्भवती महिलाएं अपने होने वाले शिशु को एक स्वास्थ्य जीवन प्रदान कर पाएंगी।

इसका मतलब यह है कि महिलाएं गर्भवती होने के बाद डॉक्टर्स की सलाह से एक अच्छा एक्सरसाइज रूटीन फॉलो कर पाएंगी।

गर्भावस्था के दौरान व्यायाम करने से भ्रूण को क्या फायदा होता है?

“वर्जीनिया विश्वविद्यालय के एक शीर्ष व्यायाम विशेषज्ञ शोधकर्ता और पीएचडी, जेन यान, ने कहा कि “आज हम जिन बीमारियों के बारे में बात करते हैं उनमें से अधिकांश भ्रूण की उत्पत्ति के लिए जानी जाती हैं। यह कहना है कि गर्भावस्था से पहले और गर्भावस्था के दौरान माता-पिता की खराब स्वास्थ्य स्थिति, जीन के रासायनिक संशोधन के माध्यम से संभावित रूप से बच्चे के लिए नकारात्मक परिणाम देती हैं।

प्रेगनेंसी में व्‍यायाम करना आपके होने वाले शिशु के स्‍वास्‍थ्‍य के लिए फायदेमंद है। चित्र: शटरस्‍टॉक
प्रेगनेंसी में व्‍यायाम करना आपके होने वाले शिशु के स्‍वास्‍थ्‍य के लिए फायदेमंद है। चित्र: शटरस्‍टॉक

“हम अपनी पिछली रिसर्च से प्रेरित थे कि गर्भावस्था के पहले और दौरान एक गर्भवती मां के लिए नियमित एरोबिक व्यायाम बच्चे को मधुमेह की शुरुआत से बचा सकता है। इस अध्ययन में, हमने सवाल पूछा कि यदि एक मोटापे से ग्रस्त मां केवल गर्भावस्था के दौरान व्यायाम करती है और अगर पिता मोटे हैं तो क्या होगा?”

वैज्ञानिकों ने जाना कि गर्भावस्था के दौरान व्यायाम स्वस्थ शिशुओं को जन्म देने में मदद करता है, गर्भावस्था की जटिलताओं और समय से पहले प्रसव के जोखिम को कम करता है। लेकिन यान, यूवीए के रॉबर्ट एम. बर्न कार्डियोवास्कुलर रिसर्च सेंटर के स्किल सेंटर फॉर स्केलेटल मसल रिसर्च (Center for Skeletal Muscle Research) के निदेशक, यह देखना चाहते थे कि यह लाभ बच्चों के जीवन में जारी रहते हैं या नहीं?

अध्ययन कैसे किया गया था

यान और उनके सहयोगियों ने चूहों और उनकी संतानों का अध्ययन किया। कुछ वयस्क चूहों को गर्भावस्था के पहले और दौरान ठेठ चूहे खिलाए गए। जबकि अन्य को मोटापा बढ़ाने के लिए उच्च वसा, उच्च कैलोरी आहार खिलाया गया।

संभोग से पहले उच्च वसा वाले आहार प्राप्त करने वाले कुछ चूहे गर्भावस्था के दौरान रनिंग कर सकते थे, जबकि अन्य नहीं करते थे, जिसका अर्थ है कि वे गतिहीन रहे।

प्रेगनेंसी में व्‍यायाम आपके लिए भी मददगार है। चित्र: शटरस्‍टॉक
प्रेगनेंसी में व्‍यायाम आपके लिए भी मददगार है। चित्र: शटरस्‍टॉक

तो क्‍या रहा परिणाम

उच्च वसा समूह में माता और पिता दोनों अपने संतानों को चयापचय संबंधी विकारों के ज़िम्मेदार थे। विशेष रूप से, उच्च वसा वाले आहारों पर गतिहीन माताओं की संतानों को वयस्कता में उच्च रक्त शर्करा और अन्य चयापचय समस्याओं के विकास की अधिक संभावना थी।

अच्छी खबर यह है कि गर्भावस्था के दौरान व्यायाम ने “एपिजेनेटिक” परिवर्तनों के एक मेजबान को रोका जो संतानों के जीन के कामकाज को प्रभावित करते हैं। माताओं पर किये गये व्यायाम ने संतान पर माता या पिता के मोटापे के नकारात्मक प्रभावों को पूरी तरह से ख़त्म कर दिया।

यान ने कहा : “संदेश यह है कि अगर माँ खुद को गर्भवती पाती है तो व्यायाम शुरू करें। नियमित व्यायाम से न केवल गर्भावस्था और प्रसव बल्कि लंबे समय तक शिशु के स्वास्थ्य को भी लाभ होगा।

यह भी पढ़ें – क्या निपल्‍स पर बाल होना सामान्य है? हम बता रहे हैं इस बारे में सब कुछ

टीम हेल्‍थ शॉट्स टीम हेल्‍थ शॉट्स

ये हेल्‍थ शॉट्स के विविध लेखकों का समूह हैं, जो आपकी सेहत, सौंदर्य और तंदुरुस्ती के लिए हर बार कुछ खास लेकर आते हैं।