वैलनेस
स्टोर

कार्डियक अरेस्ट में जरूरी है 6 मिनट के भीतर कार्रवाई करना, यहां जानिए इसका प्राथमिक उपचार

Updated on: 8 March 2021, 09:52am IST
यदि पहले 6 मिनट के भीतर तत्काल कार्रवाई नहीं की जाती है तो सडन कार्डियक अरेस्ट जानलेवा हो सकता है। यहां हम आपको इसके बारे में सबकुछ बता रहे हैं।
टीम हेल्‍थ शॉट्स
  • 82 Likes
इंटरस्टीशियल लंग डिजीज की वजह से ह्रदय में गड़बड़ी हो सकती है. चित्र: शटरस्‍टॉक

सडन कार्डियक अरेस्ट (Sudden cardiac arrest) बिना किसी चेतावनी के होता है, जिससे दिल में ठहराव आ जाता है। यह एक इलैक्ट्रिकल मैलफंक्शन से पैदा होने वाले अनियमित दिल की धड़कन के कारण होता है जो हृदय को शरीर में रक्त को पंप करने से रोकता है।

सडन कारडियक अरेस्ट (Sudden cardiac arrest) में पहले 6 मिनट के भीतर हस्तक्षेप न करने पर अचानक मृत्यु हो जाती है। मानव हृदय प्रति मिनट 60-100 बीट्स पर धड़कता है और इस दर में कोई उतार-चढ़ाव होता है, या तो बहुत धीमी या बहुत तेज गति को हृदय एरिथमिया (cardiac arrhythmia) कहा जाता है। इसलिए, जो हृदय गति में अचानक वृद्धि का अनुभव कर रहे हैं या जिन्हें आनुवंशिक रूप से हृदय रोगों का खतरा है, वे एक घातक एरिथमिया का अनुभव कर सकते हैं।

क्या हैं सडन कार्डियक अरेस्ट के संकेत ?

  • कमजोरी महसूस
  • धड़कन का बढ़ना
  • ढहना
  • कोई पल्स नहीं 
  • सांस नहीं चलना
  • होश खो देना
  • सीने में बेचैनी
  • सांस लेने में तकलीफ
हृदय स्वास्थ्य का ख्याल रखना बेहद जरूरी है। चित्र-शटरस्टॉक।

जब कोई सडन कार्डियक अरेस्ट से पीड़ित हो तो आपको तुरंत क्या करना चाहिए

सडन कार्डियक अरेस्ट के पहले 6 मिनट सबसे महत्वपूर्ण होते हैं। यदि घटना के पहले छह मिनट के भीतर कार्डियोपल्मोनरी पुनर्जीवन (CPR) शुरू किया जाता है, तो जीवित रहने की संभावना दो गुना अधिक बढ़ जाती है, जिसके अभाव में रोगी जीवित नहीं रह सकता है। CPR में प्रभावित व्यक्ति की छाती पर हाथ रखना और उसे पंप करना जैसे कि हृदय मस्तिष्क में रक्त पंप कर रहा है। उत्तरजीविता तेज, उपयुक्त चिकित्सा देखभाल के साथ संभव है।

यह भी पढें: बढ़ती उम्र की समस्‍याओं को कम करना है, तो अपने एजिंग पेरेंट्स के आहार में करें ये 5 जरूरी बदलाव

सडन कार्डियक अरेस्ट और हार्ट अटैक में क्या अंतर है?

हार्ट अटैक और सडन कार्डियक अरेस्ट सबसे आम प्रकार के हृदय रोग हैं और ज्यादातर लोग दोनों स्थितियों में अंतर नहीं कर पाते हैं। हार्ट अटैक तब होता है जब हृदय को ऑक्सीजन की आपूर्ति करने वाली रक्त वाहिकाएं ब्लॉक हो जाती हैं जिसके परिणामस्वरूप छाती में दर्द होता है। दूसरी ओर, अचानक कार्डियक अरेस्ट तब होता है, जब अनियमित दिल की धड़कन रुक जाती है, जिससे अचानक मौत हो जाती है।

हार्ट अटैक एक ’परिसंचरण’ समस्या है जबकि सडन कार्डियक अरेस्ट एक इलैक्ट्रिकल ’समस्या है। 95% से अधिक मरीज अचानक कार्डियक अरेस्ट से नहीं बच पाते हैं। रोगी को उनके हृदय इलेक्ट्रोफिजियोलॉजिस्ट से मिलना चाहिए, जो यह पहचानने के लिए जोखिम स्तरीकरण करते सकते हैं, कि क्या रोगी को सडन कार्डियक अरेस्ट होने का खतरा है और उसे डिवाइस हस्तक्षेप की आवश्यकता है।

यह भी देखें:

सडन कार्डियक अरेस्ट के लिए उपचार के विकल्प क्या हैं

आमतौर पर एससीए के लिए उपचार में दो उपचार शामिल होते हैं:

इम्प्लांटेबल कार्डियोवर्टर डिफिब्रिलेटर (ICDs): 

यह पेसमेकर की तरह एक छोटी मशीन है जो एरिथमिया या असामान्य हृदय की ताल को प्रबंधित और सही करने में मदद कर सकती है। डिवाइस दिल की ताल की निरंतर निगरानी में भी मदद करता है और किसी भी असामान्यता का पता लगाने पर, हृदय की मांसपेशियों को सामान्य ताल बहाल करने के लिए एक शक्तिशाली झटका भेजता है। एक आईसीडीएस का उपयोग उन रोगियों द्वारा किया जा सकता है जो सडन कार्डियक अरेस्ट से बच गए हैं और जिन्हें एससीए का खतरा है और उनके हृदय की ताल की लगातार निगरानी की आवश्यकता है।

पारंपरिक सर्जरी (Interventional surgeries):

यह कोरोनरी हृदय रोग के रोगियों के लिए सबसे अच्छा काम करता है और इसमें हृदय की मांसपेशियों में रक्त के प्रवाह में सुधार के लिए एंजियोप्लास्टी (रक्त वाहिकाओं की मरम्मत) या बाईपास सर्जरी जैसी प्रक्रियाएं शामिल हैं। कार्डियोमायोपैथी या जन्मजात हृदय रोग के रोगियों के लिए भी, एक पारंपरिक प्रक्रिया की आवश्यकता हो सकती है।

एरिथमिया से पीड़ित लोग कैथेटर पृथक और बिजली के कार्डियोवर्सन और डिवाइस आरोपण जैसी प्रक्रियाओं से गुजर सकते हैं।

नियमित रूप से दिल की बीमारियों की जांच और दिल की सेहतमंद जीवनशैली जीने से कार्डियक अरेस्ट के जोखिम को कम किया जा सकता है।

यह भी पढें: बाथरूम में सेल फोन का इस्तेमाल आपके शारीरिक और मानसिक स्‍वास्‍थ्‍य के लिए हो सकता है खतरनाक

टीम हेल्‍थ शॉट्स टीम हेल्‍थ शॉट्स

ये हेल्‍थ शॉट्स के विविध लेखकों का समूह हैं, जो आपकी सेहत, सौंदर्य और तंदुरुस्ती के लिए हर बार कुछ खास लेकर आते हैं।