ब्लड शुगर लेवल को रखना है कंट्रोल, तो डायबिटीज के मरीज इस तरह करें अपनी दिनचर्या की शुरुआत

आप अपने दिन की शुरुआत किस तरह कर रही हैं, इसका आपकी सेहत पर काफी असर पड़ता है। खासतौर से जब आप डायबिटीज जैसी स्वास्थ्य स्थिति का सामना कर रही हों, तो यह और भी जरूरी हो जाता है।
डायबिटीज़ कंट्रोल में भी है योग फायदेमंद चित्र: शटरस्टॉक
अंजलि कुमारी Published on: 23 Jan 2023, 08:00 am IST
ऐप खोलें

दिन प्रतिदिन भारत में बढ़ते डायबिटीज के मामलों ने भारतीय खानपान एवं लाइफस्टाइल पर एक बड़ा सवाल खड़ा कर दिया है। आपने कभी सोचा है कि आखिर क्या कारण है, कि हम सभी डायबिटीज के शिकार होते जा रहे हैं। वहीं कम उम्र के लोग भी प्रीडायबिटीज के घेरे में आ जा रहे हैं। प्रीडायबिटीज एक ऐसी स्थिति है, जिसमें लोगों का ब्लड शुगर लेवल सामान्य रूप से ज्यादा होता है। परंतु डायबिटीज तक नहीं पहुंचता।

यदि इसे समय रहते नियंत्रित न किया जाए तो यह कुछ समय बाद डायबिटीज में तब्दील हो जाता है। हालांकि, डायबिटीज का सबसे बड़ा कारण खराब लाइफ़स्टाइल गलत, खानपान, शारीरिक स्थिरता के साथ साथ गलत तरीके से दिन की शुरुआत करना हो सकता है। ऐसे में इन बातों का ध्यान रखना बहुत जरूरी है। अन्यथा इस प्रकार हम बहुत जल्द डायबिटीज के आंकड़ों में चाइना को पीछे छोड़ते हुए नंबर एक पर पहुंच जाएंगे।

भारतीय योगा गुरु, योगा इंस्टीट्यूट की डायरेक्टर और टीवी की जानी-मानी हस्ती डॉक्टर हंसाजी योगेंद्र ने डायबिटीज के मरीजों के लिए एक उचित मॉर्निंग रूटीन सुझाई है, तो चलिए जानते हैं किस तरह डायबिटीज के मरीजों के लिए यह फायदेमंद हो सकती है।

यह भी पढ़ें : गले और दांत ही नहीं, डायबिटीज में भी खतरनाक हो सकती है इमली, जानिए कब आपको इमली नहीं खानी है

बिस्तर पर बैठकर कर सकती है योगासन। चित्र-शटरस्टॉक.

इस तरह करें अपने दिन की शुरुआत

1. बेड स्ट्रैचिंग करना है जरूरी

एक्सपर्ट के अनुसार सुबह उठते के साथ बेड पर कुछ स्ट्रेचिंग एक्सरसाइज करने से ब्लड शुगर लेवल को संतुलित रखने में मदद मिलती है। स्ट्रेचिंग एक्सरसाइज में शामिल है यास्तिकासन, पवनमुक्तासन और सूक्त वक्रासन। वहीं इनसे पहले आपको प्राणायाम करना है जिसे डायाफ्रामेटिक ब्रीदिंग। यह एक प्रकार की सामान्य पेट से सांस लेने की प्रतिक्रिया है, जो शरीर मे ब्लड सप्लाई और न्यूट्रीशन के सप्लाई को बढ़ा देती हैं। वहीं यह आपके शरीर में ऑक्सीजन की पर्याप्त मात्रा को सप्लाई होने में मदद करती है।

2. मॉर्निंग आंवला ड्रिंक

सुबह उठने के बाद लंबे समय तक अपने पेट को खाली न रखें। एक्सपर्ट के अनुसार आंवला हाई ब्लड शुगर से लेकर लो ब्लड शुगर की स्थिति में फायदेमंद होती है। ऐसे में सुबह उठकर आंवला से बने ड्रिंक का सेवन आपके लिए मददगार रहेगा। आपको एक गिलास गुनगुने पानी में एक चम्मच आंवला पाउडर और एक चौथाई चम्मच हल्दी पाउडर को डालकर अच्छी तरह मिला लेना है। और इसे सुबह खाली पेट पीना है। यह पूरे दिन आपके ब्लड ग्लूकोस लेवल को मेंटेन रखने में मदद करेगा।

यह भी पढ़ें : सिर से पांव तक की आपकी सेहत के लिए फायदेमंद है आंवला, यहां जानें चटपटी आंवला लौंजी की रेसिपी

3. भिगोए हुए मेथी के बीज

रोज रात को एक चम्मच मेथी के बीज को थोड़े से पानी में भिगोकर छोड़ दें। अगले दिन सुबह इसका सेवन करें। कई लोगों को मेथी का स्वाद कड़वा लगता है, तो यह जरूरी नहीं कि आपको मेथी के बीज को चबाकर खाना है, आप इसे हल्के गुनगुने पानी के मदद से सीधा निगल सकती हैं। यह आपके ब्लड शुगर लेवल को संतुलित रखने के साथ ही शरीर में होमियोस्टैसिस को मेंटेन रखने में मदद करता है।

मेथी के बीज रहेंगे फायदेमंद। चित्र शटरस्टॉक।

4. योगाभ्यास जरूर करें

नियमित रूप से सुबह उठकर कुछ अच्छे आसन और प्राणायाम का अभ्यास आपके समग्र सेहत को बनाए रखने में मदद करेगा। मसल्स मूवमेंट आपके शरीर में ब्लड फ्लो को बढ़ा देता है, इसके साथ ही मांसपेशियां अधिक से अधिक मात्रा में ग्लूकोज को अवशोषित कर पाती हैं। जो प्राकृतिक रूप से शरीर मे बढ़ते ग्लूकोज के स्तर को संतुलित रखने में मदद करता है। डायबिटीज के मरीजों को ताड़ासन और कोणासन जैसे योगाभ्यास को अपनी रुटीन में शामिल करना चाहिए।

5. सोच समझकर चुनें ब्रेकफास्ट रेसिपीज

एक्सपर्ट के अनुसार ब्रेकफास्ट में सलाद और कोई भी ऐसे व्यंजन जिनमें अधिक मात्रा में कैलरी मौजूद होती है उनसे पूरी तरह परहेज रखने की कोशिश करें। आप ब्रेकफास्ट में विभिन्न प्रकार की रोटी, पराठा, उपमा, इत्यादि का सेवन कर सकती हैं।

यह भी पढ़ें : सर्दियों में और भी ज्यादा जरूरी है हाइड्रेटेड रहना, कम पानी पी रही हैं, तो जानिए इसके स्वास्थ्य जोखिम

लेखक के बारे में
अंजलि कुमारी

इंद्रप्रस्थ यूनिवर्सिटी से जर्नलिज़्म ग्रेजुएट अंजलि फूड, ब्यूटी, हेल्थ और वेलनेस पर लगातार लिख रहीं हैं। ...और पढ़ें

Next Story