वैलनेस
स्टोर

क्या आपने जीका वायरस के बारे में सुना है? अगर नहीं, तो सुरक्षित रहने के लिए इस गाइड को पढ़ें

Published on:13 August 2021, 09:30am IST
जीका वायरस इन दिनों चर्चा में है। इसके प्रसार को रोकने के लिए और अधिक शोध किया जा रहा है, मगर इसके बारे में सब कुछ जानना महत्वपूर्ण है।
टीम हेल्‍थ शॉट्स
  • 83 Likes
zika virus kya hai
जानिए क्या है जिका वायरस. चित्र : शटरस्टॉक

कोविड -19 की तीसरी लहर के बढ़ते खतरे के बीच, महाराष्ट्र में जीका वायरस का पहला मामला दर्ज हुआ है, जिससे आने वाले दिनों में सावधानी बरतने की जरूरत है। हालांकि, जिस जिले में यह मामला सामने आया, वहां राज्य के स्वास्थ्य विभाग ने घर-घर जाकर सर्वेक्षण करने का फैसला किया है। राज्य के स्वास्थ्य विभाग की रिपोर्ट के अनुसार चिकनगुनिया और डेंगू के मामले भी बढ़ रहे हैं।

आपको जीका वायरस के बारे में क्यों जानना चाहिए?

जिस वायरस से जीका फैलता है वह डेंगू और चिकनगुनिया जैसा है। इसके लक्षण भी उनसे मिलते-जुलते हैं। ज्यादातर मामलों में, यह रोग फैलता नहीं है। जीका गर्भवती महिलाओं में जटिलताएं पैदा कर सकता है। संक्रमण माइक्रोसेफली (एक मस्तिष्क विकलांगता) या जन्मजात जीका सिंड्रोम नामक अन्य स्थितियों का कारण बन सकता है।

यह वायरस गर्भवती महिला से उसके भ्रूण में आसानी से पहुंच जाता है। यह यौन संपर्क और रक्त के माध्यम से भी फैल सकता है। अब, यह महत्वपूर्ण है कि लोग जीका के लक्षणों और अन्य वायरस जनित बीमारियों को पहचानें।

जीका वायरस के लक्षण

तेज बुखार
कांजक्टीवाइटिस
त्वचा पर चकत्ते / एलर्जी
सिर दर्द
मांसपेशियों और जोड़ों का दर्द
घबराहट और उल्टी
कभी-कभी ऊपरी और निचले अंगों की असामान्य कमजोरी

आप बचाव के लिए इन टिप्स का पालन कर सकते हैं

यह ध्यान रखना महत्वपूर्ण है कि यदि आप आवश्यक सावधानी बरतते हैं, तो चिंता की कोई बात नहीं है। हालांकि, यदि आप अपने शरीर में किसी भी परिवर्तन, विशेष रूप से ऊपर वर्णित लक्षणों को देखते हैं, तो तुरंत अपने चिकित्सक से परामर्श करें। यह न भूलें कि किसी भी देरी से जटिलताएं हो सकती हैं। इसके अलावा, खुद से दवाएं न लें। सुरक्षित रहने के लिए ये एहतियाती उपाय करें।

zika virus se bachaav ke upaay
जिका वायरस से खुद को बचाएं. चित्र : शटरस्टॉक

क्या करें और क्या नहीं

वायरस से पीड़ित लोगों से अनुरोध है कि वे घर के अंदर रहें, जितना हो सके आराम करें और खूब सारे तरल पदार्थ पिएं। गर्भवती महिलाओं को यात्रा करने से बचना चाहिए, मुख्यतः संक्रमित क्षेत्रों में। कोई विशिष्ट उपचार की आवश्यकता नहीं है, आमतौर पर यह एक सेल्फ-लिमिटिंग कंडीशन है।

चूंकि इसका कोई इलाज या टीका उपलब्ध नहीं है, इसलिए मच्छर के काटने के जोखिम को कम करना ही एकमात्र विकल्प है। चूंकि मच्छर ज्यादातर दिन के समय काटता है, इसलिए सुनिश्चित करें कि हर जगह साफ-सफाई हो हैं, किसी तरह का पानी का जमाव न हो और बर्तन और बाल्टी खाली करना महत्वपूर्ण है, क्योंकि मच्छर ऐसे पानी में अंडे देते हैं।

पूरी बाजू के कपड़े पहनें।
सुनिश्चित करें कि दरवाजे और खिड़कियां बंद हैं।
मच्छरों/कीट भगाने वाली दवाओं का प्रयोग करें।
उबला हुआ पानी ही पिएं।
घर का बना ताजा खाना ही खाएं।
बुखार के इलाज के लिए एस्पिरिन के प्रयोग से बचें।
यदि लक्षण बने रहते हैं, तो अपने डॉक्टर से मिलें।
सुनिश्चित करें कि आपका घर अच्छी तरह हवादार है।
अपने नाक और मुंह को अपने हाथ से छूने से बचें, खासकर अगर हाथ गंदे हैं।
वायरल संक्रमण के जोखिम को कम करने के लिए भीड़-भाड़ वाली जगहों पर जाने से बचें।

यह भी पढ़ें : खुद को यंग और एनर्जेटिक बनाए रखना है तो दिल से याद रखें ये 6 सेल्फ केयर टिप्स

टीम हेल्‍थ शॉट्स टीम हेल्‍थ शॉट्स

ये हेल्‍थ शॉट्स के विविध लेखकों का समूह हैं, जो आपकी सेहत, सौंदर्य और तंदुरुस्ती के लिए हर बार कुछ खास लेकर आते हैं।