Navratri Fasting 2022 : डायबिटीज है, तो उपवास में जोखिम से बचने के लिए फॉलो करें एक्सपर्ट के बताए टिप्स

Updated on: 2 April 2022, 10:32 am IST

आपकी श्रद्धा और सेहत जब दोनों एक-दूसरे के आड़े आ रहीं हों, तो जरूरी है कि कुछ जरूरी बदलाव किए जाएं। एक्सपर्ट उन्हीं के बारे में बता रहे हैं।

janiye fasting tips
जानिए आपको नवरात्रि व्रत के दौरान क्या करना चाहिए और क्या नहीं। चित्र : शटरस्टॉक

चैत्र नवरात्रि 2022 (Chaitra Navratri 2022) शुरू हो चुके हैं। शक्ति के नौ रूपों की उपासना में नौ दिन तक उपवास (Navratri Fasting 2022) रखने की परंपरा है। इसी के साथ भारत में नव वर्ष की शुरुआत मानी जाती है। वहीं कुछ राज्यों में इसे उगादि (Ugadi) अर्थात युग का प्रारंभ भी माना जाता है। उत्तर भारत में नवरात्रि को उपवास के साथ सेलिब्रेट किया जाता है। ये मौका होता है आहार में कुछ बदलाव कर, अपने शरीर को डिटॉक्स (Fasting for detox) करने का। पर अगर आप या आपके परिवार में कोई डायबिटीज से पीड़ित है तो उपवास ( navratri fasting for diabetes) रखना सेहत के लिए जोखिम भरा हो सकता है। इसलिए डायबिटीज के साथ हेल्दी फास्टिंग के लिए एक्सपर्ट आपको कुछ सुझाव दे रहे हैं। इन्हें नजरंदाज न करें।

हालांकि उपवास रखना हमारी सेहत के लिए काफी अच्छा माना गया है। लेकिन असमंजस की स्थिति तब उत्पन्न होने लगती है, जब हम डायबिटीज जैसी जीवनशैली संबंधी समस्या से पीड़ित हों। डायबिटीज के पेशेंट को डॉक्टर थोड़ी-थोड़ी देर में कुछ न कुछ खाने की सलाह देते हैं। ऐसे में व्रत रखना वह भी 9 दिन, डायबिटीज के मरीजों के लिए आसान नहीं है। क्योंकि छोटी सी लापरवाही भी आपकी सेहत पर गहरा प्रभाव डाल सकती है। हालांकि डायबिटीज के मरीज अपनी फलाहार डाइट पर नजर बनाए रखकर व्रत को सफलतापूर्वक संपन्न कर सकते हैं।

खास है नवरात्रि आहार

असल में नवरात्रि के व्रत के दौरान फलाहार के तौर पर खाए जाने वाले व्यंजन भी कई पौष्टिक तत्व प्रदान करते हैं। जो हमारी सेहत, खासकर हमारे ब्लड शुगर लेवल को नियंत्रण में रखने में सक्षम हैं। यदि आपकी ब्लड शुगर लेवल कम या बहुत ज्यादा है तो हम व्रत रखने से पहले आपको डॉक्टर से परामर्श लेने की सलाह देते हैं। पर यदि आपका ब्लड शुगर लेवल समान्य है, तो हमारी कुछ टिप्स आपको नवरात्र के पूरे 9 दिन अपना ब्लड शुगर लेवल बनाए रखने में सहायता करेंगे।

इन सुझावों के बारे में जानने के लिए हमने डॉ आदित्य जी हेगड़े, सलाहकार – मधुमेह और एंडोक्रिनोलॉजी, मणिपाल अस्पताल ओल्ड एयरपोर्ट रोड बैंगलोर से संपर्क किया।

डायबिटीज के रोगियों के लिए रिस्की है व्रत रखना

Dibates.Org पर मौजूद जानकारी के अनुसार, व्रत रखने के फायदे आपको तभी मिल सकते हैं, जब आप शारीरिक रूप से स्वस्थ हो। आपको उपवास करना चाहिए या नहीं यह आपकी शारीरिक स्थिति पर निर्भर करता है। हालांकि डायबिटीज के रोगियों के लिए उपवास रखना जोखिम और जटिलताओं से भरा है।

diabetes ke mareezon ke liye fasting tips
सोच समझ कर ही रखें नवरात्रि के व्रत। चित्र : शटरस्टॉक

यदि आप अपने ब्लड शुगर लेवल को मेंटेन करने के लिए इंसुलिन जैसी मेडिकेशन का इस्तेमाल करती हैं, तो व्रत रखना आपके ब्लड शुगर लेवल को काफी डाउन भी कर सकता है। वहीं इससे हाइपो हो सकता है, या आपके रक्त शर्करा का स्तर बहुत अधिक हो सकता है जिससे मधुमेह केटोएसिडोसिस (डीकेए) हो सकता है।

डायबिटीज के मरीजों को नवरात्रि के व्रत में इन टिप्स को फॉलो करना चाहिए :

1. व्रत रखने से पहले ब्लड शुगर लेवल की जांच

यदि आप किसी प्रकार का व्रत या उपवास रख रही हैं तो आपको अपनी ब्लड शुगर लेवल की जांच करते रहना अनिवार्य है। ताकि किसी भी प्रकार की शारीरिक समस्या महसूस होने पर समय से चिकित्सा सहायता मिल सके। नवरात्रि से 1 दिन पहले अपना फास्टिंग और पीपी दोनों प्रकार की शुगर जांच कराएं रखने का फैसला तभी लें जब आपका ब्लड शुगर लेवल सामान्य हो। अन्यथा डॉक्टर से परामर्श लेकर ही कोई काम करें।

2. खुद को हाइड्रेटेड रखें

डॉ आदित्य जी हेगड़े सुझाव देते हैं कि डायबिटीज की समस्या से जूझ रहे रोगियों को व्रत रखते समय भी उचित आहार योजना का ध्यान रखना और खुद के शरीर में पानी की कमी न होने देने का ख्याल रखना चाहिए। कोशिश करें कि ज्यादा से ज्यादा पानी पिए और अपनी दैनिक पानी की जरूरत को पूरा करें। आपके शरीर में पर्याप्त पानी आपकी ऊर्जा को बरकरार रखने में आपकी सहायता करेगा।

Paryapta matra me paani peena heart failure ke jokhim ko kam karta hai
पर्याप्त मात्रा में पानी पीना हार्ट अटैक के जोखिम को कम करता है। चित्र: शटरस्टॉक

3. तले भुने से करें परहेज

ज्यादातर लोग व्रत में तले भुने भोजन का सेवन करते हैं, फिर चाहे वह आलू के पापड़ हों या फिर आलू फ्राई। व्रत में ही काफी ज्यादा पसंद किए जाते हैं। हालांकि यदि आप डायबिटीज के रोगी हैं तो डॉ आदित्य जी हेगड़े सलाह देते हैं कि आप व्रत के दौरान कम से कम तला भुना खाने का प्रयास करें। इसके बजाय आप एक प्रॉपर फ्रूट डाइट पर व्रत रख सकती हैं। और कुछ डेरी उत्पादक भी अपनी डाइट में शामिल कर सकती हैं।

4. दवाएं न छोड़ें

डायबिटीज के रोगियों को समय पर अपनी दवा लेना बहुत ज्यादा अहम है। उपवास के दौरान भी आपको दवा लेना जरूरी है क्योंकि दवा की एक भी खुराक का त्याग करना आपकी सेहत के लिए काफी ज्यादा नुकसानदायक हो सकता है। अपने डॉक्टर से परामर्श लें और कोशिश करें कि अपनी दवा को दूध के साथ खाएं।

लेडीज यदि आपके डायबिटीज की दिक्कत है तो अपने आप को नवरात्रि के लिए तैयार करें पर इन टिप्स का पालन करें। किसी भी प्रकार की शारीरिक समस्या होने पर डॉक्टर से परामर्श लेना आपका पहला कदम होना चाहिए।

यह भी पढ़ें : Navratri 2022 : अपने व्रत की शुरुआत करें कुछ टेस्टी और लाइट खाकर, जानिए साबुदाना पराठे की रेसिपी

अक्षांश कुलश्रेष्ठ अक्षांश कुलश्रेष्ठ

सेहत, तंदुरुस्ती और सौंदर्य के लिए कुछ नई जानकारियों की खोज में

स्वास्थ्य राशिफल

ज्योतिष विशेषज्ञ से जानिए क्या कहते हैं आपकी
सेहत के सितारे

यहाँ पढ़ें