फोन और गैजेट्स ने मुश्किल कर दिया है सोना? तो इन 3 योगासनों का करें बिस्तर पर अभ्यास

रात की नींद न केवल आपको अगले दिन के लिए तैयार करती है, बल्कि यह आपको लंबी उम्र भी देती है। इसलिए मोबाइल को बेडरूम से बाहर निकालें और इन योगासनों का अभ्यास करें।

gunguna pani apko behtar neend lene me madad karta hai
गुनगुना पानी आपको बेहतर नींद लेने में मदद करता है। चित्र : शटरस्टॉक
अक्षांश कुलश्रेष्ठ Published on: 10 March 2022, 22:00 pm IST
  • 110

आज के वक्त में रात को नींद न आने की समस्या युवाओं में एक आम समस्या बनकर सामने आ रही है। रात को देर तक मोबाइल चलाना और फिर मोबाइल रखने के बाद भी नींद न आना कई प्रकार की शारीरिक समस्याओं व मानसिक तनाव का कारण बन सकता है। मोबाइल की एडिक्शन इतनी ज्यादा हो जाती है कि हम चाह कर भी रात को मोबाइल से दूर नहीं रह पाते। जिसका खामियाजा हमारी नींद को उठाना पड़ता है। मगर चिंता न करें, क्योंकि इस स्थिति से बाहर निकलने में योग आपकी मदद कर सकता है। यहां हम उन योगासनों के बारे में बताने जा रहे हैं, जिन्हें आप बिस्तर पर ही कर सकती हैं। 

अर्ली डेथ का कारण बन सकती हैं नींद में कमी 

रात को नींद न पूरी होने से आपको थकावट, कर्कश, घबराहट, गुस्से के अलावा भी बहुत सारी समस्याएं मिल सकती हैं। जिनके बारे में शायद ही आपको जानकारी हो। नींद की कमी से दीर्घकालिक प्रभाव वास्तविक हैं। यह आपकी मानसिक क्षमताओं को खत्म कर देता है और आपके शारीरिक स्वास्थ्य को वास्तविक जोखिम में डालता है। 

आपकी मेंटल हेल्थ पर असर डालता है कम सोना। चित्र : शटरस्टॉक

वजन बढ़ने से लेकर कमजोर इम्यूनिटी तक, विज्ञान ने खराब नींद को कई स्वास्थ्य समस्याओं से जोड़ा है। यह आपकी असामयिक मृत्यु (Early death) का कारण भी बन सकता है। दरअसल 2010 में हुए अध्ययनों का एनसीबीआई पर मौजूद डाटा बताता है, कि रात में बहुत कम सोने से असमय मृत्यु का खतरा बढ़ जाता है।

मानसिक स्वास्थ्य पर असर डालती है नींद की कमी 

हमारा सेंट्रल नर्वस सिस्टम पूरे शरीर का एक सूचना राजमार्ग है। जिस को बेहतर ढंग से काम करने के लिए एक अच्छी नींद की जरूरत होती है। लेकिन नींद न आने की बीमारी शरीर को आमतौर पर जानकारी भेजने और संसाधित करने के तरीकों को बाधित कर सकती है। यदि नींद की कमी लंबे समय तक बनी रहती है, तो आपको मतिभ्रम होना शुरू हो सकता है ।  न सो पाने के मनोवैज्ञानिक जोखिमों में शामिल हैं:

  1. चिंता
  2. डिप्रेशन
  3. पागलपन
  4. आत्मघाती विचार
  5. इम्पल्सिव बिहेवियर

पाचन क्रिया पर भी नकारात्मक प्रभाव डालती है नींद की कमी

आपकी नींद की कमी से आपकी पाचन क्रिया का गहरा संबंध है। दरअसल नींद की कमी अधिक वजन और मोटापे के पीछे का एक मुख्य कारण है। जब हमारी नींद पूरी नहीं होती तो यह हमारे दो हॉर्मोन्स को प्रभावित करता है। जिसमें, लेप्टिन और घ्रेलिन के में उतार-चढ़ाव देखने को मिलता है। पर्याप्त नींद के बिना, आपका मस्तिष्क लेप्टिन को कम करता है और घ्रेलिन को बढ़ाता है, जिससे आपकी भूख बढ़ जाती है। 

वहीं दूसरी तरफ नींद की कमी हमें अंदर से इतना थका देती है कि हमारा शरीर व्यायाम करने के लिए पर्याप्त ऊर्जा नहीं जुटा पाता। समय के साथ, कम शारीरिक गतिविधि आपका वजन बढ़ा सकती है और आपके पाचन पर प्रभाव डाल सकती हैं।

अगर आप भी नींद न आने की समस्या से परेशान हैं, तो योग आपकी मदद कर सकता है 

कुछ ऐसे बेड टाइम योग हैं, जिनका रोजाना नियमित रूप से अभ्यास करने से आपको नींद ना आने की समस्या व अनिद्रा के लक्षणों को प्रबंधित करने में मदद मिल सकती है। इनकी मदद से आप जल्दी सो सकती हैं।

रात को यदि नींद खुलने के बाद आपको नींद नहीं आती, उस स्थिति में भी यह योग आपकी सहायता करेंगे। चलिए जानते हैं कौन से हैं वह योगासन जो आपको बेहतर नींद दे सकते हैं।

  1. लेग्स अप ( Legs Up)

1: अपने कूल्हों के नीचे एक कुशन या मुड़ा हुआ कंबल रखें, और दीवार के सामने अपने दाहिने हिस्से के साथ बैठें, घुटनों को मोड़कर और अपने पैरों को अपने कूल्हों की ओर खींचे।

2: अपनी पीठ के बल लेटने के लिए अपने पैरों को दीवार से सटाएं। अपने कूल्हों को दीवार के सामने या थोड़ा दूर रखें। अपनी बाहों को आरामदायक स्थिति में रखें।

 3: इस स्थिति में 20 मिनट तक रहें और फिर धीरे से दीवार से दूर धकेलते हुए मुद्रा को छोड़ दें।

 4: कुछ क्षणों के लिए अपनी पीठ के बल आराम करें।

sleep ke liye yogasana
अच्छी नींद में मदद करेगा यह आसान। चित्र : शटरस्टॉक
  1. रिक्लाइंड बटरफ्लाई

 

  1. आपने ज्यादातर बटरफ्लाई को बैठकर किया होगा लेकिन रिक्लाइंड बटरफ्लाई योगा को आपको लेट कर करना है।
  2. योगा मैट पर लेट जाएं और अपने पैर खोल लें।
  3. अब अपने पैरों को बटरफ्लाई के पंखों की तरह मूव करें बिल्कुल वैसे ही जैसे बैठकर करते हैं। यदि आप का बैलेंस नहीं बन रहा है, तो आप अपने पार्टनर की भी हेल्प ले सकती हैं। 

 

  1. चाइल्ड पोज
backache ke liye yoga
बालासन भी आएगा आपके काम। चित्र-शटरस्टॉक।
  1. सबसे पहले घुटनों और अपनी कोहनी के बल मैट पर सोने से पहले बैठें। यह मुद्रा बिल्कुल एक गाय की मुद्रा की तरह है। ध्यान रहे कि आपके बड़े पैर की उंगलियां छू रही हों।
  2. अपनी रीढ़ को सीधा रखते हुए, अपने कूल्हों को वापस अपने पैरों की ओर नीचे करें।
  3. बाहों को अपने सामने फैलाएं या उन्हें अपने शरीर के साथ आराम दें।
  4. 2-3 मिनट के लिए या गहरी सांस लेते हुए इसी मुद्रा में रहें।

यह भी पढ़े : World Kidney Day : जानिए आप किडनी डिसऑर्डर के जोखिम से खुद को कैसे बचा सकती हैं

  • 110
लेखक के बारे में
अक्षांश कुलश्रेष्ठ अक्षांश कुलश्रेष्ठ

सेहत, तंदुरुस्ती और सौंदर्य के लिए कुछ नई जानकारियों की खोज में

पीरियड ट्रैकर

अपनी माहवारी को ट्रैक करें हेल्थशॉट्स, पीरियड ट्रैकर
के साथ।

ट्रैक करें
nextstory