डायबिटीज भी हो सकती दिन भर की थकान का कारण, जानिए इससे बचने के उपाय

Published on: 1 February 2022, 11:00 am IST

भारत आज दुनिया में दूसरा सबसे बड़ा मधुमेह प्रभावित देश है। ऐसे में यदि आप भी डायबिटीज से होने वाली थकान से जूझ रही हैं, तो हमारे पास हैं इससे छुटकारा पाने के कुछ उपाय।

beemar hain aur exercise karne ja rahi hain , toh ek bar ruke
बीमार हैं और एक्सरसाइज करना चाह रहीं हैं तो एक बार रुकें। चित्र: शटरस्टॉक

डबल्यूएचओ के अनुसार भारत में कुल 77 मिलियन लोग डायबिटीज से पीड़ित हैं और ये आंकड़ा लगातार बढ़ रहा है। सिर्फ एक डायबिटीज कई बीमारियों का कारण बन सकती है। ऐसे में यदि आपको डायबिटीज है तो हर समय की थकान आपको काफी परेशान करती होगी। यदि आपको नहीं पता है तो बता दें कि डायबिटीज की थकान अलग होती है और यह रेस्ट करने से ठीक नहीं होती है। इसे डायबिटीज फटीग सिंड्रोम ( Diabetes Fatigue Syndrome) के नाम से भी जाना जाता है।

अमेरिकन डायबिटीज एसोसिएशन के अनुसार, टाइप 2 मधुमेह वाले 61 प्रतिशत लोग थकान को एक लक्षण के रूप में रिपोर्ट करते हैं। इसी अध्ययन में पाया गया कि डायबिटीज में थकान दूसरा सबसे आम लक्षण है।

मधुमेह थकान का कारण क्यों बनता है?

थकान मधुमेह का एक सामान्य लक्षण है। मधुमेह के कारण थकान होने के कई कारण हो सकते हैं, जिनमें शामिल हैं:

रक्त शर्करा के स्तर में परिवर्तन
मधुमेह के अन्य लक्षण
डायबिटीज की जटिलताओं
मधुमेह से उत्पन्न मानसिक और भावनात्मक मुद्दे
बहुत मोटा होना

diabetes mein thakan ho sakti hai
डायबिटीज में आपको थकान हो सकती है। चित्र : शटरस्टॉक

तो क्या हर डायबिटिक व्यक्ति थकान महसूस करता है?

यदि आपका ब्लड शुगर सामान्य रूप से अच्छी तरह से प्रबंधित है, तो आपको अधिक थकान का अनुभव नहीं होना चाहिए। लेकिन अगर आपका ब्लड शुगर बहुत अधिक उतार-चढ़ाव करता है या लंबे समय तक उच्च रहता है, तो थकान एक साइड इफेक्ट हो सकता है।

जीवनशैली में कुछ बदलाव मधुमेह की थकान को प्रबंधित करने में मदद कर सकते हैं

खाना न छोड़ें

यह तो हम सभी जानते हैं कि खाना हमें ऊर्जा प्रदान करता है। भोजन छोड़ने से रक्त शर्करा के स्तर में उतार-चढ़ाव हो सकता है। इससे आपका ऊर्जा का स्तर प्रभावित हो सकता है। इसलिए खाना समय पर खाएं और नियमित अंतराल पर लें।

खूब सारा पानी पिएं

हमारे शरीर की सभी विभिन्न कोशिकाओं को अपना कार्य करने के लिए पर्याप्त तरल पदार्थ की आवश्यकता होती है। अगर आपकी कोशिकाएं ठीक से काम नहीं कर पाती हैं, तो आपको अत्यधिक थकान का अनुभव हो सकता है।

Khud ko rakhe hydrated
खुद को रखें हाईड्रेटेड। चित्र : शटरस्टॉक

पर्याप्त नींद लें

अच्छी नींद लेना शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य को बनाए रखने के लिए बेहद महत्वपूर्ण है। इसलिए यदि आप रात को अच्छी नींद नहीं ले रही हैं तो थकान लगना स्वाभावित है। तो रात को कम से कम 7 से 8 घंटे की नींद लें।

प्रत्येक भोजन में वसा, फाइबर और प्रोटीन खाएं

ऊर्जा के स्तर को बढ़ाना काफी हद तक यह सुनिश्चित करने से जुड़ा होता है कि हम रक्त शर्करा के स्तर को नियंत्रित करने के लिए हर संभव प्रयास करें। इसलिए, भोजन को वसा, फाइबर और प्रोटीन के साथ संतुलित करें।

शारीरिक गतिविधि बनाए रखें

मधुमेह रोगियों एक लिए शारीरिक गतिविधि करना बहुत ज़रूरी है। दिन में हल्की एक्सरसाइज़ या योगा आपको पूरे दिन ऊर्जा का स्तर बनाए रखने में मदद करेगा। इसलिए नियमित योगाभ्यास करें या वॉक पर जाएं।

यह भी पढ़ें : डेंटल फ्लॉस या इलेक्ट्रिक टूथब्रश नहीं, बल्कि विटामिन डी है आपकी ओरल हेल्थ का रक्षक

ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ

प्रकृति में गंभीर और ख्‍यालों में आज़ाद। किताबें पढ़ने और कविता लिखने की शौकीन हूं और जीवन के प्रति सकारात्‍मक दृष्टिकोण रखती हूं।

स्वास्थ्य राशिफल

ज्योतिष विशेषज्ञ से जानिए क्या कहते हैं आपकी
सेहत के सितारे

यहाँ पढ़ें