फीवर के दौरान बढ़ रही है डिहाइड्रेशन, तो ये 5 इलेक्ट्रोलाइट ड्रिंक्स दे सकती हैं राहत

शरीर का बाहरी वायरस से निपटने का अपना मैकेनिज़्म है। बुखारा इसी मैकेनिज़्म का हिस्सा है। पर इसके साथ शरीर को हाइड्रेट बनाए रखना जरूरी है।

natural-electrolytes-drinks
इलैक्ट्रोलाइट ड्रिंक आपको बुखार में भी हाइड्रेटेड रखेंगी। चित्र:शटरस्टॉक
निशा कपूर Published on: 20 September 2022, 19:34 pm IST
  • 148

बुखार होना एक आम स्वास्थ्य परेशानी है। आमतौर पर मौसम में बदलाव होने पर ज्यादातर लोग बुखार का सामना करते हैं। इसके अलावा कीटाणुओं के संक्रमण की वजह से भी व्यक्ति को बुखार होता है। ऐसे में व्यक्ति के शरीर का तापमान सामान्य से अधिक हो जाता हो है। जिसकी वजह से शरीर डिहाइड्रेट हो जाता है। शरीर में पानी की कमी अन्य कई गंभीर बीमारियों का कारण बन सकता है। इसलिए, बुखार होने पर यह सलाह दी जाती है कि व्यक्ति अपना लिक्विड इनटेक बढ़ा दें। अगर आप भी बुखार के साथ डिहाइड्रेशन महसूस कर रहीं हैं, तो ये 5 नेचुरल इलैक्ट्रोलाइट्स दे सकते हैं आपको राहत।

Fever aapko weak bana deta hai
बुखार आपको कमजोर बना देता है। चित्र: शटरस्‍टॉक

क्या है बुखार

बुखार एक संकेत है, जिसका मतलब है कि शरीर किसी बीमारी या संक्रमण से लड़ रहा है। माना जाता है कि हमारे शरीर का सामान्य तापमान व्यक्ति विशेष, आयु और उसकी शारीरिक गतिविधियों पर निर्भर करता है। एनसीबीआई (National Center for Biotechnology Information) की साइट पर प्रकाशित मेडलाइन प्लस (medline plus) की रिसर्च के आधार पर शरीर का सामान्य तापमान 98.6 डिग्री फेरनहाइट (37 डिग्री सेल्सियस) माना गया है।

बुखार में शरीर का तापमान सामान्य से ज्यादा हो सकता है। जब शरीर का टेंपेरेचर 100.4° F (38 °C) या उससे अधिक हो जाता है, तो उसे बुखार माना जाता है। तेज बुखार में तापमान 103.1° F (39.5 °C) और बहुत तेज बुखार में 105.8 °F (41 °C) पहुंच जाता है।

बुखार में बढ़ जाता है डिहाइड्रेशन का जोखिम

डॉ. रितु पुरी, एम.एससी, सी. डी. ई., डाइटीशियन कहती हैं कि जब व्यक्ति बीमार होता है या फिर उसे बुखार होता है तो ऐसे में उसकी कुछ भी खाने की इच्छा नहीं होती है। ऐसे में फलों के रस का सेवन करने से ना केवल उसके मुंह का स्वाद अच्छा होता है और भूख का अहसास होता है।

बल्कि इसके सेवन से कई तरह के महत्वपूर्ण पोषक तत्व भी मिलते हैं। चूंकि, बुखार में व्यक्ति को डिहाइड्रेशन की समस्या होने की संभावना भी कई गुना बढ़ जाती है। लेकिन जब आप जूस का सेवन करते हैं, तो इससे आपकी बॉडी हाइड्रेट रहती है।

यह भी पढ़े- आपकी बोन हेल्थ के लिए फायदेमंद है साबूदाना, नोट कीजिए शुगर फ्री साबूदाना खीर की रेसिपी

वायरल फीवर में आपको हाइड्रेट रखने में मदद करेंगे ये 5 नेचुरल ड्रिंक

1. नारियल पानी (Coconut Water)

नारियल पानी, इलेक्ट्रोलाइट्स से भरपूर हैं। इसमें सोडियम, पोटेशियम, कैल्शियम और मैग्नीशियम सहित कई तरह के इलेक्ट्रोलाइट्स मौजूद होते हैं। 1 कप नारियल पानी में 46 कैलोरी होती है, जो कि शरीर में तेजी से इलेक्ट्रोलाइट की कमी को पूरा कर सकती हैं। इसके साथ ही ये शरीर की एनर्जी बढ़ाती है और कमजोरी को दूर करती है।

2. खीरे का जूस (Cucumber Juice)

खीरे का जूस पीने से शरीर को कई इलेक्ट्रोलाइट्स मिल जाते हैं। जैसे कि जिंक, कैल्शियम और फास्फोरस आदि। इसके अलावा इसमें पोटेशियम और मैग्नीशियम समेत कई अमीनो एसिड भी शामिल होते हैं जो कि खून में खनिज तत्वों को बढ़ावा देते हैं। इसे पीने से शरीर में एनर्जी तो आती है इसके साथ ही शरीर हाइड्रेट रहता है। जिससे शरीर के तापमान में कमी आती है।

santre ke nuksaan
संतरा आपके लिए बेहद लाभकारी है। चित्र:शटरस्टॉक

3. संतरे का जूस (Orange Juice)

संतरे का जूस विटामिन सी से भरपूर है। साथ ही इस जूस में कई एंटीऑक्सीडेंट्स होते हैं जो कि शरीर की एनर्जी बढ़ाते हैं। संतरे का जूस पीने से आप वायरल और बैक्टीरियल इंफेक्शन से भी बच सकते हैं इसके अलावा यह आपकी इम्यूनिटी बिल्ड करता है और आपको हेल्दी रखता है।

4. चुकंदर का जूस (Beetroot Juice)

चुकंदर के जूस पीने से शरीर को कई सारे फायदे मिलते हैं। ये जहां शरीर की एनर्जी बढ़ाता है वहीं ये ब्लड प्रेशर संतुलित रखने में सहायता भी करता है। असल में, बुखार में कई बार कमजोरी की वजह से लो ब्लड प्रेशर की परेशानी हो जाती है। इसके साथ ही आयरन की कमी से भी कमजोरी होने लगती है। ऐसी स्थिति में आप चुकंदर का जूस ले सकते हैं क्योंकि ये लो ब्लड प्रेशर को संतुलित रखता है और शरीर की कमजोरी दूर करता है।

5. एवोकाडो जूस (Avocado Juice)

एवोकाडो पोटेशियम से भरपूर है। शरीर में इलेक्ट्रोलाइट्स की कमी में एवोकाडो खा लें या इसका जूस बना कर पी लें। ये एनर्जी तो बूस्ट करेगी ही, बल्कि इम्यूनिटी बढ़ाने में भी सहायता करेगा। यदि आपको वायरल फीवर हुआ है और कमजोरी हो रही है तो आप इन जूस का सेवन कर सकते हैं।

यह भी पढ़े- हाथों को नर्म-मुलायम बनाने के लिए मां बनाती हैं ग्लिसरीन माॅइश्चराइजर, एक्सपर्ट बता रहीं हैं इसके फायदे 

  • 148
लेखक के बारे में
निशा कपूर निशा कपूर

देसी फूड, देसी स्टाइल, प्रोग्रेसिव सोच, खूब घूमना और सफर में कुछ अच्छी किताबें पढ़ना, यही है निशा का स्वैग।

पीरियड ट्रैकर

अपनी माहवारी को ट्रैक करें हेल्थशॉट्स, पीरियड ट्रैकर
के साथ।

ट्रैक करें
nextstory