वैलनेस
स्टोर

डियर लेडीज, 30 की उम्र से पहले आपको बढ़ा लेनी चाहिए अपनी कैल्शियम की खुराक, जानिए इसके पीछे का कारण

Published on:16 February 2021, 15:23pm IST
महिलाओं को ऑस्टियोपोरोसिस जैसी हड्डियों से संबंधित बीमारियों से पीड़ित होने का अधिक खतरा है। जिसे केवल शरीर में कैल्शियम के भंडार का निर्माण करके से कम किया जा सकता है।
टीम हेल्‍थ शॉट्स
  • 79 Likes
30 की उम्र से पहले ही आपको अपनी कैल्शियम की खपत बढ़ा देनी चाहिए। चित्र: शटरस्‍टॉक

हम सभी जानते हैं कि हमारी हड्डियों को स्वस्थ रखना कितना महत्वपूर्ण है। हड्डियां मूल रूप से हमारे शरीर का ढांचा हैं। इस ढांचे के किसी भी हिस्से के साथ कोई एक समस्या भी हमारे शरीर पर गहरा प्रभाव डाल सकती है, जिससे दर्द और अन्‍य समस्याएं हो सकती हैं। इसलिए, हमें अपनी हड्डियों की अतिरिक्त देखभाल करने की आवश्यकता है। इसके लिए आपको अपने शरीर में कैल्शियम के स्तर को बनाए रखना रखना महत्वपूर्ण है।

कैल्शियम वास्तव में आपकी हड्डियों को कैसे मजबूत रखता है?

हमारी हड्डियां शरीर में कैल्शियम का मुख्य भंडारण स्थान (storage space) हैं। बोन मास (bone mass) को बनाए रखने के लिए मिनरल्स आवश्यक हैं। यह एक मजबूत कंकाल की कुंजी है जो शरीर का समर्थन कर सकता है। बहुत से लोगों को यह एहसास नहीं है कि हमारे पूरे जीवनकाल में, पुरानी हड्डियां टूट जाती हैं और उन्हें नई हड्डियों द्वारा प्रतिस्थापित किया जाता है। हड्डियों के टूटने और उनके निर्माण का यह कार्य मुख्य रूप से कैल्शियम पर टिका हुआ है।

कैल्शियम का स्तर हमारी हड्डियों के स्वास्थ्य को निर्धारित करता है। इसलिए, आपको अपनी हड्डियों को स्वस्थ रखने के लिए बोन मास (bone mass) को बनाए रखने की आवश्यकता है।

बोन मास (bone mass) वास्तव में क्या है और हमें इसे बनाए रखने पर ध्यान देने की आवश्यकता क्यों है?

यह अनिवार्य रूप से कैल्शियम सहित हमारी हड्डियों में विभिन्न मिनरल्स के स्तर को संदर्भित करता है। बोन मास को जीवन के शुरुआती वर्षों में विकसित करने की आवश्यकता होती है।

"<yoastmark

हमारे शरीर की सभी प्रक्रियाओं की तरह, हड्डियों के टूटने-गिरने और निर्माण की प्रक्रिया हमारे जीवन के बाद के वर्षों में धीमी हो जाती है। हम 25 और 30 साल की उम्र के बीच बोन डेंसिटी (bone density) के चरम तक पहुंचते हैं। मान लीजिए कि हमारी हड्डियां कैल्शियम के अवशोषण को काफी हद तक कम कर देती हैं। इससे पहले कि हम अपने जीवन के तीसरे दशक तक पहुंचें, हमारी हड्डियां उस कैल्शियम पर बहुत अधिक निर्भर रहने लगती हैं, जो हमारे शरीर में पहले से निर्मित है।

यह पुरुषों की तुलना में महिलाओं को बहुत अधिक प्रभावित करता है

महिलाओं में पहले से ही पुरुषों की तुलना में हड्डियों के ऊतक कम होते हैं, लेकिन कैल्शियम के अवशोषण में यह कमी अधिक तेज हो जाती है, क्योंकि हम एस्ट्रोजेन के स्तर में नाटकीय परिवर्तन के कारण मेनोपॉज (menopause) तक पहुंचते हैं। सिर्फ इतना ही नहीं, वे महिलाएं जिन्हें थायरॉयड जैसी हार्मोनल समस्याएं हैं, वे हड्डियों की समस्याओं के लिए खुद को और भी अधिक अतिसंवेदनशील पा सकती हैं।

ये कारक अंततः बोन मास में कमी का कारण बनते हैं, जिसके कारण भुरभुरी हड्डियां (brittle bones) जो आसानी से टूट जाती हैं, साथ ही गंभीर दर्द और मोबिलिटी जैसी गंभीर समस्याएं (mobility issues) पैदा हो सकती हैं।

क्‍या हो सकते हैं कैल्शियम की कमी के नुकसान

कमजोर हड्डियों का मतलब है कि महिलाओं को ऑस्टियोपोरोसिस की समस्या विकसित होने की अधिक संभावना है। यह शरीर की पुरानी हड्डियों की गिरावट की दर को बनाए रखने में असमर्थता को संदर्भित करता है।

बोन्‍स की हेल्‍थ के लिए जरूरी कैल्शियम हमें दूध से मिल सकता है। चित्र: शटरस्‍टॉक
बोन्‍स की हेल्‍थ के लिए जरूरी कैल्शियम हमें दूध से मिल सकता है। चित्र: शटरस्‍टॉक

अक्सर इसमें मामूली गिरावट या भारी सामान उठाना फ्रैक्चर का कारण नहीं बनता है। लेकिन इसके चलते हड्डियों का उपचार करना असंभव हो जाता है। दुर्भाग्य से, यह आपको एक आजीवन चोट के साथ छोड़ सकता है।

ध्यान रखें कि 30 के बाद, आप हड्डियों की समस्याओं को लेकर बहुत कुछ नहीं कर सकती हैं, अगर आपने इसे पहले अनदेखा किया है। इसलिए, 30 से पहले अपनी हड्डियों की देखभाल करना बहुत महत्वपूर्ण है। विशेष रूप से, महिलाओं को अपने कैल्शियम के स्तर को बनाए रखने की आवश्यकता होती है। जिससे कि:

दर्द से बचा जा सके
मोबिलिटी को कम कर सकें
और जीवन के बाद के वर्षों में जीवन की निम्न गुणवत्ता।

यह देखते हुए कि हमारा शरीर अपने दम पर कैल्शियम नहीं बना पाता। इसलिए अपनी आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए हमें हमारी मिनरल्स की खपत पर निर्भर होना चाहिए। कैल्शियम के सेवन के दो तरीके हैं:

खाद्य पदार्थ
सप्लीमेंट्स

क्‍या हैं कैल्शियम के स्रोत 

इन दोनों में से ज्यादातर कैल्शियम का सेवन खाद्य पदार्थों के माध्यम से करने की सलाह दी जाती है, क्योंकि यह प्राकृतिक है और इसके दीर्घकालिक लाभ हैं। अपने कैल्शियम के स्तर को बढ़ाने के लिए, आप इसका सेवन कर सकती हैं:

कैल्शियम की कमी आपके भविष्‍य के लिए भी नुकसानदायक हो सकती है। चित्र: शटरस्‍टॉक

i) दूध, पनीर, मक्खन जैसे डेयरी उत्पाद
ii) हरी पत्तेदार सब्जियां जैसे पालक ‘
iii) बीजों का मिश्रण, विशेष रूप से तिल, खसखस और चिया के बीज
iv) दाल
v) मछली, विशेष रूप से सैल्मन
vi) बादाम
vii) अमरेंथ

तो, अपनी हड्डियों को स्वस्थ रखने के लिए इन खाद्य पदार्थों का सेवन करें। उसी समय, सूरज से और अपने आहार से अधिक विटामिन-डी प्राप्त करना याद रखें। धूप के विटामिन की मदद के बिना आपके शरीर द्वारा कैल्शियम को कुशलतापूर्वक पचाया नहीं जा सकता।

तो लेडीज, अपने जीवन के बाद के वर्षों में बीमारियों को खुद से दूर रखने के लिए अपनी हड्डियों को स्वस्थ रखें!

यह भी पढ़ें – क्या अंडरवायर्ड ब्रा आपको कैंसर के जोखिम में डाल सकती है? जानिये क्‍या कहते हैं एक्‍सपर्ट

टीम हेल्‍थ शॉट्स टीम हेल्‍थ शॉट्स

ये हेल्‍थ शॉट्स के विविध लेखकों का समूह हैं, जो आपकी सेहत, सौंदर्य और तंदुरुस्ती के लिए हर बार कुछ खास लेकर आते हैं।