और पढ़ने के लिए
ऐप डाउनलोड करें

डियर लेडीज, यहां कुछ सामान्‍य विटामिन डेफि‍शिएंसी बताई जा रहीं हैं, जिन पर आपको ध्‍यान देना चाहिए

Published on:14 April 2021, 10:30am IST
विटामिन आवश्यक पोषक तत्व हैं, जो यह सुनिश्चित करते हैं कि हमारा शरीर ठीक से चलता रहे। यही कारण है कि विटामिन की कमी को समझना महत्वपूर्ण है। इसलिए आप उनसे बच सकती हैं।
Dr Danny Laliwala
  • 92 Likes
हर वक्‍त की थकान कुछ जरूरी विटामिनों की कमी का संकेत हो सकती है। चित्र: शटरस्‍टॉक
हर वक्‍त की थकान कुछ जरूरी विटामिनों की कमी का संकेत हो सकती है। चित्र: शटरस्‍टॉक

इस बात से इनकार नहीं किया जा सकता कि विटामिन पोषण में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। आखिर, क्या हम मल्टी-विटामिन वाली पीढ़ी नहीं हैं – हम हर चीज़ के लिए सप्लीमेंट लेते हैं?

पर यह भी एक उचित सवाल उठाता है: क्या हमें पोषण प्राप्त करने के लिए विटामिन सप्लीमेंट लेने की ज़रुरत है? वे गैर-कैलोरी आवश्यक पोषक तत्वों का एक समूह हैं, जो
विशिष्ट चयापचय नियंत्रण और रोग की रोकथाम के लिए थोड़ी मात्रा में आवश्यक हैं।

विटामिन भी विभिन्न प्रकार के खाद्य पदार्थों में होते हैं। वे शरीर के चयापचय को विनियमित करने का कार्य करते हैं। विटामिन सप्लीमेंट की जरूरत विशिष्ट हैं। विटामिन को मोटे तौर पर वसा में घुलनशील (विटामिन ए, डी, ई और के) और पानी में घुलनशील (विटामिन सी और बी कॉम्प्लेक्स) में वर्गीकृत किया जाता है। इन सभी की शरीर में अपनी भूमिका होती है।

यहां कुछ सामान्य विटामिन की कमी के बारे में बताया गया है :

1. विटामिन A  मुख्य रूप से दृष्टि के लिए जिम्मेदार है। यदि आप इस कमी का अनुभव कर रही हैं, तो आप आंखों की ड्राइनेस से लेकर अंधापन तक से पीड़ित हो सकती हैं।

यह आपकी आंखों के लिए समस्‍या पैदा कर सकता है। चित्र : शटरस्टॉक
यह आपकी आंखों के लिए समस्‍या पैदा कर सकता है। चित्र : शटरस्टॉक

2. विटामिन – D एक बहुत ही महत्वपूर्ण विटामिन है। यदि इसका स्तर पर्याप्त नहीं है, तो यह हड्डियों के ऑस्टियोपोरोसिस का कारण बन सकता है। यह पीसीओएस में भी महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है, क्योंकि यह मासिक धर्म चक्र को नियमित रखता है।

गर्भावस्था में गर्भधारण की अवधि में इसका पर्याप्त स्तर महत्वपूर्ण हैं। यदि कमी हो, तो इसकी मौखिक खुराक भी दी जाती है।

3. विटामिन – E एक बहुत अच्छा एंटीऑक्सीडेंट एजेंट है। यह सेल डैमेज को रोकने के लिए सेलेनियम के साथ कार्य करता है। शरीर में इसकी कमी से एनीमिया हो सकता है और यह रीढ़ और आंख के रेटिना के तंतुओं को प्रभावित कर सकता है।

4. विटामिन K ब्लड क्लॉट और हड्डियों के विकास लिए उपयोगी है। इसकी कमी से रक्तस्राव विकार हो सकता है।

5. विटामिन -C खट्टे फलों में पाया जाने वाला विटामिन सी कोलेजन निर्माण के लिए महत्वपूर्ण होता है और शरीर में आयरन के अवशोषण में मदद करता है। इसलिए, अगर हमें विटामिन -C की कमी होती है, तो इससे स्कर्वी हो सकता है।

विटामिन सी आपके समग्र स्‍वास्‍थ्‍य के लिए जरूरी है। चित्र: शटरस्‍टॉक
विटामिन सी आपके समग्र स्‍वास्‍थ्‍य के लिए जरूरी है। चित्र: शटरस्‍टॉक

मसूड़ों से खून बहना, आसानी से चोट लगने की प्रवृत्ति, बुखार, संक्रमण (श्वसन पथ में) और घाव भरने में समस्या हो सकती है। इस प्रकार, अपने विटामिन -C को सामान्य स्तर पर रखना बहुत महत्वपूर्ण है!

6. विटामिन B कॉम्प्लेक्स तंत्रिका तंत्र, नर्वस सिस्टम और हृदय के कामकाज के लिए आवश्यक है। इसकी कमी से बेरी बेरी रोग हो सकता है। जिसमें दर्द और पैरों और हाथों में पैरालिसिस हो सकता है। यह अधिक बार शराबियों में देखा जाता है, जहां कैलोरिक आवश्यकताएं पूरी नहीं हो पातीं।

7.  राइबोफ्लेविन (Riboflavin) दूध में पाया जाने वाला राइबोफ्लेविन (Riboflavin) इस B विटामिन का सबसे महत्वपूर्ण स्रोत है। हमारे शरीर में इसकी कमी से फटे होंठ और मुंह के कोने और लाल जीभ में सूजन हो सकती है। यह विटामिन प्रकाश से खो सकता है, इसलिए डिब्बों में दूध का सेवन करना महत्वपूर्ण है।

8. नियासिन (Niacin), यह दूसरी तरह का B विटामिन है, जिसे नजरअंदाज नहीं किया जाना चाहिए। इसकी कमी से डायरिया, डिमेंशिया और डर्मेटाइटिस की संभावना हो सकती है। अपने शरीर में इसकी कमी को रोकने के लिए मूंगफली, फलियां और अनाज का सेवन करें।

9. पाइरिडोक्सीन (Pyridoxine) एक और प्रकार का B विटामिन है। इसके खाद्य स्रोत अनाज, बीज और मांस हैं। यह एमिनो एसिड चयापचय के लिए बहुत महत्वपूर्ण है। इसकी कमी से हाइपरटेरिटिबिलिटी और न्यूरिटिस हो सकता है।

यह गट हेल्‍थ के लिए बहुत जरूरी है। चित्र: शटरस्‍टॉक
यह गट हेल्‍थ के लिए बहुत जरूरी है। चित्र: शटरस्‍टॉक

10. पैंटोथैनिक (Pantothenic) एसिड शरीर के कई चयापचय कार्यों में शामिल होता है जिसमें वसा और कोलेस्ट्रॉल चयापचय होता है। इसकी कमी दुर्लभ है, क्योंकि यह कई खाद्य पदार्थों, विशेष रूप से साबुत अनाज अनाज और फलियों द्वारा प्रदान की जाती है।

11. फोलेट (फोलिक एसिड) हरी पत्तेदार सब्जियों, विशेष रूप से फूलगोभी और फलियों में पाया जाता है। यह विटामिन डीएनए का एक हिस्सा बनाता है और हीमोग्लोबिन के निर्माण के लिए महत्वपूर्ण है। इसका संतुलित स्तर भ्रूण, गर्भपात और प्रसव पूर्व रीढ़ की हड्डी की असामान्यताओं को रोकता है।

12. कोबालमिन या विटामिन B2 पशु प्रोटीन में कोबालमिन या विटामिन B2 पाया जाता है। इस विटामिन की कमी से न्यूरिटिस, गले में खराश, जीभ और तंत्रिका संबंधी विकार हो सकते हैं। इसकी कमी से एक बीमारी हो सकती है जिसे पेनेसिया एनीमिया कहा जाता है।

महिलाओं के लिए क्‍याें जरूरी है इन विटामिन की कमी के बारे में सतर्क रहना  

हम अपने आहार में विटामिन के महत्व को देख सकते हैं और इसकी कमी के विभिन्न प्रभाव हो सकते हैं। यह हमें चल रही बहस में लाता है कि क्या आहार इन विटामिन को पूरा कर सकता है, या क्या हमें गोलियां लेने की आवश्यकता है।

जीवन में विभिन्‍न पड़ावों पर आपकी सेहत संबंधी जरूरतें बदलती हैं। चित्र: शटरस्‍टॉक
जीवन में विभिन्‍न पड़ावों पर आपकी सेहत संबंधी जरूरतें बदलती हैं। चित्र: शटरस्‍टॉक

एक महिला जो गर्भवती है या स्तनपान करा रही है, उसे निश्चित रूप से कुछ पोषक तत्वों की खुराक की आवश्यकता होगी। इसके अलावा, एक उम्रदराज महिला- जो सही डाइट नहीं ले पा रही है – इन दोनों को सप्लीमेंट्स की ज़रुरत हो सकती है।

एक व्यक्ति जो हमेशा वजन कम करने की कोशिश कर रहा है उसे आहार से सभी विटामिन नहीं मिल सकते। इसके अलावा, जो महिलाएं बहुत धूम्रपान करती हैं, उनमें विटामिन C की कमी हो सकती है।

गंभीर बीमारियों वाली महिलाओं को विटामिन सप्लीमेंट की आवश्यकता हो सकती है। सप्लीमेंट को सावधानीपूर्वक और विवेकपूर्ण तरीके से लिया जाना चाहिए। डॉक्टर की सिफारिश के साथ-क्योंकि उन्हें बड़ी मात्रा में लेने पर हानिकारक प्रभाव हो सकते हैं।

अंत में, याद रखें अच्छे स्वास्थ्य को बढ़ावा देने के लिए सभी पोषक तत्व एक साथ काम करते हैं। भोजन पोषक तत्वों का सर्वोत्तम स्रोत है।

यह भी पढ़ें – एक कप हरी सब्जियों का सेवन आपकी हड्डियों और मांसपेशियों को रख सकता है लंबे समय तक मजबूत

Dr Danny Laliwala Dr Danny Laliwala

Dr Danny Laliwala is a consultant, Gynaecology, at the Jaslok Hospital and Research Centre in Mumbai