फॉलो
वैलनेस
स्टोर

डियर वेजिटेरियन लेडीज, आपकी थकान का कारण हो सकती विटामिन बी-12 की कमी

Updated on: 10 December 2020, 12:01pm IST
शरीर में विटामिन बी-12 की होना आम बात है, लेकिन इसके शरीर पर बहुत नाकारात्मक प्रभाव पड़ सकते हैं। हम आपको शरीर में विटामिन बी12 की कमी के 5 मुख्य संकेत और प्रभावों के बारे में बता रहे हैं।
विनीत
  • 80 Likes
अपने आहार में विटामिन बी 12 की कमी न होने दें। चित्र: शटरस्‍टॉक

विटामिन बी 12 की कमी सबसे आम पोषण संबंधी कमियों में से एक है। इस स्थिति के दो मुख्य कारण हैं वे प्रथाएं जिन्हें अक्सर स्वास्थ्य में सुधार के लिए अपनाया जाता है, एक स्ट्रिक्ट वेजिटेरियन डाइट (strict vegetarian diet) और दूसरा वेट लॉस सर्जरी (weight-loss surgery)।

रक्त में विटामिन बी 12 की कमी के लक्षणों की एक विस्तृत विविधता (wide variety of symptoms) है। जबकि विटामिन बी 12 कई शारीरिक कार्यों के लिए एक शक्तिशाली औषधि है। निराशा की बात यह है कि विटामिन बी 12 की कमी के चलते लोग तनाव, या बहुत व्यस्त होने के लक्षणों को महसूस करते हैं।

पाएं अपनी तंदुरुस्‍ती की दैनिक खुराकन्‍यूजलैटर को सब्‍स्‍क्राइब करें

हमने आपके लिए विटामिन बी 12 की कमी के लिए 5 मुख्य लक्षणों की एक लिस्ट बनाई है। जिससे कि आप अपने रक्त में विटामिन बी 12 की कमी के बारे में जान सकें, और यह तय कर सकें कि क्या आपको अधिक विटामिन की जरूरत है।

विटामिन बी-12 की कमी के चलते आप थका हुआ और कमजोर महसूस कर सकती हैं। चित्र : शटरस्‍टॉक

जानें क्या है विटामिन बी 12 की कमी के संकेत और  लक्षण-

  1. कमजोरी, प्रकाशहीनता, थकान

क्लीवलैंड क्लिनिक वेलनेस इंस्टीट्यूट में वेलनेस के निदेशक, माइकल रोइज़ेन (the director of wellness at the Cleveland Clinic Wellness Institute, Michael Roizen) के अनुसार कमजोरी और थकावट लो लेवल पर विटामिन बी 12 के स्तर के सबसे सामान्य लक्षणों में से एक है।

जब आपकी विटामिन की आपूर्ति कम हो जाती है, तो आपका शरीर कम लाल रक्त कोशिकाओं (Red blood Cells)  का उत्पादन करता है, जो ऑक्सीजन के प्रसार के लिए आवश्यक होते हैं। विटामिन की कमी के परिणाम स्वरूप आप नींद, थका हुआ और यहां तक ​​कि चक्कर महसूस करती हैं।

यह भी पढें: सावधान! डायबिटीज के बिना भी बढ़ सकता है ब्‍लड शुगर लेवल, पहचानिए इसके चेतावनी संकेत

  1. सांस लेने में तकलीफ

व्यायाम करते समय सांस की तकलीफ होना, विटामिन बी 12 की कमी के शारीरिक संकेतों में से एक है। विटामिन बी 12 हीमोग्लोबिन के उत्पादन में योगदान देता है। साथ ही प्रोटीन रक्तप्रवाह में ऑक्सीजन का परिवहन करता है। विटामिन की कमी से ऊतकों (tissues) में ऑक्सीजन का प्रवाह कम हो सकता है, जो एनीमिया, सांस की तकलीफ और कमजोरी जैसी समस्याओं का कारण बन सकता है।

विटामिन बी-12 की कमी से हो सकती है कब्ज औ गैस की समस्या चित्र: शटरस्‍टॉक
  1. पेट में कब्ज, गैस होना

ऐसे कई कारण हैं जो पाचन संबंधी समस्याओं का कारण बन सकते हैं, जैसे कि कब्ज या गैस, और उनमें से एक विटामिन बी 12 की कमी भी है। अगर इसे नजरअंदाज कर दिया जाए, तो विटामिन बी 12 की कमी से पुरानी कब्ज, पेट खराब, गैस, दस्त और भूख में कमी जैसी समस्याएं हो सकती है।

कम विटामिन का स्तर जठरांत्र संबंधी मार्ग के सामान्य कार्य को प्रभावित करता है। विटामिन बी 12 के सामान्य स्तर को बहाल करने और कब्ज को राहत देने के लिए, आप विटामिन बी 12 के पूरक ले सकती हैं। साथ ही आप विटामिन बी 12 इंजेक्शन भी ले सकते हैं।

  1. पीलिया  (jaundice) की समस्या

विटामिन बी 12 की कमी का एक और शारीरिक संकेत है पीलिया (jaundice), जिससे कि आपकी त्वचा और आंखों का रंग पीला या सफेद हो जाता है। लाल रक्त कोशिका (Red blood cell) का उत्पादन विटामिन बी 12 पर निर्भर करता है। साथ ही लाल रक्त कोशिका (Red blood cell) का उत्पादन पर्याप्त मात्रा में न होने से एनीमिया (anemia) की समस्या हो सकती है। जिसके चलते आपकी स्किन रूखी और बेजान पीली सी दिखने लगती है।

  1. जीभ का सूजना या लाल होना

यदि आप शाकाहारी हैं, तो पाचन तंत्र के कुछ रोग और अल्कोहल के सेवन से आपको विटामिन बी 12 की कमी होने का अधिक जोखिम है। रक्त में विटामिन बी12 की कमी होने पर आपकी जीभ चिकनी और लाल हो जाती है। क्योंकि आपके शरीर में पर्याप्त मात्रा में विटामिन भी न होने के कारण डीएनए संश्लेषण (DNA synthesis) बिगड़ जाता है।

यह भी पढें: डायबिटीज से बचना चाहती हैं तो अपनी डाइट में शामिल करें अमरूद, जानिए यह कैसे कंट्रोल करता है ब्‍लड शुगर लेवल 

इसके परिणामस्वरूप मुंह में उपकला कोशिकाएं (epithelial cells) तेजी से विभाजित होने लगती हैं, जिससे ग्लोसाइटिस (glossitis), एंगुलर चेइलिटिस (angular cheilitis), रिकरंट ओरल अल्सर (recurrent oral ulcers) और ओरल कैंडीडायसिस (oral candidiasis) जैसी समस्याएं होती हैं।

यदि आप इन लक्षणों में से किसी को भी नोटिस करती हैं, तो अपने खाने की आदतों को बदलने की कोशिश करें। अपनी डाइट में अधिक पशु उत्पाद, जैसे मांस, चिकन, क्लेम (clams), ओयस्टर (oysters,), अंडे, या बी 12 से भरपूर अनाज को शामिल करें।

0 कमेंट्स

कृपया अपना कमेंट पोस्ट करें

Your email address will not be published. Required fields are marked *

विनीत विनीत

अपने प्यार में हूं। खाने-पीने,घूमने-फिरने का शौकीन। अगर टाइम है तो बस वर्कआउट के लिए।