मोनोपॉज से निपटने में आपका सबसे अच्छा दोस्त बन सकता है आपका पसंदीदा संगीत, हम बता रहे हैं कैसे

Published on: 5 February 2022, 13:00 pm IST

आपने विभिन्न प्रकार के संगीत सुने होंगे, जो आपके मूड को फ्रेश कर देते हैं। लेकिन हाल ही में किए गए एक शोध में दावा किया गया है कि संगीत की सहायता से महिलाओं को मोनोपॉज के लक्षणों को डील करने में मदद मिल सकती है।

music ke fayade
म्यूजिक थेरेपी आपकी मोनोपॉज मददगार है। चित्र : शटरस्टॉक

आपका मूड खराब हो या पॉजिटिव वाइब्स क्रिएट करनी हो म्यूजिक हमेशा आपकी प्राथमिकता पर रहता है। कुछ संगीत ऐसे होते हैं, जिन्हें हम खुद से जोड़ लेते हैं और वे हमें मानसिक शांति प्रदान करते हैं। फिर चाहे हम किस भी स्थिति से क्यों न गुजर रहे हो। संगीत के कई गुणों के चलते एक ऐसे गुण के बारे में शोध से जानकारी मिली है जो महिलाओं के लिए काफी फायदेमंद साबित होने वाला है। दरअसल म्यूजिक महिलाओं के मोनोपॉज के लक्षणों से उबरने में थेरेपी के रूप में काम कर सकता है।

क्यों फायदेमंद है संगीत सुनना 

यह बात काफी लंबे समय से चली आ रही है कि संगीत सुनते समय हमारे शरीर में कई हार्मोंस  रिलीज होते हैं। जिनमें डोपामाइन, सेरोटोनिन और एंडोर्फिन के साथ-साथ हार्मोन ऑक्सीटोसिन, न्यूरोट्रांसमीटर शामिल है। 

music aur Menopause
म्यूजिक सुनने से कई हार्मोंस रिलीज़ होते हैं। चित्र : शटरस्टॉक।

इस ताजा शोध में यह संकेत मिलता है कि धुनें महिलाओं के लिए रजोनिवृत्ति के लखण को भी कम कर सकती हैं। चलिए जानते हैं क्या है यह शोध और आखिर कैसे संगीत महिलाओं को मोनोपॉज के लक्षणों के दौरान मदद कर सकता है।

पहले जानिए क्या है मेनोपॉज? 

बढ़ती उम्र के साथ-साथ यह अवस्था एक आम अवस्था है। मोनोपॉज एक ऐसी अवस्था है, जिसमें पीरियड्स का चक्र बाधित हो जाता है। जिसकी वजह से प्राकृतिक रूप से महिलाएं प्रेगनेंट नहीं हो पाती हैं। इसके पीछे का मुख्य कारण यह है कि उम्र के साथ-साथ फीमेल सेक्स हार्मोन  का फंक्शन कमजोर पड़ने लगता है। और एग्स की संख्या कम होने लगती है।

मेनोपॉज कभी भी अचानक नहीं होता। इसकी प्रक्रिया धीरे-धीरे होती है और जब पूरी तरह मेनोपॉज का समय आता है तब पीरियड्स होना बिल्कुल बंद हो जाता है।

इस स्थिति के बारे में क्या कहता है यह अध्ययन 

मोनोपॉज जर्नल में प्रकाशित अध्ययन के अनुसार म्यूजिक थेरेपी मोनोपॉज के लक्षणों का प्रबंधन करने के लिए एक बेहतरीन उपाय है। हर महिला का मोनोपॉज का अनुभव एक जैसा नहीं होता है। महिलाओं में अलग-अलग प्रकार के लक्षण देखने को मिलते हैं। कुछ अधिक सामान्य लक्षणों में नींद में गड़बड़ी, उदास मनोदशा, योनि का सूखापन, यौन रोग और जोड़ों और मांसपेशियों में दर्द शामिल हैं।

badlav hai Menopause
मेनोपॉज एक बदलाव है, इसे आप रोक नहीं सकतीं। चित्र: शटरस्‍टाॅॅॅक

यह अध्ययन एक छोटे स्तर पर किया गया। इसलिए एक बड़े स्तर पर करने की अभी भी आवश्यकता है। यह अध्ययन मूड को ठीक करने के लिए संगीत चिकित्सा को बढ़ावा देता है। ज्यादातर महिलाओं में मोनोपॉज के दौरान उदास रहना एक आम लक्षण है। जिसमें संगीत सहायता प्रदान करता है। अध्ययन में निष्कर्ष निकल कर आया है कि संगीत अंतर मन को शुद्ध करता है।

यह मूड स्विंग्स में मदद करता है 

इस बात से हम सभी अवगत हैं कि मोनोपॉज के दौरान मूड स्विंग एक आम लक्षण है। मूड स्विंग यानी थोड़े-थोड़े समय में मूड का बदलना, चिड़चिड़ापन होना और उदास रहना। इसके कारण महिलाएं डिप्रेशन और तनाव की शिकार हो जाती हैं। इससे निकलने में संगीत आपकी मदद कर सकता है। तो लेडीज, परेशान न हों, बस अपनी पसंद की प्लेलिस्ट चालू करें और रिलैक्स हो जाएं। 

यह भी पढ़े : क्या आप जानती हैं कि नींबू को सूंघने से आपकी ऊर्जा का स्तर बढ़ सकता है?

अक्षांश कुलश्रेष्ठ अक्षांश कुलश्रेष्ठ

सेहत, तंदुरुस्ती और सौंदर्य के लिए कुछ नई जानकारियों की खोज में

स्वास्थ्य राशिफल

ज्योतिष विशेषज्ञ से जानिए क्या कहते हैं आपकी
सेहत के सितारे

यहाँ पढ़ें