डियर मॉम टू बी, हेल्दी प्रेगनेंसी के लिए अपने डाइट चार्ट से कैफीन को कटऑफ करना न भूलें

प्रेगनेंसी के दौरान खानपान की आदतों से लेकर रोजाना की दिनचर्या तक की गतिविधियां आपके और आपके होने वाले बच्चे की सेहत को प्रभावित कर सकती हैं। इसलिए प्रेगनेंसी में आपको कम कर देनी चाहिए कॉफी।

caffeine ke side effects.
प्रेगनेंसी में डाइट चार्ट से कैफीन को कटऑफ करना न भूलें। चित्र शटरस्टॉक।
अंजलि कुमारी Published on: 7 June 2022, 16:45 pm IST
  • 120

प्रेगनेंसी के दौरान सेहत का ध्यान रखना बहुत जरूरी है। खानपान की आदतों, एक्सरसाइज से लेकर रोजमर्रा की जिंदगी में की जाने वाली एक्टिविटीज तक प्रेगनेंसी में मैटर करती हैं। ऐसे में जानकारी की कमी के कारण कई महिलाएं गलत स्टेप्स ले सकती है। जिसका खामियाजा आगे चलकर मां और बच्चे दोनों की सेहत को भुगतना पड़ता है। गर्भावस्था के दौरान आपकी छोटी सी भूल भी बच्चे के लिए खतरनाक साबित हो सकती हैं। यहां हम कैफीन के स्वास्थ्य जोखिमों के बारे में बात करने वाले हैं। अगर आपको भी कॉफी पीने की आदत है और आप बेबी प्लान कर रहीं हैं, तो अभी से इस आदत को छोड़ने के बारे में सोचना शुरू कर दें, क्योंकि प्रेगनेंसी में कैफीन का सेवन आपकी और आपके बच्चे की सेहत पर असर डाल सकता है।

आजकल ज्यादातर ड्रिंक में कैफीन की मात्रा पाई जाती है। यह ड्रिंक्स सभी के फेवरेट बनते जा रहे हैं। ऐसे में प्रेगनेंसी डाइट चार्ट बनाते वक्त कैफीन को कट ऑफ करना न भूलें। साथ ही यदि आप कंसीव करने के लिए तैयार हैं, तो अपने कैफीन के सेवन को सिमित करना जरुरी है। ऐसा नहीं है कि कैफीन आम लोगो के लिए भी हानिकारक होता है, परंतु प्रेगनेंसी के दौरान यह आपकि हेल्थ को प्रभावित कर सकता है।

सही मात्रा में कैफीन का सेवन एनर्जी बूस्ट करने के साथ ही आपको फ्रेश रहने में मदद करता है। परन्तु कैफीन की अनियमित मात्रा सेहत के लिए नुक्सानदेह हो सकती है। जानते हैं की कैसे कैफीन का सेवन प्रेगनेंसी में आपके और आपके बच्चे की सेहत को प्रभावित करता है।

pregnancy me khatarnak sabit ho sakti hai cofee
प्रेगनेंसी में खतरनाक साबित हो सकती है कॉफी। चित्र: शटरस्‍टॉक

जानिए प्रेग्नेंसी के दौरान कैफीन का सेवन क्यों है खतरनाक

प्रेगनेंसी के दौरान कैफीन का सेवन मां और बच्चे दोनों की सेहत को प्रभावित कर सकता है। पब मेड द्वारा किये गए एक अध्ययन में देखा गया कि प्रेग्नेंट महिलाओं के शरीर में कैफीन बहुत धीमी गति से मेटाबॉलाइज होता है। वहीं दूसरी ओर एक साधारण महिला के मुकाबले गर्भवती महिला के शरीर से कैफ़ीन को एलिमिनेट करने में 1.5 से लेकर 3.5 गुणा तक ज्यादा समय लगता है।

नेशनल लिबर्टी ऑफ मेडिसिन की रिसर्च के अनुसार गर्भवती महिलाएं यदि अधिक कैफीन लेती हैं, तो यह उनके प्लेसेंटा में दाखिल होकर बच्चे के ब्लडस्ट्रीम तक पहुंच सकता है। कैफीन का ब्लडस्ट्रीम तक पहुंचना बच्चे की सेहत को नकारात्मक रूप से प्रभावित करता है।

पब मेड द्वारा किये गए एक अध्ययन में देखा गया है कि प्रेगनेंसी के दौरान कैफीन का अधिक सेवन गर्भवती महिलाओं की सेहत पर कई साइड इफेक्ट का कारण बनता है। जैसे अनियंत्रित ब्लड प्रेशर, हार्टबीट का बढ़ना, एंग्जाइटी की समस्या, थकान, चक्कर आना पेट में दर्द और डायरिया। यह सभी समस्याएं बच्चे की सेहत पर बुरा असर डालती हैं।

caffeine se badh sakta hai miscarriage ka khatra
चित्र : शटरस्टॉक

क्या बढ़ सकता है गर्भपात का जोखिम?

यदि मिसकैरेज और इनफर्टिलिटी की बात करें तो कई ऐसे शोध सामने आए हैं, जिसमें इसे सही बताया गया है। परंतु कई ऐसे भी शोध हैं, जहां इस बात की पुष्टि अभी तक नहीं की गई है। इसलिए रिस्क लेने से बेहतर रहेगा प्रेगनेंसी के दौरान कैफीन की मात्रा कम कर लें।

द नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ हेल्थ द्वारा किए गए एक अध्ययन में यह बताया गया है कि गर्भवती महिलाएं यदि प्रति दिन 200 एमजी से अधिक कैफ़ीन लेती हैं, तो उनके मिसकैरेज होने की संभावना बढ़ जाती है। ऐसे में प्रेगनेंसी के दौरान सीमित मात्रा में कैफीन लेना उचित रहेगा।

कितनी कॉफी है ज्यादा कॉफी

पब मेड द्वारा किए गए एक अध्ययन के अनुसार यदि आप प्रेग्नेंट है या कंसीव करने का सोच रहीं हैं, तो अपने डाइट में कैफीन की मात्रा को सीमित कर लें। हर रोज 200 एमजी से कम कैफीन लेने का प्रयास करें, अन्यथा प्रेगनेंसी के दौरान कई स्वास्थ्य जोखिमों का सामना करना पड़ सकता है।

यदि आप कॉफी की शौकीन हैं, तो दिन में एक बार इसे ले सकती हैं। डाइटिशियन्स की मानें तो प्रेगनेंसी के दौरान कोई भी ड्रिंक जिसमें कैफीन मिला हो, उससे परहेज रखना जरूरी है। साथ ही एनर्जी ड्रिंक्स में अधिक मात्रा में शुगर होता है या आर्टिफिशियल स्वीटनर्स मिले होते हैं, जो मां तथा बच्चे दोनों की सेहत के लिए नुकसानदेह हो सकता है।

नेशनल सेंटर आफ कंप्लीमेंट्री एंड इंटेरोगेटिव हेल्थ के अनुसार गर्भावस्था के दौरान कैफीन के साथ ही आपको कुछ हर्बल टी जैसे चिकोरी रुट, लीकोरिस रूट (मुलेठीे) और मेथी से भी परहेज रखने की जरूरत है।

pregnancy me caffeine ki jgh len harbal drinks
प्रेगनेंसी में कैफीन की जगह लें यह हर्बल ड्रिंक्स। चित्र: शटरस्‍टॉक

प्रेगनेंसी में कर सकती हैं इन हर्बल ड्रिंक्स का सेवन

द नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ हेल्थ द्वारा किए गए एक अध्ययन के अनुसार प्रेगनेंसी में इन प्राकृतिक हर्ब्स से बनीं ड्रिंक्स का सेवन आपके लिए उचित रहेगा।

अदरक की चाय

पिपरमिंट की चाय

रेड रस्पबेरी के पत्ते से बनी चाय ( शुरुआत के 3 महीने तक रोजाना इसका एक कप चाय ले सकती हैं )

लेमन बाम की चाय

यह भी पढ़ें :  हर गांठ ट्यूमर नहीं होती, पर कोई भी ट्यूमर कैंसर बन सकता है, जानिए इस जटिल बीमारी के बारे में सब कुछ 

  • 120
लेखक के बारे में
अंजलि कुमारी अंजलि कुमारी

इंद्रप्रस्थ यूनिवर्सिटी से जर्नलिज़्म ग्रेजुएट अंजलि फूड, ब्यूटी, हेल्थ और वेलनेस पर लगातार लिख रहीं हैं।

पीरियड ट्रैकर

अपनी माहवारी को ट्रैक करें हेल्थशॉट्स, पीरियड ट्रैकर
के साथ।

ट्रैक करें
nextstory