सर्दी-खांसी में गाय के घी से भी ज्यादा फायदेमंद है भैंस के दूध से बना सफेद घी, यहां जानिए दोनों में अंतर

सर्दियों में भारतीय परिवारों में देसी घी की खपत बढ़ जाती है। पर इन दिनों गाय के दूध से बना देसी घी कुछ ज्यादा ही लोकप्रिय हो रहा है। क्या वाकई गाय का दूध से बना घी भैंस के दूध से बने घी से ज्यादा बेहतर होता है?

buffalo ghee benefits
यहां जानिए गाय और भैंस के दूध से बने घी में अंतर और उनके फायदे। चित्र शटरस्टॉक।
अंजलि कुमारी Published on: 9 December 2022, 14:34 pm IST
  • 120

शुद्ध यानी देसी घी (Pure ghee) हमेशा से सेहत के लिए फायदेमंद रहा है। देसी घी के प्रकारों में सबसे आम हैं गाय का पीला घी और भैंस के दूध से बना सफेद घी। ज्यादातर घरों में इन दो प्रकार के देसी घी का इस्तेमाल किया जाता है। आमतौर पर लोग इसके फायदों को लेकर भ्रमित रहते हैं। तो आपको बताएं कि यह दोनों प्रकार के घी सेहत के लिए अलग-अलग रूप से फायदेमंद होते हैं। वहीं लोग अक्सर सवाल पूछा करते हैं, कि यदि दोनों घी सामान्य रूप से फायदेमंद हैं, तो आखिर किस घी (Cow ghee vs buffalo ghee) का सेवन करें? आइए एक्सपर्ट से जानते हैं देसी घी से जुड़े कुछ सवालों के जवाब।

यदि आपके शरीर को वजन बढ़ाने की जरूरत है, तो आपको फैट से भरपूर सफेद घी (Buffalo ghee) का सेवन करना चाहिए और यदि घटाने की जरूरत है, तो गाय के दूध से बना पीले रंग का घी आपके लिए एक बेहतरीन विकल्प साबित होगा। इसी प्रकार अन्य स्वास्थ्य समस्याएं भी हैं जिनमें यह दोनों घी अलग-अलग तरह से फायदेमंद हैं।

आयुर्वेद एक्सपर्ट डॉक्टर चैताली राठौड़ ने अपनी इंस्टाग्राम पोस्ट के जरिए गाय और भैंस के घी (Cow ghee vs buffalo ghee) को लेकर कुछ जरूरी फैक्ट शेयर किये हैं।

ghar par kaise banaen ghee
आप भी तैयार कर सकती हैं घर पर देसी घी। चित्र : शटरस्टॉक

पोषक तत्वों से भरपूर हैं दोनों तरह के घी

दोनों प्रकार के देसी घी के अपने-अपने फायदे हैं। वहीं इन दोनों में कैल्शियम और विटामिन की भरपूर मात्रा मौजूद होती है। गाय के घी में जहां मिनरल्स, एंटी ऑक्सीडेंट और प्रोटीन पाए जाते हैं, वहीं भैंस का घी फास्फोरस और मैग्नीशियम का एक बेहतरीन स्रोत है। साथ ही साथ भैंस के घी में कैल्शियम की मात्रा ज्यादा होती है।

पहले समझें गाय के घी के कुछ महत्वपूर्ण फायदे (Benefits of cow ghee)

1. वेट लॉस में मददगार

डॉक्टर चैताली के अनुसार भैंस के घी की तुलना में गाय के घी में फैट की मात्रा बहुत कम होती है। ऐसे में इसका सेवन आपके वजन को संतुलित रखने में मदद करता है। यदि आप वेट लॉस डाइट पर हैं, तो आप इसे बेफिक्र होकर अपनी डाइट में शामिल कर सकती हैं।

2. मेंटल हेल्थ को मजबूती देता है

डॉक्टर चैताली राठौड़ गाय के घी को मेमोरी बूस्टर फूड बताती हैं। उनके अनुसार यह मेंटल हेल्थ से जुड़ी परेशानी को दूर करने में फायदेमंद होता है। वहीं शुद्ध देसी घी का सेवन याददाश्त को लंबे समय तक बनाए रखता है। वहीं ब्रेन फंक्शन को मजबूत बनाता है।

3. पाचन क्रिया को संतुलित रखता है

सफेद घी कई तरह की समस्याओं में फायदेमंद होता है। परंतु इसे डाइजेस्ट कर पाना थोड़ा कठिन है। वहीं पीले घी का सेवन आपकी पाचन क्रिया के लिए काफी फायदेमंद माना जाता है।

यदि आपको गैस, अपच, एसिडिटी, ब्लोटिंग और पेट से जुड़ी अन्य प्रकार की समस्याएं हैं, तो भैंस के घी की जगह गाय के घी का सेवन करना उचित रहेगा। गाय का घी कब्ज की समस्या में भी मददगार होता है।

ghee
फायदेमंद है भैंस का घी। चित्र शटरस्टॉक।

अब जानिए सफेद घी यानी की भैंस के घी के फायदे (Benefits of buffalo ghee)

1. वजन बढ़ाने का एक हेल्दी विकल्प है सफेद घी

एक्सपर्ट के अनुसार पीले घी की तुलना में सफेद घी में अधिक मात्रा में फैट मौजूद होता है। ऐसे में यदि किसी व्यक्ति का वजन बहुत कम है, तो वह वजन बढ़ाने के लिए इसका सेवन कर सकते हैं।

2. इनसोम्निया की समस्या में मददगार है सफेद घी

डॉक्टर चैताली राठौड़ के अनुसाद सफेद घी नींद की गुणवत्ता को बढ़ाता है और इनसोम्निया जैसी गंभीर समस्या से निजात दिलाने में फायदेमंद होता है।

3. सर्दी-खांसी के संक्रमण से बचाव करता है सफेद घी

भैंस के घी का सेवन सर्दी-खांसी के संक्रमण में फायदेमंद होता है। साथ ही यह कोलेस्ट्रॉल लेवल को नियंत्रित रखने में मदद करता है। ऐसे में दिल से जुड़ी समस्या होने की संभावना बहुत कम हो जाती है।

यह भी पढ़ें :  मजबूत इम्मुनिटी के लिए इस सर्दी इन 3 खास सामग्री से बनाएं विंटर आंवला डिटॉक्स ड्रिंक

  • 120
लेखक के बारे में
अंजलि कुमारी अंजलि कुमारी

इंद्रप्रस्थ यूनिवर्सिटी से जर्नलिज़्म ग्रेजुएट अंजलि फूड, ब्यूटी, हेल्थ और वेलनेस पर लगातार लिख रहीं हैं।

पीरियड ट्रैकर

अपनी माहवारी को ट्रैक करें हेल्थशॉट्स, पीरियड ट्रैकर
के साथ।

ट्रैक करें
nextstory

हेल्थशॉट्स पीरियड ट्रैकर का उपयोग करके अपने
मासिक धर्म के स्वास्थ्य को ट्रैक करें

ट्रैक करें