और पढ़ने के लिए
ऐप डाउनलोड करें

जानिए आपको क्‍यों नहीं करनी चाहिए कोविड-19 वैक्सीन लेने के बाद स्‍मोकिंग

Published on:3 May 2021, 17:50pm IST
आजकल सोशल मीडिया पर कई जानकारियां फैल रही हैं कि विभिन्न अध्ययनों से पता चला है कि धूम्रपान लोगों को कोरोनावायरस से बचाता है। यह बिल्कुल झूठ है, बल्कि कोविड -19 वैक्सीन लेने के बाद पफ लेना भी संभवतः हानिकारक हो सकता है। अधिक जानने के लिए पढ़े।
टीम हेल्‍थ शॉट्स
  • 96 Likes
आज ही स्मोकिंग छोड़ें। चित्र: शटरस्‍टॉक
आज ही स्मोकिंग छोड़ें। चित्र: शटरस्‍टॉक

कुछ समय पहले ही, वैज्ञानिक औद्योगिक अनुसंधान परिषद द्वारा किए गए एक सर्वेक्षण में पाया गया कि धूम्रपान करने वालों और शाकाहारी लोगों को कोविड -19 से संक्रमित होने की कम संभावना है। निष्कर्षों से पता चला कि धूम्रपान करने वालों में म्यूकस उत्पादन एक सुरक्षात्मक बाधा के रूप में काम कर सकता है। जिससे उन्हें एक से अधिक तरीकों से वायरस से बचने में मदद मिलती है। फ्रांस, इटली, न्यूयॉर्क और चीन के कुछ अन्य अध्ययनों ने कुछ सर्वेक्षणों के आधार पर इसकी सूचना दी।

“सीएसआईआर ने एक बयान में स्पष्ट किया“ धूम्रपान के साथ नकारात्मक संबंध कहीं और बताया गया है, लेकिन इसका कारण नहीं दिखाया गया है। किसी भी निष्कर्ष पर पहुंचने से पहले आगे की खोज आवश्यक है।

यूएस सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन (सीडीसी) द्वारा किए गए एक अध्ययन में 7,000 से अधिक लोगों का आकलन किया गया, जिन्होंने कोविड -19 के लिए सकारात्मक परीक्षण किया, इस दावे को गलत बताया।

कोरोनावायरस के लक्षण स्‍मोकिंग के कारण और भी खतरनाक हो सकते हैं। चित्र: शटरस्‍टॉक
कोरोनावायरस के लक्षण स्‍मोकिंग के कारण और भी खतरनाक हो सकते हैं। चित्र: शटरस्‍टॉक

माफ करिए लेकिन, धूम्रपान करना सेहत के लिए हानिकारक है। न तो यह आपको कोरोना वायरस से बचाएगा और न ही वैक्सीनेशन को कारगर बनाएगा।

धूम्रपान करने वालों को यह जानना आवश्यक है

कुछ अध्ययन इस तथ्य की ओर इशारा करते हैं कि धूम्रपान करने वाले लोगों को कोविड – 19 का ज्यादा खतरा होता है। वास्तव में, विश्व स्वास्थ्य संगठन धूम्रपान करने वालों को सावधान करता है, क्योंकि उन्हें कोविड -19 का अधिक खतरा होता है।

यही कारण है कि उनके लिए जल्द से जल्द टीका लगवाना आवश्यक है। ऐसा इसलिए है क्योंकि वे खुद को गंभीर नतीजों से पीड़ित पा सकते हैं।

वे कहते हैं – क्लीवलैंड क्लिनिक के एक पल्मोनोलॉजिस्ट डॉ. जो ज़ीन का कहना है कि यह आश्चर्य की बात नहीं है कि धूम्रपान कोविड के बढ़ते जोखिम से जुड़ा हुआ है। वह कहते हैं,
”धूम्रपान श्वसन मार्ग में संरचनात्मक परिवर्तनों को प्रेरित करता है और लोगों की उचित प्रतिरक्षा और इन्फ्लेमेशन प्रतिक्रियाओं (संक्रमणों के खिलाफ) को कम करता है।”

कोविड के अलावा, धूम्रपान करने वालों को अन्य बीमारियों का खतरा होता है, जिनमें हृदय रोग, उच्च रक्तचाप, क्रोनिक पल्मोनरी ऑब्सट्रक्टिव डिजीज और बहुत कुछ शामिल हैं।

क्या वैक्सीनेशन के बाद धूम्रपान करना सही है?

कुछ स्वास्थ्य विशेषज्ञ पहली डोज लेने के बाद धूम्रपान नहीं करने की सलाह देते हैं, क्योंकि यह एंटीबॉडी प्रतिक्रिया को कम कर सकता है। इसके बजाय, धूम्रपान करने वाले वैकल्पिक तरीकों जैसे निकोटिन पैच या गोंद का विकल्प चुन सकते हैं।

कोविड वैक्‍सीन के साथ स्‍मोकिंग खतरनाक हो सकती है। चित्र: शटरस्‍टॉक
कोविड वैक्‍सीन के साथ स्‍मोकिंग खतरनाक हो सकती है। चित्र: शटरस्‍टॉक

कुछ अध्ययनों से यह भी पता चलता है कि सिगरेट पीने से रक्त के थक्कों के लिए जोखिम बढ़ जाता है।

यही बात शराब पर भी लागू होती है, जो आपकी इम्युनिटी कमज़ोर करती है। इसके बजाय, टीकाकरण से पहले और बाद में लोगों को कुछ चीजें याद रखनी चाहिए। संतुलित भोजन करना और हाइड्रेटिंग खाद्य पदार्थों पर ध्यान देना महत्वपूर्ण है। नींद समान रूप से महत्वपूर्ण है, क्योंकि खराब नींद की एक रात भी, प्रतिरक्षा प्रणाली को 70 प्रतिशत तक कमजोर कर सकती है।

चलते चलते

चाहे हम टीका लगवाएं या नहीं, हम सभी जानते हैं कि हमारे शरीर पर धूम्रपान के हानिकारक प्रभाव हैं। तो, कश लेने का बहाना मत ढूंढिए, क्योंकि यह वैसे भी अच्छे से ज्यादा नुकसान करने वाला है!

यह भी पढ़ें – World Asthma Day 2021 : अस्‍थमा में आपके लिए खतरनाक हो सकता है इन फूड्स का सेवन

टीम हेल्‍थ शॉट्स टीम हेल्‍थ शॉट्स

ये हेल्‍थ शॉट्स के विविध लेखकों का समूह हैं, जो आपकी सेहत, सौंदर्य और तंदुरुस्ती के लिए हर बार कुछ खास लेकर आते हैं।