क्या सनचार्ज वॉटर विटामिन डी की कमी को दूर कर सकता है? आइए जानते हैं एक्सपर्ट से

सूर्य का प्रकाश हमारी ऊर्जा का मुख्य स्रोत है, और सनचार्ज पानी पीने की आयुर्वेदिक प्रथा बहुत पुरानी है और इसका काफी महत्व भी है। पर क्या ये धूप के विटामिन की आपूर्ति कर सकता है?
SUN CHARGE WATER KE FAYEDE
पीने का पानी जो सूर्य के प्रकाश के संपर्क में आया है, इस विटामिन का महत्वपूर्ण स्रोत प्रदान नहीं करता है। चित्र- अडोबा स्टॉक
संध्या सिंह Published: 10 May 2023, 08:00 am IST
  • 145

भारतीय संस्कृति में हम सुबह सूर्य को अर्घ्य देते हैं। ऐसा माना जाता है कि सुबह सूर्य को जल चढ़ाने से आत्मा और मन को उर्जा मिलती है। इससे पता चलता है कि पानी और धूप का रिश्ता काफी पुराना है। यह बरसों से भारतीय संस्कृति का हिस्सा रहा है, जिसका उल्लेख आयुर्वेद में भी मिलता है। सन चार्ज वॉटर के कई स्वास्थ्य लाभ बताए जा रहे हैं। कुछ लोगों को यह भी लगता है कि यह विटामिन डी की कमी (sun charged water benefits) भी दूर कर सकता है। पर क्या वास्तव में ऐसा है? आइए एक एक्सपर्ट से जानते हैं इसके बारे में सब कुछ।

आयुर्वेद में ऐसी बहुत सारी प्राकृतिक चीजें बताई गई हैं, जो हमारे स्वास्थ के लिए काफी लाभदायक हैं। ऐसी ही एक अद्भुत प्रथा है सन चार्ज पानी पीने की। आयुर्वेद के अनुसार, जब सूरज की रोशनी पानी पर पड़ती है, तो यह इसकी मॉलिक्यूलर संरचना को बढ़ा देता है और इसे ‘मृत पानी’ से ‘जीवित पानी’ में बदल देता है।

क्या है सनचार्ज वॉटर (sun charged water)

इसे अक्सर ‘सूर्य चिकित्सा’ या सोलराइज्ड वॉटर हीलिंग की आयुर्वेदिक पद्धति के रूप में जाना जाता है। आयुर्वेद सौर ऊर्जा में शुद्ध पानी पीने की सलाह देता है।

इस उपचार को अथर्ववेद में सूर्य किरण चिकित्सा के रूप में वर्गीकृत किया गया है, जो सूर्य की किरणों से उपचार करता है। पोषण देने वाली धूप की यूवी किरणों के कारण माइक्रोबियल लोड कम हो जाता है। गर्मी और प्रकाश के कारण पानी को ऑक्सीकरण होने में मदद मिलती है। सनचार्ज वॉटर आपने शरीर में ऊर्जा के स्तर को बढ़ाने और आपके शरीर में सूजन को कम करने के लिए जाना जाता है।

ये भी पढ़े- इन 6 खाद्य पदार्थों को खाने से पहले भिगोना न भूलें, ये है पौष्टिकता बढ़ाने का मेरी मम्मी का फॉर्मूला

सेहत के लिए सन चार्ज वॉटर के फायदे (sun charged water benefits)

सन चार्ज पानी पीने से उर्जा बढ़ती है

सोलराइज्ड पानी में एंटी-वायरल, एंटी-फंगल और एंटी-बैक्टीरियल गुण होते हैं, जो इसे त्वचा की सफाई या आपकी आंखों को धोने के लिए उपयुक्त बनाते हैं।

sun charged water ke benefits
आपकी सेहत के लिए कमाल कर सकता है सन चार्ज्ड वॉटर। चित्र : शटरस्टॉक

सन चार्ज पानी पाचक अग्नि को बढ़ाता है, आपकी भूख को बढ़ाता है और पाचन तंत्र की समस्याओं, पेट में कीड़े, अम्लता और पेट के अल्सर को ठीक करता है।

यह त्वचा की एलर्जी, चकत्ते को भी ठीक करता है और चेहरे पर चमक देता है।

क्या विटामिन डी की कमी पूरी कर सकता है सन चार्ज वॉटर?

इस बारे में जानने के लिए हमने बात की डायटीशियन और वेट लॉस एक्सपर्ट शिखा कुमारी से। शिखा बताती है कि “ इस दावे का समर्थन करने के लिए कोई वैज्ञानिक प्रमाण नहीं हैं कि “सन चार्ज वॉटर” विटामिन डी की कमी के इलाज या कोई अन्य स्वास्थ्य लाभ प्रदान करने के लिए फायदेमंद है।

अपनी रुचि के विषय चुनें और फ़ीड कस्टमाइज़ करें

कस्टमाइज़ करें

जबकि सूर्य के प्रकाश का संपर्क वास्तव में हमारे शरीर में विटामिन डी के संश्लेषण के लिए महत्वपूर्ण है। पीने का पानी जो सूर्य के प्रकाश के संपर्क में आया है, इस विटामिन का महत्वपूर्ण स्रोत प्रदान नहीं करता है।”

paani kaise peeyein
गर्मी और प्रकाश के कारण पानी को ऑक्सीकरण होने में मदद मिलती है। चित्र अडोबी स्टॉक

शिखा कुमारी आगे बताती हैं कि विटामिन डी मुख्य रूप से त्वचा में उत्पन्न होता है। जब यह सूर्य से पराबैंगनी बी (यूवीबी) विकिरण के संपर्क में आती हैं। जब सूर्य का प्रकाश हमारी त्वचा में कोलेस्ट्रॉल के साथ संपर्क करता है, तो यह रासायनिक प्रतिक्रियाओं की एक श्रृंखला को ट्रिगर करता है। जिसके परिणामस्वरूप विटामिन डी3 का उत्पादन होता है। विटामिन डी का यह रूप तब लिवर और किडनी में होने वाली प्रक्रियाओं के माध्यम से सक्रिय रूप में परिवर्तित हो जाता है।

त्वचा का काम नहीं कर सकता पानी

शिखा कुमारी के अनुसार पीने का पानी जो सूर्य के प्रकाश के संपर्क में आया है, त्वचा के समान रासायनिक प्रक्रियाओं से नहीं गुजरता है। इसलिए, यह विटामिन डी का एक महत्वपूर्ण स्रोत प्रदान नहीं करता है। विटामिन डी के पर्याप्त स्तर को सुनिश्चित करने का सबसे अच्छा तरीका है कि आप अपनी त्वचा को नियमित रूप से धूप में रखें, खासकर दोपहर के समय जब सूरज की किरणें सबसे तेज होती हैं।

इसके अतिरिक्त, विटामिन डी से भरपूर खाद्य पदार्थ, जैसे वसायुक्त मछली, फोर्टिफाइड डेयरी उत्पाद और अंडे की जर्दी का सेवन भी आपकी दैनिक विटामिन डी आवश्यकताओं को पूरा करने में योगदान कर सकता है।

ये भी पढ़े- Head injury : भविष्य में भी कई स्वास्थ्य जोखिमों का कारण बन सकती हैं बचपन में लगी सिर की चोट, ध्यान देना है जरूरी

  • 145
लेखक के बारे में

दिल्ली यूनिवर्सिटी से जर्नलिज़्म ग्रेजुएट संध्या सिंह महिलाओं की सेहत, फिटनेस, ब्यूटी और जीवनशैली मुद्दों की अध्येता हैं। विभिन्न विशेषज्ञों और शोध संस्थानों से संपर्क कर वे  शोधपूर्ण-तथ्यात्मक सामग्री पाठकों के लिए मुहैया करवा रहीं हैं। संध्या बॉडी पॉजिटिविटी और महिला अधिकारों की समर्थक हैं। ...और पढ़ें

अगला लेख