वैलनेस
स्टोर

क्‍या हल्‍दी की गोली खाना आपकी सेहत को ज्‍यादा फायदा पहुंचा सकता है? जानिये क्या है सच्चाई

Published on:3 June 2021, 09:00am IST
दाल से लेकर दूध तक, एक चुटकी हल्‍दी आपके लिए फायदेमंद हो सकती हैं। पर क्‍या हल्‍दी की गोली खाना आपके लिए ज्‍यादा फायदेमंद हो सकता है!
ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ
  • 82 Likes
जानिये क्‍या हल्‍दी की गोलियां लाभदायक हैं? चित्र : शटरस्टॉक
जानिये क्‍या हल्‍दी की गोलियां लाभदायक हैं? चित्र : शटरस्टॉक

कुछ वर्षों से आयुर्वेदिक दवाओं का प्रचलन बहुत तेज़ी से बढ़ा है, विशेष रूप से कोरोना काल में। न जाने कितनी ही जड़ी-बूटियां आज गोली के रूप में उपलब्ध हैं जैसे – गिलोय वटी और अश्वगंधा टेबलेट्स। इसी श्रृंखला में हल्दी की गोलियां भी प्रचलन में आ रही हैं। आपको हर ऑनलाइन शॉपिंग साइट पर ये आसानी से मिल जाएंगी, लेकिन जानने योग्य बात यह है कि क्या यह वाकई असरदार हैं? या इनका कोई साइड इफेक्ट तो नहीं? आइए पता करते हैं।

आजकल हमने हर बात के लिए शॉर्टकट अपना रखा है, फिर चाहें वह पैकेट बंद काढ़ा हो या हल्दी के रूप में इनकी गोलियां। मगर हमें यह बात समझना ज़रूरी है कि अयुर्विक जड़ी-बूटियों की गोलियां और उनके मूल रूप में अंतर होता है।

सबसे पहले हल्दी के मूल रूप के बारे में जानते हैं

हल्दी एक मसाला है, जो हल्दी के पौधे से प्राप्त होता है। यह आमतौर पर एशियाई भोजन में प्रयोग किया जाता है। आप शायद हल्दी को दाल और सब्जी में इस्तेमाल होने वाले मुख्य मसाले के रूप में जानते हैं। जबकि हल्दी की जड़ का प्रयोग औषधि बनाने में भी व्यापक रूप से किया जाता है। इसमें करक्यूमिन नामक पीले रंग का रसायन होता है, जिसका उपयोग अक्सर खाद्य पदार्थों और सौंदर्य प्रसाधनों में पीला रंग शामिल करने के लिए किया जाता है।

हल्दी का उपयोग आमतौर पर दर्द और सूजन से जुड़ी स्थितियों के लिए किया जाता है, जैसे ऑस्टियोआर्थराइटिस। इसका उपयोग हे फीवर, अवसाद, उच्च कोलेस्ट्रॉल, एक प्रकार का यकृत रोग और खुजली के लिए भी किया जाता है।

यू.एस. कृषि विभाग के माईप्लेट के अनुसार एक चम्मच पिसी हुई हल्दी में –

9 कैलोरी, 0.3 ग्राम प्रोटीन और 0.7 ग्राम फाइबर होता है। 1.65 मिलीग्राम (मिलीग्राम) आयरन के साथ, यह इस पोषक तत्व के दैनिक मूल्य का लगभग 9 प्रतिशत भी प्रदान करता है।

डार्क अंडरआर्म्स को ठीक खरने के लिए हल्दी का करें इस्तेमाल। चित्र-शटरस्टॉक
हल्दी एक बेहद गुणकारी औषधी है। चित्र-शटरस्टॉक

वास्तव में, हर्बल मेडिसिन: बायोमोलेक्यूलर एंड क्लिनिकल आस्पेक्ट्स पुस्तक के अनुसार, इसका उपयोग 4,000 वर्षों से दक्षिण पूर्व एशिया में एक पाक मसाले और धार्मिक समारोहों में किया जाता रहा है। यह एक सुपरफूड है और इसकी सिर्फ एक चम्मच आधुनिक प्राकृतिक दवा के रूप में काम कर सकती है।

तो क्‍या हल्‍दी की गोलियां लाभदायक हैं?

आजकल लोग हल्दी की गोलियों का उपयोग सबसे ज्यादा इम्युनिटी बढ़ाने और त्वचा संबंधी समस्याएं जैसे एक्ने या मुंहासों को ठीक करने के लिए कर रहे हैं। हां हल्दी का सेवन करना बिल्कुल सही है मगर अन्य चीजों के साथ मिलाकर।

ऐसा इसलिए क्योंकि ये गोलियां प्रोसेस्ड होती हैं, अपने आकार में आने के लिए कई तरह की केमिकल प्रक्रिया से होकर गुज़रती हैं और किसी भी चीज़ के प्राकृतिक मूल रूप से बेहतर कुछ भी नहीं है!

निष्‍कर्ष यह है कि हल्‍दी एक सुपरफूड है

सेलिब्रिटी डायटीशियन रुजुता दिवेकर मानती हैं, सुपरफूड वही है जिसे कई तरह से सेवन किया जा सकता है, लेकिन अन्‍य चीजों के साथ मिलाकर। आप हल्दी को अपने खाने में इस्तेमाल कर सकते हैं, इसे दूध में मिलाकर हर रोज़ पी सकती हैं, हल्‍दी को दाल, सब्‍जी में मिलाकर खाया जा सकता है! और हमें लगता है कि यह किसी भी गोली के बजाय ज्यादा प्रभावशाली हो सकता है।

यह भी पढ़ें : जितनी ज्‍यादा शराब पिएंगी उतनी कम होती जाएगी आपकी उम्र, यहां हैं 5 कारण

ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ

प्रकृति में गंभीर और ख्‍यालों में आज़ाद। किताबें पढ़ने और कविता लिखने की शौकीन हूं और जीवन के प्रति सकारात्‍मक दृष्टिकोण रखती हूं।