क्या आपको थायराइड हैं और फिर भी चावल खाती हैं? तो ये लेख है आपके लिए

आज कल हर दूसरा व्यक्ति थायराइड की समस्या का सामना कर रहा है। महिलाओं में यह समस्या अधिक देखी जा रही है। कई लोग थायराइड में चावल से परहेज करने को कहते हैं, तो आइए जानते हैं इसमें कितनी सच्चाई है।

thyroid ke lakshan
जानिए थायराइड में चावल खाने के नुकसान
टीम हेल्‍थ शॉट्स Published on: 26 December 2022, 08:00 am IST
  • 147
इस खबर को सुनें

आपका थायराइड (thyroid) आपके कॉलरबोन (collarbone) के ठीक ऊपर, आपकी गर्दन में एक तितली के आकार की ग्रंथि (butterfly-shaped gland) है। यह आपकी एंडोक्राइन ग्लैंड्स (endocrine glands) में से एक है, जो हार्मोन बनाती है। थायराइडहार्मोन आपके शरीर में कई गतिविधियों को नियंत्रित करते हैं जैसे आप कितनी तेजी से कैलोरी बर्न करते हैं और आपका दिल कितनी तेजी से धड़कता है। ये सभी गतिविधियां आपके शरीर के मेटाबॉलिज्म हैं। जब गले में पाई जाने वाली थायराइड ग्रंथि सामान्य कार्य करना बंद कर देती है, तब थायराइड की समस्या आती है। जिसके कारण आपको कई तरह की समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है। ज्यादातर लोग मानते हैं कि थायराइड में चावल (eating rice in thyroid) खाना परेशानी भरा हो सकता है। आइए एक्सपर्ट से जानते हैं कैसे।

थायराइड ग्लैंड आपकी गर्दन में एक एंडोक्राइन ग्लैंड्स (endocrine gland) है। थायराइड हार्मोन विभिन्न रासायनिक पदार्थों को इकट्ठा करके रक्त में भेजने का काम करते हैं। : थायरोक्सिन (T4) और ट्राईआयोडोथायरोनिन (T3)। आपके शरीर की सभी कोशिकाओं (cells) के सामान्य रूप से काम करने के लिए ये हार्मोन जरूरी हैं।

नेशनल लाइब्रेरी ऑफ मेडिसिन के अनुसार थायराइड रोग दुनिया भर में आम हैं। भारत में भी थायराइड की बीमारियों की संख्या काफी बढ़ी है। थायराइड रोग पर विभिन्न अध्ययनों के अनुसार, यह अनुमान लगाया गया है कि भारत में लगभग 42 मिलियन लोग थायराइड रोग से पीड़ित हैं।

भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद ने राष्ट्रीय कैंसर पंजीकरण कार्यक्रम की स्थापना की, और एनसीआरपी ने 1984 और 1993 के बीच 3,00,000 से अधिक कैंसर रोगियों का डेटा एकत्र किया है। इन रोगियों में, एनसीआरपी ने थायरॉयड कैंसर के 5614 मामले दर्ज किए, और इसमें 3617 महिलाएं और 2007 पुरुष शामिल थे।

पुरुषों से ज्यादा महिलाओं को प्रभावित करती हैं थायराइड की ये समस्याएं:

हाइपोथायरायडिज्म (hypothyroidism)
हाइपरथायरायडिज्म (hyperthyroidism)
थायराइडाइटिस, विशेष रूप से पोस्टपार्टम थायरॉयडिटिस (Thyroiditis, especially postpartum thyroiditis)
गोइटर (goiter)
थायरॉइड नोड्यूल्स (Thyroid nodules)
थायराइड कैंसर (Thyroid cancer)

thyroid mei chawal khane ke nuksaan
जानिए क्यों थायराइड की समस्या होने पर आपको नहीं खाने चाहिए चावल चित्र:शटरस्टॉक

इन संकेतों से पहचानिए थायराइड के लक्षण

1 अत्यधिक थकान

जब आपका हृदय (heart) और ब्लड प्रेशर (blood pressure) ठीक से काम नहीं कर रहे हों, तो आपको अत्यधिक थकान का महसूस हो सकती है। यह अक्सर हाइपोथायरायडिज्म से जुड़ा होता है और परेशानी का पहला संकेत होता है। अत्यधिक नींद या सुबह उठने या नींद नहीं आने की समस्या को गंभीरता से लेना चाहिए।

2 वजन बढ़ना या कम होना

वजन बढ़ना या कम होना थायराइड की समस्या के शुरुआती लक्षणों में से एक है। तेजी से वजन बढ़ना थायराइड फ़ंक्शन का संकेत है।

3 मेंस्ट्रुअल साइकल (Menstrual Cycle) या सेक्सुअल परफॉर्मेंस (Sexual Performance) में बदलाव

हार्मोनल बदलाव और यौन प्रक्रिया एक दूसरे से जुड़े होते हैं। यदि आपके पीरियड्स अनियमित, तेज, या पहले से ज्यादा दर्दनाक है, तो आपका थायराइड इसका कारण हो सकता है।

4 नींद की समस्या

हमारा थायराइड अक्सर हमारे ऊर्जा के स्तर (energy levels) को नियंत्रित करता है, .यदि आपको सामान्य नींद लेने में परेशानी हो रही है या आप सो नहीं पा रहे हैं या रात भर में कई बार जाग रहे हैं, तो आप हाइपरथायरायडिज्म को शिकार हो सकते है।

थायराइड के कारण महिलाओं को हो सकती हैं ये समस्याएं

यूएस डिपार्टमेंट ऑफ़ हेल्थ एंड ह्यूमन सर्विसेस अनुसार पुरुषों की तुलना में महिलाओं में थायराइड रोग होने की संभावना अधिक होती है। आठ में से एक महिला को अपने जीवन में थायरॉइड की समस्या का सामना करती है। महिलाओं में, थायरॉइड रोग के कारण हो सकते हैं:

1 पीरियड्स में समस्याएं

आपका थायराइड आपके पीरियड्स (periods) साइकल को नियंत्रित करने में मदद करता है। बहुत ज्यादा या बहुत कम थायराइड हार्मोन आपके पीरियड्स को हल्का, भारी या अनियमित बना सकता है। थायराइड की बीमारी भी आपके पीरियड्स को कई महीनों या उससे अधिक समय तक रोक सकती है, इस स्थिति को एमेनोरिया कहा जाता है।

2 प्रेगनेंसी में समस्याएं और जटिलता

जब थायराइड रोग पीरियड्स साइकल को प्रभावित करता है, तो यह ओव्यूलेशन को भी प्रभावित करता है। इससे प्रेगनेंसी में कठिनाई हो सकती है। गर्भावस्था के दौरान थायराइड की समस्या मां और बच्चे के लिए स्वास्थ्य समस्याएं पैदा कर सकती है। कभी-कभी, थायराइड रोग, विशेष रूप से हाइपोथायरायडिज्म के विकसित होने संभावना मेनोपॉज (menopause) के बाद अधिक होती है।

thyroid mei chawal khane se baache
थायराइड ग्लैंड आपकी गर्दन में एक एंडोक्राइन ग्लैंड्स (endocrine gland) है। चित्र शटरस्टॉक।

क्या थायराइड में चावल हानिकारक हो सकता है या नहीं ये जानने के लिए हमने बात की डाइटिशियन शीनम नारंग (dietbysheenam) से

क्या चावल खाने की वजह से थायराइड बढ़ता है

डाइटीशियन शीनम नारंग के अनुसार चावल में ग्लूटेन प्रोटीन होता है, जो थायरॉयड के मरीजों के लिए नुकसानदेह साबित हो सकता है। ये एक तरह का प्रोटीन है जो शरीर में जाकर एंटीबॉडीज की संख्या को बॉडी में कम कर देता है। इसके अलावा, थायरॉक्सिन हार्मोन के अनियमयित होने के लिए भी ग्लूटेन को जिम्मेदार माना जाता है।

वे आगे कहती हैं, “चावल खाना अच्छा या बुरा नहीं है, लेकिन अपने मेटाबॉलिज़म को ठीक रखने और अपने थायरॉयड ग्रंथि की मदद करने के लिए ओट्स, ब्राउन राइस, स्प्राउट्स, अंकुरित अनाज की रोटी खाने की कोशिश करें।”

शीनम नारंग के अनुसार सफेद चावल की तुलना में ब्राउन राइस अधिक पोषक तत्वों से भरपूर होता है। ब्राउन राइस ब्लड शुगर लेवल (blood sugar levels) के स्तर को कम कर सकते हैं और वजन को नियंत्रित करने में मदद कर सकते है। सफेद चावल, पाचन संबंधी कुछ समस्याओं वाले लोगों के लिए फायदेमंद है, जिन्हें फाइबर युक्त आहार को ठीक से पचाने में परेशानी होती है।

ये भी पढ़े- इस मौसम में बीमार होने से बचाएगा इम्युनिटी बूस्टर कच्ची हल्दी का अचार, जानिए कैसे बनाना है

  • 147
लेखक के बारे में
टीम हेल्‍थ शॉट्स टीम हेल्‍थ शॉट्स

ये हेल्‍थ शॉट्स के विविध लेखकों का समूह हैं, जो आपकी सेहत, सौंदर्य और तंदुरुस्ती के लिए हर बार कुछ खास लेकर आते हैं।

पीरियड ट्रैकर

अपनी माहवारी को ट्रैक करें हेल्थशॉट्स, पीरियड ट्रैकर
के साथ।

ट्रैक करें
nextstory

हेल्थशॉट्स पीरियड ट्रैकर का उपयोग करके अपने
मासिक धर्म के स्वास्थ्य को ट्रैक करें

ट्रैक करें