क्या प्रेगनेंसी में गर्म पानी पीना गर्भपात का कारण हो सकता है? एक्सपर्ट से जानते हैं क्या है सच्चाई

सुबह-सुबह गर्म पानी पीना पाचन बेहतर बनाने और बॉडी को डिटॉक्स करने में मददगार हो सकता है। पर क्या यही प्रैक्टिस गर्भावस्था के दौरान भी करनी चाहिए?

pregnancy eclampsia se kya hota hai
प्रीक्लेम्पसिया और एक्लेम्पसिया गर्भावस्था के दौरान उच्च रक्तचाप की समस्या हैं। चित्र : शटरस्टॉक
ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ Published on: 7 October 2022, 08:00 am IST
  • 120

सुबह उठकर या सर्दी – खांसी, जुकाम में गर्म पानी पीना स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद माना जाता है। इतना ही नहीं यह शरीर को रोग मुक्त रखता है। सुबह खाली पेट इसका सेवन करने से आपका पेट भी अच्छी तरह से साफ हो सकता है। यहां तक कि पीरियड्स के दौरान गर्म पानी आपको क्रैम्प्स से भी राहत दिला सकता है। आयुर्वेद में भी गर्म पानी पीने के कई फायदे बताए गए हैं। मगर ऐसा माना जाता है कि प्रेगनेंसी के दौरान कोई भी गर्म चीज़ नहीं खानी चाहिए। यहां तक कि गर्म पानी से नहाने को भी माना किया जाता है। तो क्या गर्भावस्था में गर्म पानी पीने से भी परहेज किया जाना चाहिए? क्या गर्म पानी का सेवन मिसकैरेज (can hot water lead to miscarriage) का कारण बन सकता है? इस बारे में बहुत सारे लोग बात कर रहे हैं। तो चलिए क्यों न इस बारे में एक्सपर्ट से विस्तार में जाना जाए।

यदि आपको संदेह है कि गर्म पानी पीने से गर्भपात हो सकता है, तो हेल्थ शाॅट्स के इस लेख में हम एक एक्सपर्ट से कर रहे हैं, इस बारे में विस्तार से बातचीत। इस बारे में अधिक जानने के लिए हमने गायनेकोलॉजिस्ट डॉ. नीरज शर्मा से बात की।

पहले समझिए गर्भपात या मिसकैरेज को

डाॅ नीरज कहती हैं, “मिसकैरेज यानी गर्भपात वह स्थिति है जिसमें गर्भ में 20 सप्ताह से पहले ही भ्रूण की मृत्यु हो जाती है। गर्भपात एक शारीरिक और भावनात्मक रूप से दुर्बल करने वाली स्थिति है। गर्भपात को कभी-कभी प्रारंभिक गर्भावस्था विफलता या सहज गर्भपात भी कहा जाता है। गर्भपात के कई कारण होते हैं, जैसे क्रोमोसोमल असामान्यताएं, गर्भाशय रोग, संक्रमण आदि।”

गर्भपात के दौरान हो सकते हैं ये लक्षण

गंभीर ऐंठन और पेट दर्द
वेजाइनल डिस्चार्ज
पीठ दर्द
योनि से खून बहना
उल्टी, घबराहट और ब्रेस्ट टेंडरनेस

क्या हो सकते हैं गर्भपात के कारण

संक्रमण
गर्भाशय का रोग
अनुचित निषेचित अंडा आरोपण
जीवन शैली कारक

क्या गर्म पानी का सेवन मिस्कैरेज का कारण बन सकता है। चित्र : शटरस्टॉक

प्रेगनेंसी में गर्म पानी पीना बन सकता है मिसकैरेज का कारण? (can hot water lead to miscarriage)

जब आप गर्भवती हों, तो आपको पर्याप्त मात्रा में पानी पीने की सलाह दी जाती है। यह आपको हाइड्रेटेड और डिटॉक्सीफाई रखता है। यह आपके शरीर की चयापचय गतिविधियों को भी बढ़ाता है। गर्भावस्था के दौरान गर्म पानी पीना भी मददगार होता है, क्योंकि यह थकान, डिहाइड्रेशन, पेट की ख़राबी को दूर रखता है और समय से पहले प्रसव के जोखिम को कम करता है।

चूंकि आपके शिशु का स्वास्थ्य सीधे तौर पर आपके स्वास्थ्य से जुड़ा है, इसलिए आपके द्वारा पिया गया पानी गुनगुना होना चाहिए, पर गर्म नहीं। गर्भावस्था के दौरान पिया जाने वाला पानी शुद्ध और साफ होना चाहिए। एक गर्भवती मां के लिए हाइड्रेटेड रहना बहुत जरूरी है।

इस बारे में अधिक जानने के लिए हमने गायनेकोलॉजिस्ट डॉ. नीरज शर्मा से बात की – उनका मानना है कि गर्म पानी पीना फायदेमंद होता है, लेकिन अगर आप इसका प्रेगनेंसी में सेवन कर रही हैं, तो गुनगुने पानी का सेवन करें और बार-बार न करें।

डॉ शर्मा भी मानती हैं कि गुनगुना पानी पीने से गर्भावस्था के दौरान गर्भपात नहीं होता। इसके बजाय, यह आपको हाइड्रेटेड रखने में मदद करता है और आपके शरीर को किसी भी संक्रमण से लड़ने में मदद करता है। मगर बहुत अधिक गर्म पानी पीना हानिकारक हो सकता है, क्योंकि यह मुंह और गले की आंतरिक परत को नुकसान पहुंचा सकता है।

यह बच्चे के विकास में समस्या पैदा करता है। साथ ही, कई अध्ययनों में भी यह साबित हुआ है कि प्रेगनेंसी में हॉट शावर नहीं लेना चाहिए। यह गर्भपात का कारण बन सकता है।

गर्भावस्था के दौरान गर्म पानी पीने के कुछ और नुकसान हो सकते हैं

आपको गर्भावस्था के दौरान मॉर्निंग सिकनेस से पहले निपटना होता है, इसलिए गर्म पानी पीने से पेट में दर्द बढ़ सकता है और आपका शरीर असहज स्थिति में आ सकता है।

गर्म पानी पीने से आपके शरीर पर सीधा प्रभाव नहीं पड़ता है। हालांकि, इससे आपके मुंह और गले के क्षेत्र को नुकसान होगा, जिससे भोजन के पोषण को पचाने में कठिनाई हो सकती है।

डॉ. नीरज के अनुसार लगातार गर्म पानी पीना यूटरस की इनर लाइनिंग में ब्लीडिंग का कारण बन सकता है। मगर कभी – कभी गुनगुना पानी पीने में कोई समस्या नहीं है।

यह भी पढ़ें : हरदम थकी रहती हैं, तो ये हो सकता है कमजोर मेटाबॉलिज़्म के कारण, ये 5 फूड्स हैं आपके लिए जरूरी

  • 120
लेखक के बारे में
ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ

प्रकृति में गंभीर और ख्‍यालों में आज़ाद। किताबें पढ़ने और कविता लिखने की शौकीन हूं और जीवन के प्रति सकारात्‍मक दृष्टिकोण रखती हूं।

पीरियड ट्रैकर

अपनी माहवारी को ट्रैक करें हेल्थशॉट्स, पीरियड ट्रैकर
के साथ।

ट्रैक करें
nextstory

हेल्थशॉट्स पीरियड ट्रैकर का उपयोग करके अपने
मासिक धर्म के स्वास्थ्य को ट्रैक करें

ट्रैक करें