वैलनेस
स्टोर

क्या सर्दियों में आंवला का ज्‍यादा सेवन भी हो सकता है नुकसानदेह? आइये जानते हैं

Updated on: 21 December 2020, 09:31am IST
इम्युनिटी बढ़ाने से लेकर स्वस्थ बालों और त्वचा तक, आंवला हमारे लिए बहुत लाभदायक है। लेकिन क्या आप जानती हैं कि इसका अधिक सेवन भी आपके स्‍वास्‍थ्‍य के लिए हानिकारक हो सकता है।
विदुषी शुक्‍ला
  • 82 Likes
आंवला अधिक खाना आपको नुकसान भी कर सकता है। चित्र : शटरस्टॉक

सर्दियों में हमें अपने खानपान का खास ख्याल रखना जरूरी है। लेकिन कुछ ऐसे फायदेमंद फूड्स हैं जिनका सर्दियों में सेवन नुकसानदेह हो सकता है। ऐसा ही एक फूड है विटामिन सी और एंटीऑक्सीडेंट का भंडार आंवला। आंवले के फायदों को तो हम सभी जानते हैं, लेकिन वैज्ञानिकों ने पाया है कि सर्दियों में आंवले का अधिक सेवन हमारे स्वास्थ्य के लिए नुकसानदायक हो सकता है।

गुणों का भंडार आंवला सीमित मात्रा में ही फायदा करता है

इम्यूनिटी बनाए रखने के लिए जरूरी विटामिन सी का खजाना है आंवला। इसके अलावा इसमें विटामिन ए, विटामिन बी कॉम्लेक्स, कैल्शियम, पोटेशियम, मैग्नीशियम, आयरन, फाइबर और डाययूरेटिक एसिड भी पाया जाता है। जर्नल ‘आयु’ के अनुसार इसमें मौजूद एंटी ऑक्सीाडेंट फ्री रेडिकल्स को खत्म करने का काम करते हैं। आपके बाल, त्वचा, आंखें और ब्लड शुगर लेवल सभी के लिए आंवले का सेवन बहुत फायदेमंद होता है।
लेकिन अगर आप सर्दी में इसका अधिक सेवन करती हैं तो इसके फायदों से ज्यादा नुकसान हो सकते हैं।

ये हैं सर्दियों में आंवके का अधिक करने के नुकसान

1. सर्दी जुखाम बढ़ा सकता है आंवला

अगर आपको सर्दी जुखाम है या अक्सर रहता है, तो सर्दियों में आंवले के सेवन से बचें। आंवले का खट्टापन गले के लिए नुकसानदेह हो सकता है और खांसी, खराश जैसी समस्याओं को बढ़ा सकता है। इसलिये अगर आपको फ्लू की समस्या है, तो आंवले का सेवन न करें।

2. तासीर में ठंडा होता है आंवला

आंवले की तासीर ठंडी होती है यानी ये शरीर को ठंडक पहुंचाता है। यही कारण है कि सर्दियों में इसके अधिक सेवन के लिए मना किया जाता है। अगर आप नियमित कच्चा आंवला खाती हैं या जूस पीती हैं तो इसके साथ काली मिर्च लें। ये ठंडक को खत्म करेगी और गले मे समस्या भी नहीं होगी।

क्यों सर्दियों में नही खाना चाहिए आंवला। चित्र: शटरस्‍टॉक

3. डायरिया भी हो सकता है आंवला का एक साइड इफेक्ट

अगर आप अत्यधिक आंवला खाती हैं, तो डायरिया की समस्या भी हो सकती है। जैसा कि आप जानती ही हैं, आंवले में फाइबर भरपूर मात्रा में होता है। ऐसे में अगर आप ज्यादा फाइबर का सेवन कर लेती हैं तो डायरिया और अन्य पेट सम्बंधी समस्याओं की संभावना बढ़ जाती हैं।

,में लेमनग्रास आराम दिलाती है। चित्र: शटरस्‍टॉक
एसिडिटी, पाचन संबंधी समस्‍याओं के लिए जिम्मेदार है आंवला। चित्र: शटरस्‍टॉक

4. एसिडिटी के लिए भी है जिम्मेदार

अधिक आंवला खाना आपके पाचन को प्रभावित कर सकता है। आंवला का अधिक सेवन एसिडिटी का कारण बन सकता है क्योंकि आंवला भी एसिडिक होता है। खट्टेपन के कारण आंवला एसिडिटी को ट्रिगर कर सकता है। इसलिए अत्यधिक आंवला खाने से बचें।
तो लेडीज, भले ही आंवला रोज खाना एक अच्छी आदत है, लेकिन सर्दियों में इसके अधिक सेवन से बचें।

विदुषी शुक्‍ला विदुषी शुक्‍ला

पहला प्‍यार प्रकृति और दूसरा मिठास। संबंधों में मिठास हो तो वे और सुंदर होते हैं। डायबिटीज और तनाव दोनों पास नहीं आते।