सुस्ती या आलस नहीं एनर्जी की कमी भी करती है प्रोडक्टिविटी को प्रभावित, यहां हैं एनर्जी बूस्ट करने के 5 टिप्स

ऊर्जा शक्ति की कमी बॉडी से लेकर ब्रेन प्रोडक्टिविटी को प्रभावित कर सकती है। यहां बताए इन 5 प्रभावी टिप्स से मिलेगी मदद।

energy boosting tips
यहां जाने एनर्जी बूस्ट करने के 5 प्रभावी टिप्स। चित्र शटरस्टॉक।
अंजलि कुमारी Updated on: 9 January 2023, 15:02 pm IST
  • 127
इस खबर को सुनें

बहुत से लोग सुबह उठते के साथ जरूरत से ज्यादा थकान और कमजोरी महसूस करते हैं। हालांकि, यह कुछ और नहीं आपके शरीर में ऊर्जाशक्ति के कमी की निशानी है। ऊर्जाशक्ति की कमी के कारण सेहत, काम और आपकी पूरी दिनचार्य बुरी तरह प्रभावित हो जाती है। साथ ही यह आपके प्रोडक्टिविटी को भी कम कर देता है। अब सवाल यह है कि आखिर इस समस्या का जिम्मेदार कौन है। तो आपको बताएं कि आपकी ऊर्जाशक्ति पूरी तरह आपके ऊपर निर्भर करती है। शरीर में पोषक तत्वों की कमी से लेकर आपकी कुछ नियमित आदतें भी ऊर्जा शक्ति की कमी का कारण हो सकती हैं।

इसमे परेशान होने वाली कोई बात नहीं है। यदि आपको भी ऊर्जाशक्ति की कमी महसूस होती है, तो आज हम लेकर आए हैं ऐसे 5 टिप्स (energy boosting tips) जो शारीरिक ऊर्जा को बनाये रखने में आपकी मदद करेंगे। चलिए जानते हैं किस तरह ऊर्जाशक्ति को बनाये रखना हैं।

इन 5 तरीकों से बूस्ट करें एनर्जी (energy boosting tips)

1. हर रोज़ खाएं मुट्ठी भर ड्राई फ्रूट्स (Add dry fruits in diet)

पब मेड सेंट्रल के अनुसार नट्स में पर्याप्त मात्रा में सभी जरूरी मैक्रोन्यूट्रिएंट जैसे की प्रोटीन, कार्बोहाइड्रेट और फैट मौजूद होता है। यह प्लांट प्रोटीन का एक बेहतरीन स्रोत है। साथ ही इसमे फाइबर, विटामिंस, एंटीऑक्सीडेंट और मिनरल्स की भरपूर मात्रा पाई जाती है। ऐसे में इसका सेवन शरीर को पर्याप्त ऊर्जा प्रदान करता है।

energy boosting foods
नियमित रुप से ड्राइ फ्रूट्स का सेवन करना एनर्जी बूस्ट करने में मदद कर सकता है। चित्र : शटरकॉक

यह भी पढ़ें : कोरोना के बढ़ते मामलों से डरने के बजाए, जानिए कैसे रखना है अपनी मेंटल हेल्थ का ख्याल

2. स्मोकिंग करती हैं तो छोड़ दें (Quit smoking)

धूम्रपान छोड़ने के एक या दो दिनों के अंदर आपका शरीर सिगरेट के धुएं में पाई जाने वाली सभी जहरीली कार्बन मोनोऑक्साइड गैस और निकोटिन से मुक्त हो जाता है। ऐसे में ब्लड फ्लो सामान्य रहता है और ब्लड में ऑक्सीजन का स्तर बढ़ता है।परिणामस्वरूप यह आपकी त्वचा की सेहत से लेकर समग्र सेहत के लिए फायदेमंद होता है। वहीं यह आपके शरीर को पर्याप्त ऊर्जा प्रदान करता है।

3. पर्याप्त नींद लेना है जरूरी (Good Sleep)

जब हम नींद में होते हैं तो शरीर खुदको प्रकृतिक रूप से रिपेयर कर रहा होता है। ऐसे में पर्याप्त नींद लेकर शरीर को मसल्स रिपेयर करने के लिए उचित समय देना जरूरी है। 7 से 8 घंटे की उचित नींद लेने से शरीर में एटीपी का उत्पादन बढ़ जाता है। एटीपी एक प्रकार का बॉडी एनर्जी मॉलिक्यूल है, जो शरीर को पर्याप्त ऊर्जा प्रदान करता है।

4. योगाभ्यास बढ़ाएगा स्टेमिना (Practice Yoga)

योग का नियमित अभ्यास आपको शारीरिक एवं मानसिक रूप से ऊर्जा प्रदान करता है। यह शरीर में ऑक्सीजन के स्तर को बढ़ा देता है इसके साथ ही स्पाइनल कॉर्ड के ब्लॉकेज को रिमूव करता है और एनर्जी फ्लो को बढ़ावा देता है। ऊर्जा शक्ति को बनाये रखने के लिए सेतु बंधासन, वीरभद्रासन, उत्कटासन जैसे योग का अभ्यास कर सकती हैं।

yog rhega asardar
योगाभ्यास रहेगा असरदार। चित्र शटरस्टॉक।

5. हर्बल टी पियें (Drink herbal tea)

अदरक, पुदीना, ब्लैक टी जैसे हर्बल टी ऊर्जा शक्ति को बनाये रखने में आपकी मदद करेंगे। 1 कप ब्लैक टी में कॉफी के 1 कप की तुलना में आधे मात्रा में कैफीन मौजूद होता है। ऐसे में आप अपने दिन की शुरुआत ब्लैक टी से कर सकती हैं। इसके साथ ही पुदीने की चाय में कैफीन नहीं होता।

नेशनल लाइब्रेरी द्वारा प्रकाशित एक अध्ययन के अनुसार पुदीना में मौजूद पोषक तत्व ब्रेन को एक्टिव रखते हैं और शारिरिक गतिविधियों को करने की क्षमता को बढ़ा देते हैं। वहीं अदरक को आयुर्वेदिक रूप से इम्युनिटी बूस्ट करने से लेकर ऊर्जा शक्ति को बढ़ाने के लिए एक प्रभावी खाद्य स्रोत के रूप में जाना जाता है। आप चाहें तो अपनी मनपसंदीदा हर्बल टी के साथ ऊर्जा शक्ति को बनाये रख सकती हैं।

यह भी पढ़ें : बार-बार बुखार आना या नाक बहना हो सकते हैं कमजोर इम्युनिटी के संकेत, जानिए कैसे बूस्ट करनी है इम्युनिटी

  • 127
लेखक के बारे में
अंजलि कुमारी अंजलि कुमारी

इंद्रप्रस्थ यूनिवर्सिटी से जर्नलिज़्म ग्रेजुएट अंजलि फूड, ब्यूटी, हेल्थ और वेलनेस पर लगातार लिख रहीं हैं।

पीरियड ट्रैकर

अपनी माहवारी को ट्रैक करें हेल्थशॉट्स, पीरियड ट्रैकर
के साथ।

ट्रैक करें
nextstory

हेल्थशॉट्स पीरियड ट्रैकर का उपयोग करके अपने
मासिक धर्म के स्वास्थ्य को ट्रैक करें

ट्रैक करें