Nutritional Deficiency : इन 4 तरीकों से आपका शरीर देता है पोषक तत्वों की कमी के संकेत

पोषक तत्व हमें जीवित रहने के लिए ज़रूरी ऊर्जा प्रदान करते हैं और साथ ही हमारे शरीर को सांस लेने और कोशिकाओं की मरम्मत जैसी कई प्राकृतिक प्रक्रियाओं में मदद करते हैं। हममें से ज़्यादातर लोगों में पोषक तत्वों की कमी होती है, लेकिन हमे ये पता नहीं होता है क्योंकि हम अपने शरीर की नियमित रूप से जंच नहीं करवाते है।
lean mass badhane ke liye macronutrients len
पोटेशियम की कमी से आपकी मांसपेशिया कमजोर हो जाती है। चित्र : अडोबी स्टॉक
संध्या सिंह Published: 23 Jun 2024, 11:30 am IST
  • 134

हमारा शरीर हमें यह बताने में बहुत अच्छा है कि कब कुछ गड़बड़ है। आपके शरीर में छोटे छोटे संकेत जिन्हें आप अनदेखा कर देते है वो आपके शरीर में कई पोषक तत्वों की कमी के बारे में बताते है। जैसे खड़े होते ही चक्कर आना, अचानक क्रैंप पड़ना, तेज झनझनाहट होना। ये संकेत हम सभी लोग दिन में एक बार या कभी कभी हफ्ते में अनुभव करते ही होंगे लेकिन आप इन चीजों पर ध्यान नहीं देते है लेकिन आपको इन पर ध्यान देने की जरूरत है और ये जानने की जरूरत है कि आपको ये सब परेशानी किन पोषक तत्वों के कारण होती है।

पोषक तत्व हमें जीवित रहने के लिए ज़रूरी ऊर्जा प्रदान करते हैं और साथ ही हमारे शरीर को सांस लेने और कोशिकाओं की मरम्मत जैसी कई प्राकृतिक प्रक्रियाओं में मदद करते हैं। हममें से ज़्यादातर लोगों में पोषक तत्वों की कमी होती है, लेकिन हमे ये पता नहीं होता है क्योंकि हम अपने शरीर की नियमित रूप से जंच नहीं करवाते है।

Jaanein leg pain ke kaaran
पोटेशियम के निम्न स्तर के कारण सामान्य थकान और ऊर्जा की कमी हो सकती है। चित्र : शटरस्टॉक

चलिए जानते है वो संकेत जो बताते है आपके शरीर में पोषक तत्वों की कमी

1 बॉडी पेन : पोटेशियम की कमी

क्या आपको शरीर में हमेशा दर्द होता रहता है। हाथों या पैरों में दर्द की समस्या आपको परेशान करती है। तो आपके शरीर में पोटेशियम की कमी हो सकती है। पोटेशियम की कमी से आपकी मांसपेशिया कमजोर हो जाती है। पोटेशियम के निम्न स्तर के कारण सामान्य थकान और ऊर्जा की कमी हो सकती है। इसके कारण आपकी हार्ट रेट प्रभावित हो सकती है साथ ही आपको घबराट भी हो सकती है।

पोटेशियम की कमी को पूरा करने के लिए आहार

केला, एवोकाडो, शकरकंद, पालक, चुकंदर इन सभी चीजों को आपकी डाइट में शामिल करें इससे आपकी पोटेशियम की कमी पूरी हो सकती है और बॉडी पेन की समस्या खत्म हो सकती है।

2 रूखी और खुश्क त्वचा : जिंक की कमी

कई लोगों की स्किन हमेशा ही ड्राई रहती है औऱ कुछ लोगों की स्किन मौसम के अनुसार बदलती रहती है। सर्दियों में सूख जाती है और गर्मियों में ऑयली हो जाती है। लेकिन अगर किसी की स्किन लगातार ड्राई है और रूखी है तो उन्हें जिंक की कमी हो सकती है। जी हां जिंक की कमी के कारण आपकी स्किन साल के 365 दिन ड्राई रह सकती है। डरमेटाइटिस या एक्जिमा जैसे लक्षण, विशेष रूप से मुंह, नाक और आंखों के आसपास सभी जिंक की कमी के संकेत हो सकते है।

जिंक की कमी को पूरा करने के लिए आहार

जिंक युक्त खाद्य पदार्थों जैसे ओट्स, कद्दू के बीज, छोले, काजू आदि का सेवन बढ़ाएं। ये सभी चीजें जिंक से भरपूर होती है और आपकी स्किन को ठीक करने का काम कर सकती है।

3 पेट पर चर्बी : हाई एस्ट्रोजन

कई लोगों के बैली एरिया पर चर्बी होती है और पूरे शरीर में चर्बी नहीं होती है। एक उम्र के बाद कई महिलाओं को भी ये समस्या होने लगती है। महिलाओं को पेट पर बहुत चर्बी आने लगती है। ये एस्ट्रोजन के बढ़ने के कारण होता है। एस्ट्रोजन, पुरुषों और महिलाओं दोनों में एक प्रमुख हार्मोन है, जो वसा वितरण में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है।

एस्ट्रोजन के स्तर में उतार-चढ़ाव, खास तौर पर महिलाओं में मेनोपॉज के दौरान, शरीर में वसा के वितरण में बदलाव ला सकता है। एस्ट्रोजन का ज्यादा स्तर पेट की चर्बी में वृद्धि से जुड़ा हुआ है।

अपनी रुचि के विषय चुनें और फ़ीड कस्टमाइज़ करें

कस्टमाइज़ करें

अतिरिक्त एस्ट्रोजन कंट्रोल करने के लिए अधिक क्रूसिफेरस, गाजर खाएं।

fal ka jyada sewan karne se badh sakta hai motapa
महिलाओं को पेट पर बहुत चर्बी आने लगती है। ये एस्ट्रोजन के बढ़ने के कारण होता है। चित्र : शटरस्टॉक

4 मसल क्रैंप : मैग्नीशियम की कमी

चलते चलते या देर तक एक ही जगह पर बैठे रहन से कई लोगों को मांसपेशियों में क्रैंप आने लगता है। इससे उन्हें एक जगह पर थोड़ी देर के लिए बहुत तेज दर्द होता है। ये आपके शरीर में मैगनिशियम की कमी के कारण हो सकता है।

मैग्नीशियम एक आवश्यक इलेक्ट्रोलाइट है जो पोटेशियम और कैल्शियम जैसे अन्य इलेक्ट्रोलाइट्स के संतुलन को बनाए रखने में मदद करता है। असंतुलन सामान्य मांसपेशी के काम को बाधित कर सकता है।

मैग्नीशियम की कमी को पूरा करने के लिए आहार

पालक, काजू, एवोकाडो, कोको, कद्दू के बीज का सेवन करके आप मैग्नीशियम की कमी को पूरा कर सकते है।

ये भी पढ़े- Peach for skin : आड़ू आपको दे सकता है जवां-रेडिएंट स्किन, जानिए कैसे कर सकती हैं इसका इस्तेमाल

  • 134
लेखक के बारे में

दिल्ली यूनिवर्सिटी से जर्नलिज़्म ग्रेजुएट संध्या सिंह महिलाओं की सेहत, फिटनेस, ब्यूटी और जीवनशैली मुद्दों की अध्येता हैं। विभिन्न विशेषज्ञों और शोध संस्थानों से संपर्क कर वे  शोधपूर्ण-तथ्यात्मक सामग्री पाठकों के लिए मुहैया करवा रहीं हैं। संध्या बॉडी पॉजिटिविटी और महिला अधिकारों की समर्थक हैं। ...और पढ़ें

अगला लेख