ज्यादा मीठा और डीप फ्राइड फूड चुरा सकता है आपकी नींद, जानिए नींद के लिए सबसे खराब फूड्स के बारे में

खाना एक ऐसी चीज है जो आपकी हर गतिविधि पर असर डालता है। इसलिए कहा जाता है कि अच्छा खाएं और स्वस्थ्य रहें। तभी आप एक अच्छा लाइफस्टाइल मैंटेन कर पाएंगे।
raat mei sone se phele na kahye yee khana
यदि आप वजन घटाने की सोच रहे है तो रात के खाने में उच्च वसा वाले खाद्य पदार्थों से बचना सबसे अच्छा है। चित्र- अडोबी स्टॉक
संध्या सिंह Updated: 23 Oct 2023, 09:12 am IST
  • 134

खाना जो की आपके जीवन का निर्माण करता है आपको जीवित रखने में मदद करता है। एक भोजन ही है जिससे आप अपने जीवन में कोई भी गतिविधि करने में सक्षम हो पाते हो। इसलिए एक स्वस्थ जीवन के लिए स्वस्थ खाने की भी बहुत जरूरत होती है। अगर आपको स्वस्थ रहना है तो केवल खाना ही नही आपको कुछ नही भी खाना होता है लेकिन ये आपको पता होना चाहिए कि आपको क्या खाना है और कब खाना है।

ऐसा कहा जाता है कि सुबह अच्छे से नाशता करें, दोपहर में थोड़ा कम खाएं और रात में बिल्कुल न के बराबर खाएं। रात का खाना बहुत जरूरी होता है क्योकि यह ही तय करता है कि आपकी नींद कैसी होने वाली है। आप क्या खाते हैं और कब खाते हैं इसका आपकी नींद के पैटर्न पर बहुत प्रभाव पड़ता है। यही कारण है कि पोषण विशेषज्ञ उन खाद्य पदार्थों से बचने का सुझाव देते हैं जो आपके नींद चक्र को बाधित कर सकते हैं। तो, अगली बार अपने खाने की योजना बनाने से पहले सुनिश्चित करें कि आप इन खाद्य पदार्थों को छोड़ दें।

ये भी पढ़े- Endometriosis awareness month : यहां हैं पीरियड के दौरान होने वाली 5 गंभीर समस्याएं, जिनके लिए डॉक्टर से मिलना जरूरी है

sleeping aur productivity
जब आप ठीक से सो नहीं पातीं, तब उसका असर आपकी आंखों पर भी पड़ता है। चित्र: शटरस्टॉक

खाना आपकी नींद को कैसे प्रभावित करता है

आप किसी भी खाद्य पदार्थ का सेवन कर रहे हो उसका आपके पाचन, आंत के स्वास्थ्य, शरीर के वजन और नींद पर अलग प्रभाव पड़ता है। रात का खाना सोने से पहले 8 घंटे का उपवास है, इसलिए यह दिन के सबसे महत्वपूर्ण भोजन में से एक होता है। जब आप सोते है तो आपका शरीर भोजन को पचाता है।

इसलिए ऐसे खाद्य पदार्थों का सेवन करना महत्वपूर्ण है जो आसानी से पचने योग्य हों और जिससे एसिड रिफ्लक्स, पेट में दर्द, बेचैनी या सूजन न हो और आपकी नींद में खलल न पड़े। इससे बचने का सबसे अच्छा तरीका है कि ऐसे खाद्य पदार्थों से परहेज करें जो आपको रात भर आपको बेचैन करें।

अच्छी नींद में बाधा बनते हैं ये 4 तरह के फूड्स

1 उच्च वसा वाले खाद्य पदार्थ

डाइट और न्यूट्रिशन स्पेशलिस्ट शीनम नारंग बताती है कि यदि आप वजन घटाने की सोच रहे है तो रात के खाने में उच्च वसा वाले खाद्य पदार्थों से बचना सबसे अच्छा है। क्योंकि उच्च वसा वाले खाद्य पदार्थों के चयापचय और पचाने में अधिक समय लगता है। यह शरीर में वसा को बढ़ाते है जिससे वजन बढ़ने लगता है। उच्च वसा वाले भोजन खाने से बेचैनी और सूजन हो सकती है, जिससे नींद प्रभावित होती है।

ये भी पढ़े- Tomato for Glowing Skin : इन 5 तरीकों से करेंगी त्वचा के लिए टमाटर का इस्तेमाल, तो मिलेगा कुदरती निखार

2 मीठा खाने से बचें

रात के खाने में मीठे के बारे में न सोचे ऐसा हो नही सकता है। लेकिन आपको बता दें कि अगर आप रात के खाने में ज्यादा शक्कर और स्टार्चयुक्त खाद्य पदार्थों का सेवन करते है तो ये आपके रक्त शर्करा के स्तर में तुरंत वृद्धि हो सकती है और इंसुलिन असंतुलन हो सकता है। मधुमेह से पीड़ित लोगों के लिए ये हानिकारक हो सकता है।

sote samay coffee n pien
तले हुए खाद्य पदार्थ सभी को पसंद होते है लेकिन उसे रात में भोजन में खाना बिल्कुल भी अच्छी योजना नहीं है। चित्र : शटरस्टॉक

3 मसालेदार खाने से बचें

रात में मसालेदार खाना खाने से आपके मुंह को स्वाद तो मिल जाता है और आपका मन भी तृप्त हो जाता है। लेकिन ये मसालेदार खाना आपके पेट के लिए हानिकारक हो सकता है। रात में मसालेदार खाना खाने से सीने में जलन और एसिड रिफ्लक्स हो सकता है।

4 तले हुए खाद्य पदार्थ

तले हुए खाद्य पदार्थ सभी को पसंद होते है लेकिन उसे रात में भोजन में खाना बिल्कुल भी अच्छी योजना नहीं है। तले हुए भोजन कोट पचाने में काफी समय लगता है। जिसके कारण बेचैनी, सूजन और एसिड रिफ्लक्स हो सकता है। इसलिए रात में जंक फूड के सेवन से बचे ताकि आपकी नींद खराब न हो।

अपनी रुचि के विषय चुनें और फ़ीड कस्टमाइज़ करें

कस्टमाइज़ करें

ये भी पढ़े- World sleep day 2023 : डिप्रेशन, एंग्जाइटी और हाइपरटेंशन की वजह कहीं नींद की कमी तो नहीं? एक्सपर्ट बता रहे हैं जोखिम

  • 134
लेखक के बारे में

दिल्ली यूनिवर्सिटी से जर्नलिज़्म ग्रेजुएट संध्या सिंह महिलाओं की सेहत, फिटनेस, ब्यूटी और जीवनशैली मुद्दों की अध्येता हैं। विभिन्न विशेषज्ञों और शोध संस्थानों से संपर्क कर वे  शोधपूर्ण-तथ्यात्मक सामग्री पाठकों के लिए मुहैया करवा रहीं हैं। संध्या बॉडी पॉजिटिविटी और महिला अधिकारों की समर्थक हैं। ...और पढ़ें

अगला लेख