और पढ़ने के लिए
ऐप डाउनलोड करें

बेड टाइम योगा: जानिए कैसे बेहतर नींद देने और आराम महसूस करवाने में मदद कर सकते हैं ये आसन 

Published on:1 March 2021, 18:30pm IST
यदि आप रात में अच्‍छी नींद लेना चाहती हैं, तो इन सरल और प्रभावी बेड टाइम योगासन का अभ्यास करें।
टीम हेल्‍थ शॉट्स
  • 80 Likes
। चित्र-शटरस्टॉक।

रात को ली गयी नींद का प्रभाव सुबह उठ कर हमारे शरीर पर पड़ता है और ये हमारे अंगों को भी प्रभावित करती है। यहां तक कि मस्तिष्क की कार्यप्रणाली को भी। यदि आप जीवन में सफलता प्राप्त करना चाहते हैं, तो अपनी नींद को न खोएं। रात के दौरान, जब शरीर आराम करता है, तो हमारा सिस्टम खुद को रीसेट और रिचार्ज करता हैं। 

रात में हमारी नींद की गुणवत्ता हमारे मूड, भूख और जीवन शैली की आदतों को निर्धारित करती है। अनियमित नींद शारीरिक चिंता, तनाव और अवसाद जैसे मानसिक मुद्दों सहित कई बीमारियों का कारण बन सकती है। भावनात्मक, मानसिक और शारीरिक तौर पर शरीर को स्वस्थ रखने के लिए, शरीर को आरामदायक नींद के साथ पर्याप्त पोषण की आवश्यकता होती है। 

जल्दी डिनर करें

देर से खाने से बचें, क्योंकि यह आपके स्वास्थ्य के लिए काफी हानिकारक हो सकता है। देर से भोजन करने का मतलब है कि शरीर को पर्याप्त आराम नहीं मिलता है, क्योंकि यह पाचन की प्रक्रिया में व्यस्त हो जाता है। इसका केवल यह अर्थ होगा कि आप अपनी नींद में खलल डाल रहे हैं। 

जिससे वजन बढ़ने और आपके शरीर की कार्य करने की क्षमता कम होने की संभावना बढ़ जाती है। इसीलिए यह सलाह दी जाती है कि आप रात का खाना 8 या 9 बजे से पहले खा लें। यह सुनिश्चित करेगा कि आपकी नींद की गुणवत्ता किसी भी तरह से प्रभावित न हो। जब आप देर रात को खाना खाती हैं, तो यह आपको भारी और फूला हुआ महसूस करवा सकता है, जिससे आपकी नींद में खलल पड़ेगा।

फोन / लैपटॉप बंद करें

अत्यधिक स्क्रीन टाइम न केवल धुंधली और खराब दृष्टि का कारण है, बल्कि यह आपकी नींद को भी प्रभावित करता है। यदि आप अपने फोन या लैपटॉप का उपयोग देर तक करते हैं, तो आश्वस्त रहें कि यह लंबे समय में आपके स्वास्थ्य को नुकसान पहुंचा सकता है।

यह भी पढें: अमरूद ही नहीं, अमरूद की पत्तियां भी आपके लिए फायदेमंद, जानिए इनके 5 स्‍वास्‍थ्‍य लाभ

अपनी आंखों को थोड़ा आराम दें, क्योंकि डिजिटल स्क्रीन की नीली रोशनी, अच्छी नींद को प्रभावित करती है। नींद की कमी किसी के भी मन को उत्तेजित स्थिति में डाल सकती है। कम नींद का मतलब है कि आप मूडी और थका हुआ महसूस करेंगे।

ये योगासन आपको बेहतर नींद लेने में मदद करेंगे। चित्र-शटरस्टॉक।

नींद का माहौल

सोने से पहले, एक अच्छी नींद का वातावरण तैयार करने के लिए कमरे में खुशबूदार डिफ्यूज़र का इस्तेमाल करें, सुखदायक संगीत बजाएं, क्योंकि ये कुछ तरीके हैं जिनसे आप बेहतर नींद ले सकते हैं। नींद आपको तनाव कम करने, दिमाग को शांत करने और अच्छे स्वास्थ्य का आनंद लेने में मदद करती है।

अपनी नींद की गुणवत्ता में सुधार करने के लिए, आप प्रत्येक मुद्रा को 30 सेकंड से एक मिनट या उससे अधिक समय तक कर सकते हैं। इसके तीन सेट दोहराएं, और धीरे-धीरे समय बढ़ाकर 10-15 मिनट करें।

  1. सुखासन – Happy Pose

  • क्रॉस लेग्ड पोजीशन में बैठें।
  • अपनी हथेलियों को घुटनों पर, ऊपर की ओर चपटी मुद्रा में रखें।
  • अपनी पीठ सीधी करके बैठें।
योग आपके तन-मन को स्‍वस्‍थ रखता है। चित्र : योग गुरू अक्षर
योग आपके तन-मन को स्‍वस्‍थ रखता है। चित्र : योग गुरू अक्षर
  1. वज्रासन

यह एकमात्र मुद्रा है जिसे भरे पेट पर किया जा सकता है। वास्तव में, यह भोजन करने के ठीक बाद किया जाना चाहिए।

  • धीरे से अपने घुटनों को नीचे करें।
  • अपनी एड़ी को एक-दूसरे के पास रखें।
  • पैर की उंगलियों को एक दूसरे के ऊपर रखने के बजाय, दाएं और बाएं एक दूसरे के बगल में होना चाहिए।
  • अपनी हथेलियों को अपने घुटनों पर ऊपर की ओर रखें।
  • अपनी पीठ को सीधा करें और आगे देखें।
  1. अडवासना – Reverse Corpse Pose

  • पेट के बल लेट जाएं।
  • अपनी बाहों को फैलाएं।
  • अपनी हथेलियों को कंधे की चौड़ाई से अलग रखें।
  • माथा जमीन पर रहेगा।
  1. ध्यान – Meditation

  • ऐसी जगह ढूंढें जहां आपका मन न भटके, प्राकृतिक वातावरण सबसे सही है।
  • सुखासन जैसी किसी आरामदायक मुद्रा में बैठें।
  • पांच सेकंड के लिए आगे देखें, और पांच सेकंड के लिए पीछे, पांच सेकंड के लिए दाईं और बाईं तरफ।
  • अब अपनी आंखें बंद करें और याद किए गए विवरणों को याद करें।

यह मैडिटेशन तकनीक आपको शांत महसूस करवा सकती है, इस प्रकार आप रात को आरामदायक नींद का आनंद ले सकते हैं। ध्यान के साथ, आप अन्य ध्यान तकनीक का भी अभ्यास कर सकते हैं जैसे कि भ्रामरी ध्यान, आरम्भ ध्यान इत्यादि। योग की सबसे बड़ी क्षमता मन को शांत करने की क्षमता है, जो चिंता, तनाव और मानसिक थकान को समाप्त करता है।

यह भी पढें: इस अध्ययन के अनुसार ज्‍यादा दूध पीने से बढ़ सकता है बोन फ्रैक्चर का जोखिम, जानिए क्‍यों

टीम हेल्‍थ शॉट्स टीम हेल्‍थ शॉट्स

ये हेल्‍थ शॉट्स के विविध लेखकों का समूह हैं, जो आपकी सेहत, सौंदर्य और तंदुरुस्ती के लिए हर बार कुछ खास लेकर आते हैं।