व्रत के दौरान ज़्यादा मीठे और कैफीनयुक्त पेय से करें तौबा, कर सकते हैं आपको डिहाइड्रेट

चाय, कॉफी और कोला ऐसे ड्रिंक्स हैं, जो आपको हाइड्रेट करने की बजाए डिहाइड्रेट कर देते हैं। इसलिए जरूरी है कि फास्टिंग के दौरान लिक्विड डाइट का खास ख्याल रखें।
गलत ड्रिंक से बचें, चित्र: शटरस्टॉक
शालिनी पाण्डेय Published on: 26 September 2022, 10:53 am IST
ऐप खोलें

नवरात्र के व्रत आने वाले हैं। व्रत के दौरान आम तौर पर अधिक मात्रा में पेय पदार्थ लेने की सलाह दी जाती है। इसके पीछे कारण यह है कि लिक्विड डाइट आपको हाइड्रेट रखती है और थकान नहीं महसूस होने देती। पर ज्यादातर लोग गलती से वो पेय अपने डेली रुटीन में शामिल कर लेते हैं, जो उन्हें हाइड्रेट करने की बजाए डिहाइड्रेट कर देते हैं। आइए जानते हैं ऐसे ही कुछ पेय पदार्थों (dehydrating drinks) के बारे में जो आपको डिहाइड्रेट कर सकते हैं

जरूरी है उपवास में पेय पदार्थ लेना

उपवास में जब आप कम खाती हैं, तो आपका एनर्जी लेवल डाउन होने लगता है। इसे बनाए रखने के लिए आहार विशेषज्ञ हेल्दी लिक्विड ड्रिंक्स लेने की सलाह देते हैं। पेय पदार्थ जैसे पानी, जूस, मट्ठा, लस्सी, नारियल पानी, नींबू पानी के साथ दूध आदि आपको हाइड्रेट रखने में मदद करते हैं। ये अपको ऊर्जा तो देंगे ही, साथ ही शरीर में खून के बहाव को भी सही रखेंगे।

ये लिक्विड पाचन तंत्र को सामान्य रखने के साथ ही शरीर के टॉक्सिन बाहर निकालने भी कारगर हैं। ज्यादा मात्रा में तरल लेने से आपके गुर्दे अपना काम बेहतर ढंग से करते हैं और शरीर के बैड बैक्टीरिया को बाहर निकालने में भी कारगर हैं।
तरल की सही मात्रा शरीर को हल्का तो रखेगी ही, आवश्यक मिनरल्स व विटामिंस के जरिए ऊर्जा भी देती रहेगी। जिससे आप थकावट व आलस भी महसूस नहीं करेंगे और पेट भी भरा लगेगा।

नासमझी में गलत पेय तो नहीं चुन रहीं?

पर क्या आप जानती हैं कि व्रत के दौरान आप अपनी नासमझी में कुछ ऐसी चीज़ें भी ले लेते हैं जो फायदे की जगह नुकसान कर सकती हैं जैसे कि कुछ पेय पदार्थ। ऐसे पेय पदार्थ जो हम खुद को हाइड्रेट रखने को लेते हैं कई बार आपको डिहाइड्रेट भी कर सकते हैं।

चाय और कॉफी कर सकती है डिहाइड्रेशन। चित्र: शटरस्टॉक

चलिए जानें कि व्रत के दौरान लिए जाने वाले कौन से पेय पदार्थ हमें डिहाइड्रेट कर सकते हैं और जिनसे हमें परहेज करना चाहिए।

कैफीनयुक्त पेय निर्जलीकरण (Dehydration) के लक्षण पैदा कर सकते हैं

कॉफी, चाय, सोडा और एनर्जी ड्रिंक ये सभी लोकप्रिय कैफीनयुक्त पेय हैं। शोध से पता चला है कि मूत्रवर्धक प्रभाव वाले ये ड्रिंक शरीर को निर्जलित नहीं करते पर निर्जलीकरण के अन्य लक्षण जैसे सिरदर्द और ड्राई माउथ की वजह बन सकते हैं।
चाहे ब्लैक कॉफ़ी हो, ब्लैक टी, लेमन टी या आइस टी ये सभी ड्रिंक आपको हाइड्रेट करने की जगह डिहाइड्रेट करते हैं। राइस यूनिवर्सिटी के एक शोध के अनुसार अत्यधिक कैफीनयुक्त पेय पदार्थों को काम करते हुए लेने से शरीर में निर्जलीकरण हो सकता है।

हानिकारक प्रीज़र्वेटिव और चीनी से भरा होता है डिब्बाबंद जूस उसकी जगह ताजे फलों का जूस चुनें। चित्र: शटरस्‍टॉक

व्रत के दौरान हाइड्रेट रहने के लिए चाय कॉफी की जगह सादा पानी चुनना सबसे अच्छा है। आप चाहें तो इसमें नींबू का रस और सेंधा नमक भी मिला सकती हैं।

शुगर ड्रिंक भी करते हैं डिहाइड्रेट

फलों के रस, चीनी वाले अन्य पेय पदार्थ चाहे वह आर्टिफिशियल फ्रूट जूस ही क्यों न हो, शरीर में आवश्यक पानी बनाए रखने से रोकता है।

हालांकि स्पोर्ट्स ड्रिंक इनमें मौजूद इलेक्ट्रोलाइट्स और सोडियम के कारण हाइड्रेट रखने में सहायक होते हैं। जो आपको हाइड्रेट बनाए रखने में मदद करते हैं, फलों के रस में पर्याप्त सोडियम नहीं होता है।
स्पोर्ट्स ड्रिंक और फलों के रस दोनों में ही चीनी की मात्रा को पानी मिलाकर पतला किया जा सकता है। जिससे पेय कम मीठा और अधिक हाइड्रेटिंग बन जाएगा।

यह भी पढ़ें: जानिए क्यों उतरने लगी है हथेलियों पर से खाल, जानिए इससे बचने के उपाय

लेखक के बारे में
शालिनी पाण्डेय

पीरियड ट्रैकर

अपनी माहवारी को ट्रैक करें हेल्थशॉट्स, पीरियड ट्रैकर
के साथ।

ट्रैक करें
Next Story