वैलनेस
स्टोर

क्‍या 30 की उम्र में ही होने लगा है घुटनों और जोड़ों में दर्द? तो इन 5 कारणों को चैक कीजिए 

Published on:11 December 2020, 10:30am IST
जोड़ों या घुटनों में दर्द सिर्फ बढ़ती उम्र की ही समस्‍या नहीं है। यह आप में कुछ और स्‍वास्‍थ्‍य संबंधी समस्‍याओं का भी संकेत हो सकता है।
विनीत
  • 98 Likes

अभी तक घुटनों व जोडों के दर्द की समस्या को बढ़ती उम्र का संकेत समझा जाता था। पर क्‍या हो अगर आपकी उम्र के 30 के दशक में ही आप घुटनों के दर्द से कराहने लगें। ये असल में कई स्‍वास्‍थ्‍य संबंधी समस्‍याओं के खिलाफ आपके शरीर की पुकार हो सकती है। आइए हम बताते हैं आपको ऐसे पांच कारण जो कम उम्र में भी आपको घुटनों और जोड़ों में दर्द की समस्‍या दे सकते हैं।

क्या हैं घुटनों व जोडों में दर्द के कारण

घुटनों व जोड़ों के दर्द के पीछे चोट लगना या कोई चिकित्सीय कारण भी हो सकता है। जैसे- अति संवेदनशीलता, तनाव या जोड़ो पर सीधा आघात ( जैसे. बार-बार घुटने टेकना), फ्रैक्चर्स जिन्हें ठीक तरह से सुधारा न गया हो, एक जोड़ से जुडी हुए टेंडोनिटिस (सूजन और जलन), साथ ही इसके अलावा कोई रोग जिसका उपचार चल रहा हो। 

ये हो सकते हैं गंभीर बीमारियों के संकेत 

गठिया की समस्या होना

गठिया की समस्या होने पर आपके घुटनों व जोडों में सूजन दिखाई देने लगती है। इस सूजन के कारण आपके घुटने और जोड़ों में दर्द, अकड़न की समस्या होती है, साथ ही फुलाव भी आता है। इस समस्या के ज्यादा बढ़ने पर आपको चलने-फिरने या हिलने-डुलने में भी परेशानी होती है।

यह भी पढें: सर्दियों में ब्लोटिंग की समस्या से बचना है, तो इन 5 फूड्स से करें परहेज

शरीर में पोषण की कमी होना

आजकल की भागदौड़ भरी जिंदगी में हम अपने खानपान पर अधिक ध्यान नहीं दे पाते। जिसके चलते हमारे शरीर में कई जरूरी पोषक तत्वों की कमी हो जाती है। शरीर में विटामिन-सी, विटामिन डी और कैल्शियम की कमी होना घुटनों और जोडों में दर्द का मुख्य कारण है। समय रहते इस पर ध्यान न देने पर यह समस्या काफी बढ़ सकती है।

शरीर में पोषण की कमी से भी आपके घुटनों और जोडों में दर्द की समस्या होती है। चित्र:शटरस्टॉक

जोड़ों के बीच ग्रीस खत्म होना

घुटनों में और जोड़ों में दर्द का एक कारण जोड़ों के बीच ग्रीस का खत्म होना भी है। जोडों के बीच का ग्रीस जोडों की कार्य क्षमता को बनाए रखने का काम करती है। लेकिन जब ये ग्रीस जोडों के बीच से खत्म होने लगती है, तो ऐसे में यह यह जोड़ों का दर्द जैसी समस्याओं का कारण बनती है।

शरीर का वजन बढ़ना

शरीर का वजन बढ़ना भी आपके घुटनों व जोडों के लिए नुकसानदायक है। जब शरीर का वज़न ज़्यादा होता है तो उसका पूरा भार पैरों पर आ जाता है। पैरों पर शरीर का पूरा भार आ जाने की वजह से घुटनों में दर्द की शिकायत होने लगती है। ऐसे में अगर आप मोटापे की शिकार हैं तो आपके शरीर का वज़न आपके घुटनों व जोड़ों का दुश्मन बन सकता है।

संक्रमण से पीड़ित होना

अगर आप टीबी और बैक्टीरियल इंफेक्शन जैसी समस्याओं से पीड़ित हैं, तो यह घुटने और जोड़ों के लिए बहुत नुकसानदायक हो सकता है। यह आपके घुटनों को क्षति पहुंचा सकता है। जिसके कारण आपके घुटनों में असहनीय दर्द, सूजन और अकड़न की समस्या हो सकती है। इससे आपका चलना-फिरना भी काफी मु्श्किल हो सकता है।

यह भी पढें: बेहतर नींद चाहती हैं, तो चार तकिये लेकर सोएं, हम बताते हैं इसके 5 कारण

इस तरह की समस्या होने पर तुरंत अपने डॉक्टर से परामर्श लें, जिससे कि वह आपकी समस्या का निदान करके आपको घुटनों व जोडों में दर्द की समस्या से राहत पाने में मदद कर सकें।

विनीत विनीत

अपने प्यार में हूं। खाने-पीने,घूमने-फिरने का शौकीन। अगर टाइम है तो बस वर्कआउट के लिए।