ये लक्षण बताते हैं कि आप हैं अल्कोहल इनटोलरेंस, थोड़ी-थोड़ी पिया करें

यदि आप भी हैं अल्कोहल इनटोलरेंस (Alcohol intolerance), तो आपके लिए शराब पीना औरों से ज्यादा जोखिम कारक हो सकता है। जानिए क्या है सेहत की यह स्थिति।

Alcohol-intolerance
यहां जानें इस समस्या में नजर आने वाले कुछ सामान्य लक्षण। चित्र शटरस्टॉक।
अंजलि कुमारी Published on: 15 September 2022, 21:30 pm IST
  • 145

आजकल पार्टी, फंक्शन से लेकर सक्सेस सेलिब्रेशन तक अल्कोहल के बिना अधूरे माने जाते हैं। ऐसे में शराब की लत लगना बिल्कुल आम है। लेकिन शराब को पचा पाना सभी के वश की बात नहीं होती। जिन लोगों को शराब हजम नहीं होती, उन्हें अल्कोहल इनटोलरेंस (Alcohol intolerance) कहा जाता है। यह समस्या दिन- प्रतिदिन व्यक्ति की स्थिति को और ज्यादा खराब कर सकते हैं। इसलिए इसे समय रहते नियंत्रित कर बहुत जरूरी है। आपके लिए हम यहां उन संकेतों के बारे में बता रहे हैं, जो साबित करते हैं कि आपको अल्कोहल इनटोलरेंस (Alcohol intolerance) है और आपको इससे दूरी बना लेनी चाहिए।

कई लोग ऐसे हैं जिन्हें इस बात की जानकारी तक नहीं होती तो सबसे पहले इसे समझना बहुत जरूरी है। तो चलिए जानते हैं, अल्कोहल इनटोलरेंस से जुड़े सभी महत्वपूर्ण फैक्ट्स।

पहले जानें आखिर क्या है अल्कोहल इनटोलरेंस

यदि आप अल्कोहल इनटोलरेंस (Alcohol intolerance) हैं, तो शराब पीना आपकी सेहत पर भारी पड़ सकता है। अल्कोहल इनटोलरेंस में व्यक्ति कम मात्रा में शराब पीने पर भी काफी जल्दी ड्रंक हो जाता है। हालांकि, यह इसलिए होता है, क्योंकि आपका शरीर अन्य लोगों की तुलना में अल्कोहल को पचाने में असमर्थ होता है।

reduce alcohol addiction
शराब की आदत से छुटकारा पाने के लिए लें प्रिय जनों की मदद, चित्र: शटरस्टॉक

यह समस्या सामान्य रूप से कई लोगों में देखने को मिलती है। इसके साथ ही इस समस्या में और भी कई गंभीर लक्षण नजर आ सकते हैं, जो आगे चलकर गंभीर समस्या का भी रूप ले लेते हैं।

यहां जानें इस समस्या में नजर आने वाले कुछ सामान्य लक्षण

नाक बहना
चेहरे, गले और छाती पर लाल धब्बे पड़ना
डायरिया
हार्टबीट का बढ़ना
थकान और आलस महसूस होना
सिरदर्द
लो ब्लड प्रेशर
सांस लेने में तकलीफ होना।

ये सभी लक्षण अलग-अलग व्यक्ति में अलग-अलग तरीके से दिखाई दे सकती हैं। जरूरी नहीं कि हर किसी में ये सभी लक्षण नजर आएं। हालांकि, ज्यादातर के चेहरे पर लाल धब्बे होना और शराब पीने के बाद बीमार महसूस करना सामान्य रूप से नजर आने वाले लक्षण हैं।

genetic and alcoholism
शराब और सिगरेट की लत के हो सकते हैं जेनेटिक कारण। चित्र : शटरस्टॉक

यहां जानें अल्कोहल इनटोलरेंस के क्या कारण हो सकते हैं

जेनेटिक मेटाबॉलिक डिसऑर्डर के कारण बॉडी अल्कोहल इनटोलरेंस हो सकती है। जब आप इथेनॉल से युक्त शराब का सेवन करती हैं, तो आपका लीवर इथेनॉल को एसीटैल्डिहाइड में बदल देता हैं, जो सेल्स डैमेज का कारण बन सकता है।

अल्कोहल इनटोलरेंस व्यक्ति का जेनेटिक म्यूटेशन एएलडीएच2 को इनएक्टिव कर देता है। नतीजतन, आपका शरीर एसीटैल्डिहाइड को एसिटिक एसिड में नहीं बदल सकता है। ऐसे में एसीटैल्डिहाइड आपके ब्लड और टिशू में बिल्ड होने लगता है, जिससे अल्कोहल इनटोलरेंस में नजर आने वाले लक्षण पैदा होते हैं।

अल्कोहल इनटोलरेंस हैं तो इन बातों का जरूर रखें ध्यान

यह एक मेटाबॉलिक डिसऑर्डर है, जिसे किसी भी प्रकार से पूरी तरह ठीक नहीं किया जा सकता। वहीं इसमे नजर आने वाले सभी लक्षण काफी ज्यादा हानिकारक होते हैं। हालांकि, इससे निपटने के कुछ उपाय हैं। तो चलिए जानते हैं किस तरह समस्या को नियंत्रित रख सकते हैं।

इस समस्या से दूर रहने का सबसे प्रभावी उपाय है शराब के सेवन को पूरी तरह से परहेज रखना और यदि ऐसा करना आपके लिए मुश्किल है, तो साल में 2-4 बार से ज्यादा शराब न पियें।

sharab aur dawaiyon ka sevan ek sath n kren
अल्कोहल इनटोलरेंस हैं तो इन बातों का जरूर रखें ध्यान। चित्र : शटरस्टॉक

यदि आप किसी प्रकार की दवाइयों का सेवन कर रही हैं, तो भूल कर भी शराब को हाथ न लगाएं। क्योंकि अल्कोहल टॉलरेंस व्यक्ति यदि दवाइयां ले रहा है और शराब पी रहा है, तो यह उनकी स्थिति को गंभीर रूप से प्रभावित कर सकता है।

इसके साथ ही स्मोकिंग को अवॉइड करें साथ ही साथ यदि आपको कोई सीक्रेट पास करें तो उन्हें मना करना सीखें। क्योंकि स्मोकिंग की आदत भी अल्कोहल इनटोलरेंस की स्थिति को ट्रिगर कर सकती है।

यदि आपको अल्कोहल इनटोलरेंस है तो जितनी जल्दी हो सके उतनी जल्दी शराब का सेवन करना छोड़ दें, अन्यथा लाइफ लॉन्ग हेल्थ कंडीशन्स का सामना करना पड़ सकता है। इनमें शामिल हैं –

पेनक्रिएटिक डिजीज
लीवर डिजीज
अल्जाइमर
कैंसर
हाई ब्लड प्रेशर

यह भी पढ़ें : नेचुरल और ग्लोइंग स्किन पाने के लिए घर पर ही तैयार करें 2 बेहद खास नेचुरल नाइट क्रीम

  • 145
लेखक के बारे में
अंजलि कुमारी अंजलि कुमारी

इंद्रप्रस्थ यूनिवर्सिटी से जर्नलिज़्म ग्रेजुएट अंजलि फूड, ब्यूटी, हेल्थ और वेलनेस पर लगातार लिख रहीं हैं।

पीरियड ट्रैकर

अपनी माहवारी को ट्रैक करें हेल्थशॉट्स, पीरियड ट्रैकर
के साथ।

ट्रैक करें
nextstory