80 फीसदी से ज्यादा महिलाओं में है आयरन की कमी, एक्सपर्ट से जानें इसे बढ़ाने वाले फूड्स के बारे में

प्यूबर्टी से लेकर प्रेगनेंसी तक महिलाएं आयरन की कमी से जूझती रहती हैं। इसलिए जरूरी है कि वे हर रोज उन खाद्य पदार्थों का सेवन करें, जो आयरन की आपूर्ति करते हैं।
आयरन की कमी से एनीमिया हो सकता है। चित्र शटरस्टॉक
निशा कपूर Published on: 4 November 2022, 08:00 am IST
ऐप खोलें

हम तभी स्वस्थ होते हैं, जब हमारे शरीर में सभी पोषक तत्व पर्याप्त मात्रा में समाहित होते हैं। एक तंदुरुस्त शरीर के लिए विटामिन, आयरन, कैल्शियम का होना बेहद जरूरी है। आयरन हमारे शरीर के लिए बेहद जरूरी माना है। क्योंकि इसकी कमी से शरीर में ब्लड की कमी होने लगती है। जिससे एनीमिया का खतरा काफी बढ़ जाता है। इसके साथ ही थकान, रोग प्रतिरोधक क्षमता में कमी और मांसपेशियों में दर्द रहने लगता है। इसलिए अगर आपके लिए भी जरूरी है कि इसे कैसे बैलेंस (Best foods for iron) रखा जाए। आपकी मदद करने के लिए हेल्थ शॉट्स के इस लेख में एक्सपर्ट से जानते हैं इस बारे में सब कुछ।

पहले जानिए क्या है आयरन?

आयरन एक प्रकार का मिनरल है। इसे लगभग सभी जीवित जीवों के लिए जरूरी माना जाता है, क्योंकि यह मेटाबॉलिक प्रोसेस जैसे ऑक्सीजन ट्रांसपोर्ट करने में सहायता करने का काम करता है। असल में, आयरन भी हीमोग्लोबिन प्रोटीन का ही हिस्सा है, जो फेफड़ों (Lungs) से लेकर पूरी बॉडी तक ऑक्सीजन (oxygen) पहुंचाता है।

छाती में दर्द भी हो सकता है खून की कमी का लक्षण ! चित्र : शटरस्टॉक

ग्लोबल न्यूट्रीशन की रिपोर्ट के अनुसार भारत में सभी उम्र की 51 फीसदी महिलाएं गर्भधारण के दौरान एनीमिया की शिकार होती हैं और भारत में करीब 80 प्रतिशत महिलाएं एनीमिया से ग्रस्त हैं। इसलिए इसकी कमी से बचना बेहद जरूरी है।

प्रियांशी भटनागर हॉलीस्टिक नुट्रिशन कोच (Holistic Nutrition Coach) हैं और वे कहती हैं, ”आयरन एक आवश्यक खनिज है, जो पूरे शरीर में ऑक्सीजन के परिवहन में मदद करता है। इसके साथ ही आयरन युक्त खाद्य पदार्थ का सेवन बढ़ाने से आयरन की कमी से होने वाले एनीमिया के जोखिम को कम किया जाता है और यह समग्र स्वास्थ्य में सुधार करने में भी मदद करता है।”

ये लक्षण बताते हैं कि आप में भी है आयरन की कमी

  • अकसर होने वाला सिर दर्द और चक्कर आना
  • हृदय गति में उतार-चढ़ाव भी आयरन की कमी का संकेत करता है
  • अगर आपके नाखून कमजोर हैं या अकसर टूटते रहते हैं
  • लगातार हेयर फॉल होना
  • सांस फूलना और जल्दी थक जाना
  • माउथ अल्सर यानी मुंह में होने वाले छाले
  • स्किन का रंग पीला पड़ना।

यह भी पढ़े-अनइवन स्किन टोन के लिए जिम्मेदार हो सकते हैं ये 5 कारण, एक्सपर्ट बता रहीं हैं निखरी त्वचा का फॉर्मूला

प्रियांशी उन खाद्य पदार्थों के बारे में बता रहीं हैं, जो आयरन की कमी दूर कर सकते हैं

1. गोभी (Cauliflower)

आयरन की कमी से होने वाली एनीमिया की समस्या के जोखिम को दूर करने में विटामिन सी (एस्कॉर्बिक एसिड) अहम होता है। विटामिन सी आयरन के अवशोषण में सहायता करता है। इसलिए विटामिन सी से भरपूर फूल गोभी को अपनी डाइट में शामिल किया जा सकता है।

2. प्याज (Onion)

प्याज में आयरन, पोटेशियम और फोलेट भरपूर मात्रा में शामिल होते हैं। इसी वजह से अपने आहार में प्याज को जगह देने से बॉडी को पर्याप्त मात्रा में आयरन प्राप्त होता है।

आयरन की कमी को दूर करने के लिए शिमला मिर्च बेहद कारगर है। चित्र-शटरस्टॉक।

3. शिमला मिर्च (Capsicum)

जब बॉडी में पर्याप्त स्वस्थ लाल रक्त कोशिकाएं नहीं बनती हैं तो इस स्थिति को एनीमिया कहा जाता है। इन कोशिकाओं का कार्य शरीर के सभी अंगों तक ऑक्सीजन पहुंचाना होता है। शिमला मिर्च में आयरन शामिल होता है, जो एनीमिया के जोखिम को कम करने में मदद कर सकती है । इसके साथ ही इसमें विटामिन-सी भी पाया जाता है। जो बॉडी में आयरन को अवशोषित करने का कार्य करता है।

4. नींबू (Lemon)

यदि आयरन युक्त आहार के साथ विटामिन-सी युक्त आहार का सेवन किया जाए, तो बॉडी में आयरन के सही अवशोषण में सहायता मिलती है। तो ऐसी स्थिति में आयरन युक्त खाद्य पदार्थों के साथ नींबू, जो विटामिन-सी का अच्छा स्रोत है फायदेमंद सिद्ध हो सकता है और ब्लड की कमी के जोखिम को कम किया जा सकता है।

5. कीवी (kiwi)

कीवी में भरपूर मात्रा में आयरन पाया जाता है। इसमें मौजूद विटामिन सी की मात्रा संतरे से भी अधिक होती है। शरीर में ब्लड की कमी होने पर डॉक्टर भी कीवी खाने की सलाह देते हैं। असल में कीवी में शामिल आयरन और विटामिन सी ब्लड बढ़ाने में मदद करते हैं। इसलिए आयरन युक्त पदार्थ में कीवी को भी शामिल किया जाता है।

यह भी पढ़े- बहती नाक और गले की खराश से हैं परेशान, तो एक्सपर्ट से जानें इसके लिए आयुर्वेदिक उपचार

लेखक के बारे में
निशा कपूर

देसी फूड, देसी स्टाइल, प्रोग्रेसिव सोच, खूब घूमना और सफर में कुछ अच्छी किताबें पढ़ना, यही है निशा का स्वैग।

पीरियड ट्रैकर

अपनी माहवारी को ट्रैक करें हेल्थशॉट्स, पीरियड ट्रैकर
के साथ।

ट्रैक करें
Next Story