डियर लेडीज, आपकी ब्रेस्ट हेल्थ के लिए फायदेमंद हैं ये 8 फूड्स, शेप में रखने के साथ गंभीर बीमारियों से भी बचाते हैं

पोषक तत्वों से भरपूर कई ऐसे खाद्य स्रोत हैं, जो ब्रेस्ट स्वास्थ्य को बनाए रखते हैं और कैंसर के खतरे को कम करने में आपकी मदद कर सकते हैं। कई ऐसे सोध सामने आए हैं जिनमे ब्रेस्ट स्वास्थ्य को बनाए रखने के लिए कुछ खास फूड्स के नाम सुझाए गए हैं।
सभी चित्र देखे Jaanein breast cancer kaise badhta hai
ब्रेस्ट कैंसर को अवॉयड करने के लिए इन फूड्स को डाइट में करें शामिल। चित्र : शटरस्टॉक
अंजलि कुमारी Updated: 14 Mar 2024, 10:18 am IST
  • 123

दिन प्रति दिन ब्रेस्ट कैंसर का खतरा बढ़ता जा रहा है। महिलाओं में ये समस्या बहुत कॉमन हो गई है, वहीं इसकी वजह से बहुत सी महिलाओं ने अपनी जान भी गवाई हैं। पर आप चाहें तो इसके खतरे को कम कर सकती हैं। स्तन की सही देखभाल, ब्रेस्ट एग्जामिनेशन, नियमित जांच सहित कुछ ऐसे खाद्य पदार्थ भी हैं, जो इसमें आपकी मदद कर सकते हैं। जी हां, पोषक तत्वों से भरपूर कई ऐसे खाद्य स्रोत हैं, जो ब्रेस्ट स्वास्थ्य को बनाए रखते हैं और कैंसर के खतरे को कम करने में आपकी मदद कर सकते हैं। कई ऐसे सोध सामने आए हैं जिनमे ब्रेस्ट स्वास्थ्य को बनाए रखने के लिए कुछ खास फूड्स के नाम सुझाए गए हैं। तो चलिए हेल्थ शॉट्स के साथ जानते हैं ऐसेही कुछ खास फूड्स के बारे में जो स्तनों की सेहत को बनाए रखते हुए ब्रेस्ट कैंसर के खतरे को कम कर देते हैं (foods for breast health)।

यहां जानें ब्रेस्ट हेल्थ को बनाए रखने के लिए कुछ खास खाद्य पदार्थों के नाम (foods for breast health):

1. हरी पत्तेदार सब्जियां (green leafy vegetables)

केल, पालक, और कोलार्ड ग्रीन, कुछ खास हरी पत्तेदार सब्जियां हैं, जो स्तन कैंसर से लड़ने में आपकी मदद कर सकते हैं। पत्तेदार सब्जियां एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर होती हैं, जो कैंसर पैदा करने वाले फ्री रेडिकल्स के प्रभाव को नष्ट कर देती हैं। नेशनल कैंसर इंस्टीट्यूट के जर्नल में प्रकाशित 2012 के एक अध्ययन में, पाया कि जो महिलाएं हरी पत्तेदार सब्जियां खाती हैं, उनमें उन महिलाओं की तुलना में स्तन कैंसर का खतरा बहुत कम होता है, जो ये सब्जियां नहीं खाती हैं।

2. खट्टे फल (citrus fruit)

खट्टे फलों में विटामिन सी, फोलेट, कैल्शियम और कई अन्य पोषक तत्व पाए जाते हैं, जो स्तन कैंसर के खतरे को कम कर देते हैं। जर्नल ऑफ ब्रेस्ट कैंसर में प्रकाशित 2013 के एक अध्ययन के अनुसार जो महिलाएं पर्याप्त मात्रा में खट्टे फल खाती हैं, उनमें स्तन कैंसर होने की संभावना 10 प्रतिशत तक कम थी। खट्टे फलों को भोजन के बीच नाश्ते के रूप में सादा खाया जा सकता है।

Fatty liver ko fruits khaane se karein reverse
सर्दियों में मिलने वाले संतरा, किन्नू, अंगूर और सेब का सेवन करने से शरीर फैटी लीवर के प्रभाव से मुक्त रहता है। चित्र : शटरस्टॉक

3. फ्लैक्स सीड्स (flax seeds)

नेशनल लाइब्रेरी ऑफ़ मेडिसिन के अनुसार अलसी के बीज में ओमेगा-3 फैटी एसिड की मात्रा पाई जाती है, जो आपके ब्रेस्ट हेल्थ के लिए बेहद फायदेमंद होते हैं। इनमें किसी भी अन्य भोजन की तुलना में अधिक लिगनेन होता है। ये प्लांट कंपाउंड हैं, जिनमें फाइबर और एंटीऑक्सीडेंट फाइटोएस्ट्रोजन होते हैं। रिसर्चर्स का मानना है कि फाइटोएस्ट्रोजन एस्ट्रोजेन रिसेप्टर्स को लक्षित करता है, इसलिए एस्ट्रोजन-उत्तेजित स्तन कैंसर नहीं बन सकते। दही, दलिया, सलाद, सूप, स्मूदी और मफिन में अलसी के बीज शामिल करें।

4. हल्दी (turmeric)

आयुर्वेद से लेकर मेडिकल साइंस तक सूजन को रोकने के लिए हल्दी को एक बेहद खास तत्व मानते हैं। पब मेड सेंट्रल के अनुसार स्तन कैंसर की स्थिति में हल्दी के दो बड़े लाभ हो सकते हैं। हल्दी में करक्यूमिन नामक एक एक्टिव कंपाउंड पाए जाते हैं, जो स्तन कैंसर के प्रसार को रोकने और आपके शरीर के अन्य हिस्सों पर कीमोथेरेपी के नुकसान को कम करने में मदद कर सकते हैं। अपने सूप, करी, सब्जी, अंडे, या गर्म दूध में हल्दी मिलाकर इसे अपनी डाइट में शामिल करें।

yahan jane berries ke fayde
बेरी के फायदों से दुनिया अच्छी तरह वाकिफ है। चित्र : शटरस्टॉक

5. बेरीज (berries)

ब्लूबेरी, स्ट्रॉबेरी, ब्लैकबेरी और रास्पबेरी में इम्यूनिटी बढ़ाने वाले कंपाउंड और पोषक तत्व पाए जाते हैं। इनमें पर्याप्त मात्रा में विटामिन सी पाया जाता है। वहीं बेरीज में एंटीऑक्सिडेंट की मात्रा पाई जाती है, जो आपके बॉडी सेल्स को डैमेज नहीं होने देते। फ्रोजन, ड्राई, बेरीज अपने आप में बहुत अच्छे होते हैं और आप इन्हे दही, अनाज, स्मूदी और मफिन के साथ डाइट में शामिल कर सकती हैं।

यह भी पढ़ें: एसीवी हम्मस है हमारी फैमिली का फेवरिट डिप, क्या आप जानते हैं इसके फायदे और बनाने का तरीका?

6. फर्मेंटेड फूड्स (fermented foods)

फर्मेंटेड फूड्स में पर्याप्त मात्रा में प्रोबायोटिक्स पाए जाते हैं, जो जीवित “स्वस्थ” बैक्टीरिया और यीस्ट होते हैं। प्रोबायोटिक्स आपके पाचन स्वास्थ्य के लिए बहुत अच्छे होते हैं। वे आपके शरीर को स्तन कैंसर का कारण बनने वाले हानिकारक टॉक्सिंस को अवशोषित करने से भी रोक सकते हैं। ऑन्कोलॉजी रिव्यूज़ में प्रकाशित 2019 के एक अध्ययन के अनुसार, प्रोबायोटिक्स इम्यूनिटी को बूस्ट बॉडी को कैंसर सेल्स से लड़ने के लिए तैयार करते हैं।

7. बींस (beans)

बीन्स फाइबर, विटामिन और कई अन्य पोषक तत्वों से भरपूर एक बेहद खास सुपरफूड है, जो ब्रेस्ट कैंसर के खतरे को कम कर देता है। बीन्स में मौजूद एंटीऑक्सीडेंट सूजन को रोक सकते हैं और डैमेज सेल्स की मरम्मत करते हैं। बीन्स में मौजूद विटामिन और मिनरल्स इम्यूनिटी को बूस्ट करते हुए कैंसर जैसी बीमारियों के प्रति आपको कम संवेदनशील बनाते हैं और इस तरह की समस्याओं का खतरा कम हो जता है।

walnuts
इनकी मदद से शरीर में बैड कोलेस्ट्रॉल का स्तर घटने लगता है।चित्र : शटरस्टॉक

8. अखरोट (walnut)

नेशनल लाइब्रेरी ऑफ़ मेडिसिन के अनुसार आपके स्तन को कैंसर से बचाने या इसके दोबारा होने के जोखिम को कम करने के लिए मीट की तुलना में प्लांट बेस्ड प्रोटीन वाले आहार लेने की सलाह देते हैं। टैकोस में पिसे हुए बीफ़ की जगह मसाले के साथ पिसे हुए अखरोट लें। अध्ययन से पता चला है कि अखरोट खाने से स्तन ट्यूमर के विकास को धीमा करने में मदद मिलती है और यहां तक कि स्तन कैंसर का खतरा भी कम हो जाता है।

अपनी रुचि के विषय चुनें और फ़ीड कस्टमाइज़ करें

कस्टमाइज़ करें

यह भी पढ़ें: गर्भ की तीसरी तिमाही में बच्चे को लगने लगती है गर्मी, जलवायु परिवर्तन बढ़ा रहा है जच्चा-बच्चा के लिए खतरा : शोध

  • 123
लेखक के बारे में

इंद्रप्रस्थ यूनिवर्सिटी से जर्नलिज़्म ग्रेजुएट अंजलि फूड, ब्यूटी, हेल्थ और वेलनेस पर लगातार लिख रहीं हैं। ...और पढ़ें

पीरियड ट्रैकर

अपनी माहवारी को ट्रैक करें हेल्थशॉट्स, पीरियड ट्रैकर
के साथ।

ट्रैक करें
अगला लेख