वैलनेस
स्टोर

ये 7 संकेत बताते हैं कि आपको है इम्‍युनिटी बूस्‍ट करने की जरूरत, न करें नजरंदाज

Published on:18 February 2021, 18:30pm IST
इम्युनिटी आपके शरीर को संक्रमण से लड़ने में मदद करने के लिए महत्वपूर्ण है। यही कारण है कि कमजोर प्रतिरक्षा प्रणाली के इन संकेतों और लक्षणों को समझना महत्वपूर्ण है, ताकि आप समय पर सही कदम उठा सकें।
टीम हेल्‍थ शॉट्स
  • 81 Likes
कमजोर इम्‍यून सिस्‍टम गंभीर समस्‍याओं को जन्‍म दे सकता है। चित्र: शटरस्‍टॉक

प्रतिरक्षा प्रणाली सफेद रक्त कोशिकाओं, लिम्फ नोड्स और एंटीबॉडी से बनी होती है और शरीर को बाहरी संक्रमण से लड़ने में मदद करती है। 2020 में कोरोना वायरस महामारी के दौरान ही इम्युनिटी सही रखने की जागरूकता बढ़ी है। लेकिन क्या होगा अगर आपकी प्रतिरक्षा प्रणाली ही कमजोर हो!

यहां कमजोर रोग-प्रतिरोधक क्षमता के कुछ संकेत दिए गए हैं, जो आपको इसे पहचानने में मदद करेंगे:

1. तनाव का उच्च स्तर

एक कमजोर प्रतिरक्षा प्रणाली का पहला संकेत है तनाव ग्रस्त रहना। यदि आप लंबे समय से अपने तनाव को इग्‍नोर कर रही हैं, तो यह इम्युनिटी की प्रभावशीलता को कम करता है। इसकी वजह से शरीर में सफेद रक्त कोशिकाओं और लिम्फोसाइटों की संख्या कम हो जाती है, जो आमतौर पर संक्रमण से लड़ते हैं।

ज्‍यादा तनाव कमजोर इम्‍युनिटी का भी लक्षण है। चित्र: शटरस्‍टॉक।
ज्‍यादा तनाव कमजोर इम्‍युनिटी का भी लक्षण है। चित्र: शटरस्‍टॉक।

यह सर्दी और दस्त होने के जोखिम को भी कम करता है। अत्यधिक चिड़चिड़ापन भी एक कमजोर प्रतिरक्षा प्रणाली का लक्षण है।

2. बार-बार संक्रमण

यह चिकित्सकीय रूप से सिद्ध है कि यदि आप साल भर में पांच से अधिक बार कान के संक्रमण, क्रोनिक बैक्टीरियल साइनसाइटिस, दो से अधिक बार निमोनिया से पीड़ित हैं या एक वर्ष में एंटीबायोटिक दवाओं के तीन से अधिक कोर्स की जरूरत पड़ रही है , तो यह सही समय है कि आपको अपनी प्रतिरक्षा प्रणाली को बढ़ाने पर ध्यान केंद्रित करना चाहिए।

आपका शरीर अपनी प्राकृतिक एंटीबायोटिक क्षमता के साथ इन खतरों से निपटने में सक्षम होना चाहिए। यदि ऐसा नहीं है, तो आपकी इम्युनिटी कमजोर है।

3. जल्दी सर्दी हो जाना

चिकित्सा विज्ञान के अनुसार, वयस्क आमतौर पर एक वर्ष में दो से तीन बार सामान्य सर्दी से पीड़ित हो सकते हैं। लो इम्युनिटी सिस्टम पूरे वर्ष पुरानी खांसी का कारण बन सकता है। यह ठीक होने की प्रक्रिया को धीमा कर देता है। सामान्य मामलों में, प्रतिरक्षा प्रणाली एंटीबॉडी का उत्पादन करने के लिए काम करती है। ताकि वे 2-4 दिनों के भीतर अवांछित कीटाणुओं से लड़ सके।

बार-बार होने वाला सर्दी-जुकाम कमजोर इम्‍युनिटी का संकेत है। चित्र: शटरस्‍टॉक
बार-बार होने वाला सर्दी-जुकाम कमजोर इम्‍युनिटी का संकेत है। चित्र: शटरस्‍टॉक

4. थकान

धीमी प्रतिरक्षा प्रणाली आपको पूरे दिन सुस्त महसूस करवाती है, भले ही आप रात में पर्याप्त नींद लें। यह शरीर में थकावट पैदा करती है।

5. घाव ठीक होने में देरी

कमजोर इम्युनिटी जल्दी से नई त्वचा उत्पन्न नहीं कर सकती। जिसके परिणामस्वरूप घाव भरने में बहुत समय लग जाता है। सिर्फ स्वस्थ प्रतिरक्षा कोशिकाएं ही त्वचा को किसी भी क्षति से गुजरने पर नई त्वचा को पुन: उत्पन्न करने में मदद करती हैं।

6. जोड़ों का दर्द

कमजोर प्रतिरक्षा का अर्थ है पैर में बार-बार होना। यदि आपकी प्रतिरक्षा प्रणाली लंबे समय तक धीमी है, तो आप vasculitis का अनुभव करेंगे, जो ऑटोइम्यून विकार या संक्रमण के कारण रक्त वाहिकाओं में सूजन पैदा करता है। आपके जोड़ों के अंदरूनी अस्तर में सूजन के कारण, आप अक्सर जोड़ों के दर्द से जूझते रहेंगे।

7. पाचन संबंधी समस्याएं

चिकित्सा विज्ञान के अनुसार, प्रतिरक्षा प्रणाली का लगभग 70-75% पाचन तंत्र में मौजूद है। इसलिए कमजोर प्रतिरक्षा प्रणाली कब्ज, अम्लता, गैस, दस्त आदि का कारण बनती है।

कमजोर इम्‍युनिटी पाचन तंत्र को भी प्रभावित करती है। चित्र : शटरस्टॉक
कमजोर इम्‍युनिटी पाचन तंत्र को भी प्रभावित करती है। चित्र : शटरस्टॉक

अंत में याद रखें…

कुछ नई आदतें और जीवनशैली में बदलाव स्वाभाविक रूप से मजबूत प्रतिरक्षा को बनाए रख सकते हैं। हर दिन संतुलित पौष्टिक आहार खाना, रोजाना व्यायाम करना, स्वस्थ वजन बनाए रखना, पर्याप्त नींद लेना, तनाव का स्तर कम करना, धूम्रपान छोड़ना आदि।

हमें कमजोर प्रतिरक्षा प्रणाली के शुरुआती लक्षणों पर ध्यान देना चाहिए, क्योंकि यह कुछ गंभीर स्वास्थ्य समस्याओं का संकेत देता है। डॉक्टरों से नियमित चेकअप, विटामिन-C, जिंक आदि जैसे महत्वपूर्ण खनिज लेने से प्रतिरक्षा को बनाए रखने और बढ़ाने में मदद मिलती है।

यह भी पढ़ें – लेमन टी है बसंत ऋतु में शाम का एक बेहतरीन पेय, आपको जानने चाहिए इसके 5 स्‍वास्‍थ्‍य लाभ

टीम हेल्‍थ शॉट्स टीम हेल्‍थ शॉट्स

ये हेल्‍थ शॉट्स के विविध लेखकों का समूह हैं, जो आपकी सेहत, सौंदर्य और तंदुरुस्ती के लिए हर बार कुछ खास लेकर आते हैं।