Follow Us on WhatsApp

पोलन सीजन में ज्यादा परेशान कर सकता है साइनस, ये 7 घरेलू उपचार करेंगे इससे आपका बचाव

साइनोसाइटिस यानी कि साइनस की स्थिति में सिरदर्द, नाक के रास्ते में ब्लॉकेज, गले की खराश, थकान और कफ का अनुभव होता हैं। ऐसे कई घरेलू उपाय हैं जो साइनस के लक्षण से राहत पाने में आपकी मदद करेंगे।

kya hai sinus
जानिए क्या है साइनस और इसका प्रभाव। चित्र : शटरस्टॉक
अंजलि कुमारी Published: 26 Feb 2023, 14:00 pm IST
  • 120

साइनोसाइटिस की समस्या तब होती है जब साइनस की टिशु लाइनिंग में सूजन आ जाती है। इसका कारण अलग अलग प्रकार के इंफेक्शन फैलाने वाले बैक्टीरिया, वायरस और फंगस हो सकते हैं। साइनस हमारे स्कल में फोरहेड, नसल बोन, गाल और आंखों के पास मौजूद होता है। साइनोसाइटिस की स्थिति में इन जगहों पर म्यूकस जम जाता है, जिसके कारण हवा आसानी से पास नहीं हो पाती। सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल एंड प्रीवेंशन द्वारा प्रकाशित एक डेटा के अनुसार साइनोसाइटिस की स्थिति में लोग सिरदर्द, नाक के रास्ते में ब्लॉकेज, गले की खराश, थकान और कफ का अनुभव करते हैं।

यह समस्या किसी को भी हो सकती है। हालांकि, ऐसे में बच्चे ज्यादा विचलित हो जाते हैं। वहीं समय के साथ यह समस्या बढ़ सकती है। ऐसे में यह जरूरी है कि इसके प्रति समय रहते ध्यान देना शुरू कर दिया जाए। इसमें हम आपकी मदद कर सकते हैं। आज हम जानेंगे ऐसे ही कुछ प्रभावी घरेलू उपचार (home remedies for sinus) जो इस स्थिति से निपटने में आपकी मदद करेगा।

यह भी पढ़ें : लौट आया है सहजन का मौसम, डायबिटीज और हाई बीपी से बचने के लिए ट्राई करें सहजन सूप की ये हेल्दी रेसिपी

साइनस से राहत पाने में मदद करेंगे ये 5 घरेलू उपाय

1. हाइड्रेटेड रहें (stay hydrated)

पर्याप्त मात्रा में पानी पीने से शरीर हाइड्रेटेड और ह्यूमिडिफाई रहता है। ऐसे में म्यूकस पतला और साइनस लुब्रिकेट हो जाता है। वहीं हर्बल टी, काढ़ा, इत्यादि जैसे हेल्दी पदार्थों को पीने से शरीर हाइड्रेटेड रहता है और ये साइनस की समस्या में फायदेमंद होते हैं।

bhaap lene ke fayde
आपके स्वास्थ्य के लिए भाप लेने के फायदे। चित्र : शटरस्टॉक

2. स्टीम (steam)

स्टीम म्यूकस को पतला कर देता है और इसे बाहर निकालता है। जिस वजह से कंजेशन से राहत मिलती है। ऐसे में साइनस के दर्द से आराम पाने के लिए एक बाउल में गर्म पानी लें और तौलिए से मुंह ढक कर खुद को स्टीम ट्रीटमेंट दें। आप भाप लेते वक्त पानी में मेंथॉल, कपूर, पुदीने का तेल और अन्य एसेंशियल ऑयल को मिला सकती हैं।

3. चिकन सूप (chicken soup)

नेशनल लाइब्रेरी ऑफ़ मेडिसिन द्वारा की गई एक पुरानी स्टडी में देखा गया कि चिकन सूप का सेवन साइनस की स्थिति में कंजेशन और ठंड के कारण होने वाले इन्फ्लेमेशन को कम करने में मदद करता है।

4. वार्म ओर कोल्ड कंप्रेस (warm and cold compress)

वार्म और कोल्ड कंप्रेस की मदद से साइनस को ठीक किया जा सकता है। सबसे पहले गर्म पोटली से अपने नाक, गाल और फोरहेड की सिकाई करें। फिर 30 सेकंड बाद गर्म पोटली को ठंडी पोटली से बदल दें और ठीक उसी तरह सिकाई करें। ऐसा कम से कम 2 से 3 बार दोहराएं। उचित परिणाम के लिए दिन में तीन से चार बार सिकाई करना जरूरी है।

अपनी रुचि के विषय चुनें और फ़ीड कस्टमाइज़ करें

कस्टमाइज़ करें

यह भी पढ़ें : दांत दर्द ही नहीं सिगरेट और मीठे की लत से भी छुटकारा दिला सकती है लौंग, जानिए इस्तेमाल का तरीका

fal khaane ke fayde
फल खाने से मिलेंगे फायदे। चित्र : शटरस्टॉक

5. ज्यादा से ज्यादा फल और सब्जियों का सेवन करें (eat fruit and vegetables)

फल और सब्जियों में भरपूर मात्रा में एंटीऑक्सीडेंट्स (quercetin) मौजूद होते हैं। वहीं यह एंटीऑक्सीडेंट आमतौर पर प्याज, सेव, ग्रीन टी और रेड वाइन में पाया जाता है। ऐसे में इन खाद्य पदार्थों का सेवन शरीर में हिस्टामाइन रिलीज करने वाले सेल को स्थिर रखते हैं। हिस्टामाइन एक प्रकार का केमिकल है, जो साइनस के दौरान म्यूकस को बाहर निकालने में मदद करता है।

6. डेयरी प्रोडक्ट से दूरी बनाए रखें (stay away from dairy products)

डेयरी प्रोडक्ट में मौजूद प्रोटीन एनर्जी को ट्रिगर कर देता है। जिसके कारण म्यूकस प्रोडक्शन बढ़ जाता है। ऐसे में दूध, दही जैसे डेयरी प्रोडक्ट की जगह काजू, बादाम, हेम्प और ओट्स मिल्क का सेवन करें।

7. सोते वक्त सिर को ऊपर की ओर रखें (Raising the head during sleep)

सोते वक्त अपने सिर को ऊपर की ओर रखें। ऐसे में यह साइनस ब्लॉकेज को क्लियर करता है। इसके लिए आप अपने सिर के नीचे एक से ज्यादा तकिया लगाकर सिर को ऊपर उठा सकती हैं।

यह भी पढ़ें : जंक फूड के साथ खा रही हैं मेयानीज़, तो इसके साइड इफैक्ट भी जान लें

  • 120
लेखक के बारे में
अंजलि कुमारी अंजलि कुमारी

इंद्रप्रस्थ यूनिवर्सिटी से जर्नलिज़्म ग्रेजुएट अंजलि फूड, ब्यूटी, हेल्थ और वेलनेस पर लगातार लिख रहीं हैं। ...और पढ़ें

पीरियड ट्रैकर

अपनी माहवारी को ट्रैक करें हेल्थशॉट्स, पीरियड ट्रैकर
के साथ।

ट्रैक करें
अगला लेख