बार-बार प्यास लगना है इन 5 बीमारियों का संकेत, तत्काल ध्यान देना है जरूरी

यदि आपको भी बार बार प्यास लगती है तो फौरन सचेत हो जाएं, क्योंकि इस स्थिति के पीछे कई स्वास्थ्य समस्याएं जिम्मेदार हो सकती हैं।
zyada pyaas lagne ke karan
हर समय प्यास लगने का कारण. चित्र : शटरस्टॉक
अंजलि कुमारी Published: 13 Aug 2023, 05:00 pm IST
  • 157

कई बार ऐसा होता है आप चाहे कितना भी पानी पी लें प्यास नहीं बुझती। पूरे दिन पानी पीने की क्रेविंग्स होती रहती है और बार-बार प्यास महसूस होता रहता है। यदि आपके साथ भी ऐसा होता है तो फौरन सचेत हो जाएं, क्योंकि इस स्थिति के पीछे कई स्वास्थ्य समस्याएं जिम्मेदार हो सकती हैं। पूरे दिन प्यासे रहने जैसे लक्षण नजर आने पर अपनी शारीरिक स्थिति को समझते का प्रयास करें और डॉक्टर से मिलकर उचित सलाह लें।

हेल्थ शॉट्स ने इस विषय पर मैक्स हॉस्पिटल गुड़गांव इंटरनल मेडिसिन के सीनियर कंसलटेंट डॉ रजनीश श्रीवास्तव से बात की। उन्होंने बार-बार प्यास लगने के पीछे इन पांच स्वास्थ्य साथियों को जिम्मेदार ठहराया है। तो चलिए जानते हैं इन स्वास्थ्य स्थितियों के बारे में आखिर इनमें क्यों होती है बार-बार पानी पीने की क्रेविंग्स (5 reasons why you feel thirsty all the time.)।

जानें इसपर क्या कहते हैं एक्सपर्ट

डॉ रजनीश श्रीवास्तव के अनुसार “प्यास आपके बॉडी में मौजूद फ्लूइड के स्तर पर निर्भर करता है। जब भी पानी का स्तर गिरता है, तो हमारा शरीर प्यास की अनुभूति पैदा करने वाले तंत्र को सक्रिय कर देता है। गर्म और आर्द्र जलवायु में, हमारे शरीर से बहुत सारा पानी निकल जाता है, जिससे प्यास लगने लगती है। इसके अलावा डायरिया, डायबिटीज जैसी कई अन्य स्वास्थ्य स्थितियां हैं जिसमें हमारे शरीर में पानी की कमी हो जाती है, और बार-बार प्यार की अनुभूति होती है।”

low sugar wala carbonated drink piyen
बार बार प्यास लग रही है तो इसपर ध्यान देना जरुरी है। चित्र : अडोबी स्टॉक

हालांकि, इस लक्षण को भूलकर भी नजरअंदाज न करें, फौरन अपनी स्थिति की जांच करवाएं। वहीं इन सभी स्वास्थ्य स्थितियों में हाइड्रेशन बनाए रखने के लिए नियमित रूप से पर्याप्त मात्रा में पानी पिएं साथ ही हाइड्रेटिंग फल और सब्जियों का सेवन भी कर सकती हैं।

यहां जानें किन स्वास्थ्य स्थितियों में लगती है ज्यादा प्यास

1. डायबिटीज (diabetes)

जब शरीर में मौजूद सेल्स इन्सुलिन रेजिस्टेंस हो जाते हैं, तब आपकी किडनी को ब्लड से एक्सेस शुगर रिमूव करने के लिए अधिक प्रभावी रूप से कार्य करना पड़ता है, जिसकी वजह से बार-बार यूरिन पास करने की स्थिति बनती है और शरीर में मौजूद फ्लूइड बाहर निकल जाते हैं। परिमाण स्वरूप आपको अधिक फ्लूइड इंटेक की आवश्यकता हो सकती है। यदि आपको बार-बार यूरिन पास करने जाना पड़ रहा है, या आप अधिक प्यास महसूस कर रही हैं तो यह दोनों लक्षण डायबिटीज के हो सकते हैं।

2. ड्राई माउथ

जब आपका मूड ड्राई होता है तो आपको अधिक प्यास लगती है। आमतौर पर ऐसी स्थिति में माउथ ग्लैंड बहुत कम मात्रा में सलाइवा का उत्पादन करते हैं, जिसकी वजह से बार-बार मुंह सूखने की समस्या होती है। ड्राई माउथ की स्थिति कुछ दवाइयों के सेवन और कैंसर ट्रीटमेंट के साथ ही गले और ब्रेन के नर्व डैमेज होने के कारण या अधिक मात्रा में तंबाकू का सेवन करने से हो सकती है।

यह भी पढ़ें : World Organ Donation Day : अगर आप भी ऑर्गन डोनेट कर किसी का जीवन बचाना चाहती हैं, तो जानिए क्या है इसकी प्रक्रिया

3. एनीमिया

एनीमिया की स्थिति में आपके शरीर में पर्याप्त मात्रा में हिमोग्लोबिन यानी कि हेल्दी रेड ब्लड सेल्स नहीं बनते हैं। कुछ लोग जन्म से ही इस समस्या से पीड़ित होते हैं और कुछ बढ़ती उम्र के साथ इसके शिकार हो जाते हैं। वहीं कई स्वास्थ्य स्थितियां जैसे कि डायबिटीज, गलत खान-पान, हैवी ब्लीडिंग आदि एनीमिया का कारण बन सकती हैं। एनीमिया के शुरुआत और मध्य में आपको प्यास नहीं लगता परंतु जैसे-जैसे परेशानी बढ़ती जाती है, वैसे वैसे आपको अधिक प्यास महसूस होता है और आपको बार-बार पानी पीने की क्रेविंग होती है।

pani apke samagra swasthye ke liye bahut zaruri hai
पानी हमारे सभी शारीरिक अंगों को सुचारू रूप से चलाने में मदद करता है। चित्र : शटर स्टॉक

4. हाइपरकैल्सीमिया

जब आपके खून में आवश्यकता से अधिक कैल्शियम की मात्रा मौजूद होती है, तो उस स्थिति को हम हाइपरकैल्सीमिया के नाम से जानते हैं। इस स्थिति के लिए ओवर एक्टिव पाराथायराइड ग्लैंड, ट्यूबरक्लोसिस, कुछ प्रकार के कैंसर जैसे कि लंग्स, ब्रेस्ट, किडनी आदि जिम्मेदार होते हैं। यदि आपको बार-बार प्यास लग रहा है या पानी पीने की क्रेविंग्स हो रही है तो हो सकता है आप हाइपरकैल्सीमिया की शिकार हो चुकी हैं।

5. डिहाइड्रेशन

प्यास महसूस होने और बार-बार पानी की क्रेविंग सोने का एक सबसे बड़ा कारण डिहाइड्रेशन है। डिहाइड्रेशन में आपके शरीर में पानी की कमी हो जाती है। इस स्थिति में आपको तमाम लक्षण नजर आते हैं, जैसे की ड्राई माउथ, ड्राई स्किन, थकान, सिर दर्द और गहरे रंग का यूरिन आदि। डिहाइड्रेशन के लिए पर्याप्त मात्रा में पानी न पीना, अधिक एक्सरसाइज, डायरिया, वोमिटिंग और अधिक पसीना आने जैसी जैसी स्थितियां जिम्मेदार होती हैं।

अपनी रुचि के विषय चुनें और फ़ीड कस्टमाइज़ करें

कस्टमाइज़ करें

नोट : यदि आपको भी बार-बार प्यास लग रही है या पानी पीने की क्रेविंग हो रही है, तो बताई गई समस्याओं के लक्षण जांचे और समझें कि आप किस समस्या से ग्रसित हैं। वहीं फौरन डॉक्टर से मिलकर अपनी स्थिति की जांच करवाएं।

यह भी पढ़ें : मेरी ज्यादातर फ्रेंड्स पिंपल पर आइस क्यूब लगाती हैं, क्या यह वाकई काम करता है? आइए एक्सपर्ट से जानते हैं इसका जवाब

  • 157
लेखक के बारे में

इंद्रप्रस्थ यूनिवर्सिटी से जर्नलिज़्म ग्रेजुएट अंजलि फूड, ब्यूटी, हेल्थ और वेलनेस पर लगातार लिख रहीं हैं। ...और पढ़ें

अगला लेख