क्या साल भर फूला रहा आपका पेट? तो साल के अंत में जानिए वे 5 कॉमन कारण जो ब्लॉटिंग देते हैं

सर्दी के मौसम में पेट की समस्या बढ़ जाती है और थोड़ा सा खाने के बाद ही गैस बनने लगती है। क्या आपको भी सर्दियों के मौसम में अक्सर भारीपन या पेट का फूलना महसूस होता है? यदि हां... तो आप भी ब्लोटिंग की शिकार हैं।
इन कारणों से हो सकता है बलोटींग। चित्र:शटरस्टॉक
ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ Published on: 16 December 2021, 17:59 pm IST
ऐप खोलें

ब्लोटिंग पेट की सूजन है, जो खाने के बाद महसूस होती है। यह आमतौर पर अतिरिक्त गैस बनने के कारण होता है। असुविधा पैदा करने के अलावा, सूजन कभी-कभी दर्दनाक हो सकती है और भारीपन का कारण बन सकती है। इससे आपका पेट फूला हुआ लग सकता है। 

तो आखिर ब्लोटिंग क्यों होती है और इससे बचने के तरीके क्या हैं? आपकी जानकारी के लिए बता दें कि ब्लोटिंग के कारण और बचाव एक ही हैं, तो चलिये जानते हैं इनके बारे में – 

1. आहार में फाइबर की कमी

यदि आपको ब्लोटेड महसूस हो रहा है, तो हो सकता है कि आपके आहार में फाइबर की कमी है। आहार में फाइबर की कमी से कब्ज की समस्या बढ़ती है। जिसकी वजह से अन्य पाचन संबंधी समस्याएं भी हो सकती हैं। अपने फाइबर सेवन को बढ़ाने से कब्ज से राहत मिल सकती है। 

खाने के बाद आपको अपने पेट का अधिक ख्याल रखने की जरूरत है। चित्र-शटरस्टॉक।

तो आने वाले साल में ही नहीं, बल्कि अभी से अपने आहार में अधिक फाइबर युक्त खाद्य पदार्थ जैसे सेब, रास्पबेरी, गाजर, ब्रोकोली या साबुत अनाज शामिल करने का प्रयास करें।

2. प्रोबायोटिक्स की कमी 

पाचन तंत्र को सुचारु रूप से चलाने के लिए प्रोबायोटिक्स बहुत ज़रूरी हैं। ये अच्छे बैक्टीरिया होते हैं, जो गट हेल्थ के लिए फायदेमंद साबित हो सकते हैं। इनकी कमी से पेट फूला हुआ महसूस हो सकता है। इसलिए प्रोबायोटिक युक्त दही के साथ अपने गट के अच्छे बैक्टीरिया के स्तर को बढ़ाएं।

3. डिहाइड्रेशन और नींद की कमी 

पर्याप्त पानी न पीने से भी ब्लोटिंग हो सकती है। साथ ही इससे माल त्याग में भी दिक्कत का सामना करना पड़ सकता है। नियमित स्लीपिंग पैटर्न से आपके मूड, याद्दाश्त और पेट के स्वास्थ्य में सुधार हो सकता है। अनियमित स्लीपिंग पैटर्न से गट हेल्थ प्रभावित हो सकती है। इसलिए दिन में कम से कम 8 घंटे की नींद लें और पर्याप्त पानी पिएं।

4. शारीरिक गतिविधि की कमी 

साल 2021 भी बहुत सारी पाबंदियों वाला साल रहा। इसी साल हमने कोविड-19 की दूसरी लहर का सामना किया। इससे काफी हद तक जीवनशैली निष्क्रिय रही। शारीरिक गतिविधि की कमी ब्लोटिंग का कारण बन सकती है। 

गलत खाना भी है बलोटींग का कारण। चित्र: शटरस्‍टॉक

जबकि नियमित एक्सरसाइज़ आपके पाचन तंत्र को दुरुस्त रखती है। गतिहीन जीवनशैली इस बात को भी प्रभावित कर सकती है कि आपका शरीर गैस को कितनी अच्छी तरह से बाहर निकालता है। ताकि आपको अधिक आरामदायक महसूस करने में मदद मिल सके। इसलिए हर रोज़ कम से कम आधे घंटे व्यायाम ज़रूर करें। 

5. ज़्यादा नमक का सेवन करना 

सिर्फ हाई ब्लड प्रेशर ही नहीं, ज्यादा नमक का सेवन ब्लोटिंग का भी कारण बन सकता है। कई अध्ययनों के अनुसार, जब लोग आहार में ज़्यादा नमक लेते हैं, तो उन्हें गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल ब्लोटिंग हो सकती है।

यह भी पढ़ें: डियर लेडीज, आप में थोड़े अलग हो सकते हैं हार्ट अटैक के लक्षण, जानिए ऐसे 8 लक्षण

लेखक के बारे में
ऐश्‍वर्या कुलश्रेष्‍ठ

प्रकृति में गंभीर और ख्‍यालों में आज़ाद। किताबें पढ़ने और कविता लिखने की शौकीन हूं और जीवन के प्रति सकारात्‍मक दृष्टिकोण रखती हूं।

पीरियड ट्रैकर

अपनी माहवारी को ट्रैक करें हेल्थशॉट्स, पीरियड ट्रैकर
के साथ।

ट्रैक करें
Next Story